श्रीलंका में हिंसक झड़प तेज: सरकार समर्थक-विरोधियों की हिंसा में सांसद सहित 4 की मौत, पूर्व मंत्री का घर आग के हवाले

 

sri lanka crisis
(REUTERS Photo)

श्रीलंका (Shrilanka) के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे (Mahinda Rajapaksa) ने इस्तीफा दे दिया है। आर्थिक संकट के चलते (sri lanka crisis) देश में लगातार हो रही हिंसक झड़पों के बीच राजपक्षे ने ये फैसला लिया है। आजादी के बाद से श्रीलंका अपने सबसे भीषण आर्थिक संकट से गुजर रहा है और लगभग दिवालिया होने के दोराहे पर है।

श्रीलंका के स्वास्थ्य मंत्री प्रो चन्ना जयसुमना ने भी राष्ट्रपति को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। अब तक राजपक्षे बंधुओं (राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे और प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे) ने इस्तीफे के लिए अपने निर्णय को टाल दिया था। इससे देश में अशांति और सरकार के खिलाफ विरोध तेज हो गया था।

Effective immediately I have tendered my resignation as Prime Minister to the President.

අගමැති ධූරයෙන් ඉල්ලා අස්වීමේ ලිපිය ජනාධිපතිතුමා වෙත යොමු කළෙමි.

— Mahinda Rajapaksa (@PresRajapaksa) May 9, 2022

सत्ताधारी पार्टी के सांसद की मौत

इधर श्रीलंकाई मीडिया के मुताबिक, सांसद अमरकीर्ति अथुकोरला अपनी कार में गनर और ड्राइवर के साथ निट्टंबुवा में एक सड़क से गुजर रहे थे। उनकी कार पर लाल बत्ती लगी थी। इसी सड़क पर सैकड़ों सरकार विरोधी प्रदर्शनकारी मौजूद थे। इन लोगों ने सांसद की गाड़ी को घेर लिया और नारेबाजी करने लगे। इसके बाद सांसद ने गुस्से में आकर भीड़ पर अपनी पिस्टल से फायरिंग कर दी। 

इसमें दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। इसके बाद सांसद वहां से भाग गए और पास की एक इमारत में छिप गए। कुछ देर बाद उसका शव वहां से बरामद किया गया। अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि भीड़ के हमले में सांसद की मौत हुई या मौत की वजह कुछ और है। कुछ रिपोर्टों में कहा जा रहा है कि भीड़ द्वारा मारे जाने से बचने के लिए सांसद ने खुद को पिस्तौल से गोली मारकर आत्महत्या कर ली।

कोलंबो में सेना के जवान तैनात

महिंदा राजपक्षे की ओर से प्रधानमंत्री पद छोड़ने की पेशकश की खबरों के बाद सोमवार को राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे के कार्यालय के बाहर हिंसक झड़पें हुईं। सरकार समर्थक समूहों ने प्रदर्शनकारियों पर हमला किया, जिसमें 20 से अधिक लोग घायल हो गए। इसके बाद सरकार ने देशव्यापी कर्फ्यू लगा दिया और राजधानी में सेना के जवानों को तैनात कर दिया।

महिंदा राजपक्षे ने नागरिकों से ट्विटर पर संयम बरतने का आग्रह किया है। उन्होंने ट्वीट किया, “मैं अपनी आम जनता से संयम बरतने और ये याद दिलाने का आग्रह करता हूं कि हिंसा सिर्फ हिंसा को जन्म देती है। हम जिस आर्थिक संकट में हैं, उसे हल करने के लिए एक आर्थिक समाधान की जरूरत है, इसके लिए आपका प्रशासन प्रतिबद्ध है।”

Sanath Nishantha Your Ass is on Fire broh! 🔥#lka #SriLanka #Chilaw pic.twitter.com/MKROXVSUwJ

— Damisha  (@Thedmdvbd) May 9, 2022

अब आगे हालात क्या हैं

पिछले हफ्ते प्रमुख विपक्षी नेता सिरिसेना ने राष्ट्रपति से मुलाकात की थी। तय हुआ कि प्रधानमंत्री महिंदा इस्तीफा देंगे। इसके बाद अंतरिम सरकार बनेगी। हालांकि अंतरिम सरकार बनने से पहले देश में शांति बहाल करनी होगी। 

राजपक्षे परिवार का अभी भी सरकार में रसूख है, लेकिन वे विपक्ष को साथ लेकर उसे भी विफलताओं का हिस्सा बनाना चाह रहे हैं।  इसलिए जल्द ही अंतरिम सरकार का गठन किया जाना माना जा रहा है। विपक्ष भी जानता है कि यदि देश को बचाना है तो इस समय सरकार और खासकर राष्ट्रपति गोटबाया को इसका समर्थन करना होगा।

Buses that brought in pro-government supporters to Colombo being attacked as they leave the city. pic.twitter.com/XRXyfjy29v #LKA #SriLankaCrisis #SriLanka via @AmanthaP

— Sri Lanka Tweet 🇱🇰 💉 (@SriLankaTweet) May 9, 2022

श्रीलंका के कई हिस्सों में हिंसक झड़पें

श्रीलंका के कई हिस्सों में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक झड़प की खबरें आई हैं। महिंदा के इस्तीफे से और भी बड़ा खतरा पैदा हो गया है। बता दें कि उनके बड़े भाई और राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे नहीं चाहते थे कि महिंदा इस्तीफा दें, 

लेकिन उन्हें मजबूरीवश विपक्ष की मांग के आगे झुकना पड़ा। इसके बाद ही उन्होंने अपने समर्थकों को सड़कों पर उतार दिया। अब देश के कई हिस्सों में राजपक्षे बंधुओं के विरोधियों और समर्थकों के बीच झड़प शुरू हो गई हैं।

Sri Lanka Crisis | Sri Lankan Prime Minister Mahinda Rajapaksa | Sri Lanka Crisis Live Updates | President Gotabaya Rajapaks | 

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *