दुष्कर्म केस में मंत्री महेश जोशी के बेटे की गिरफ्तारी की तैयारी: दिल्ली पुलिस ही करेगी जांच, राजस्थान पुलिस ​का दखल नहीं, राष्ट्रीय स्तर पर गर्माया मुद्दा

                              rohit-joshi-mahesh-joshi-1

राजस्थान के जलापूर्ति मंत्री महेश जोशी (Mahesh Joshi)  के बेटे रोहित जोशी (Rohit Joshi accused of Rape) की मुश्किलें बढ़ गई हैं। दिल्ली पुलिस अब रोहित के खिलाफ रेप केस की जांच करेगी। रोहित के खिलाफ दिल्ली के सदर बाजार थाने में सोमवार को रेप का मामला दर्ज किया गया है। मामले की जांच महिला पुलिस अधिकारी को सौंप दी गई है।

इससे पहले रविवार को सदर बाजार थाने में जीरो एफआईआर दर्ज करने के बाद मामले को सवाई माधोपुर महिला थाने भेजने का निर्णय लिया गया था, लेकिन आज पूरे मामले ने नया मोड़ ले लिया है। (Delhi police will investigate) अब दिल्ली पुलिस ने खुद मामले की जांच शुरू कर दी है।

दिल्ली पुलिस के सूत्रों के मुताबिक आज पीड़िता का बयान धारा 164 के तहत मजिस्ट्रेट के सामने दर्ज किया गया है। रोहित जोशी के खिलाफ रेप, अप्राकृतिक सेक्स, ब्लैकमेलिंग, मारपीट समेत गंभीर आरोपों की सात धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। प्राथमिकी संख्या 338, 376, 377, 366, 312, 506, 509 में सदर बाजार थाने में मामला दर्ज किया गया है।

मंत्री के बेटे रोहित की कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी

धारा 164 के तहत लड़की के बयान दर्ज होने के बाद अब दिल्ली पुलिस रोहित जोशी को गिरफ्तार करने जयपुर कभी भी आ सकती है। लड़की का दिल्ली के हिंदूराव अस्पताल में पहले ही मेडिकल कराया जा चुका है। मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद ही दिल्ली पुलिस ने पहले जीरो एफआईआर दर्ज कर उसे सवाई माधोपुर भेजने की प्रक्रिया शुरू की थी, लेकिन आज वहां मामला दर्ज कर लिया गया।

दिल्ली पुलिस केंद्र के अधीन, नहीं काम आएगा रसूख

दिल्ली पुलिस केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधीन है। केंद्र में बीजेपी की सरकार है इसलिए इस मामले में मौजूदा राजनीतिक हालात को देखें तो मामले कमजोर बनाने में मंत्री महेश जोशी और कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं का कोई असर काम नहीं आएगा। वजह ये कि पीड़िता ने दिल्ली पुलिस को दी शिकायत में मंत्री महेश जोशी पर अपने प्रभाव के कारण राजस्थान में निष्पक्ष जांच पर संदेह व्य​क्त किया था, इसमें पीड़िता ने अपनी जान को खतरा बताया था। ऐसे में अब इस मामले की जांच में राजस्थान पुलिस का कोई हस्तक्षेप नहीं होगा।

राष्ट्रीय स्तर पर गरमा गरमाया मुद्दा

दिल्ली पुलिस में मामला दर्ज होने से अब यह मुद्दा राष्ट्रीय स्तर पर गरमा गया है। राजस्थान में कांग्रेस की सरकार है और यदि मंत्री के बेटे को रेप के मामले में गिरफ्तार किया जाता है तो बीजेपी को कांग्रेस को घेरने के लिए एक बड़ा मुद्दा मिल जाएगा। उदयपुर में कांग्रेस के चिंतन शिविर से पहले ही मंत्री के बेटे पर केस को लेकर कांग्रेस पार्टी की किरकिरी होगी।

कुल मिलाकर फिलहाल इस इश्यू ने राजस्थान सरकार और कांग्रेस के लिए संकट की स्थिति तो जरूर बन गई है। वजह ये कि कांग्रेस के चिंतन शिविर से पहले इस तरह का मामला सामने आने से कांग्रेस पार्टी के नेताओं को अपनी इमेज धूमिल होने की चिंता सता रही है। 

राष्ट्रीय स्तर पर गर्माया मुद्दा 

राजस्थान कांग्रेस सरकार में कैबिनेट मंत्री महेश जोशी के बेटे रोहित जोशी से जुड़े रेप और ब्लैकमेलिंग मामले में बीजेपी ने अब कांग्रेस पर निशाना साधा है। राज्य महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष और भाजपा नेता सुमन शर्मा ने इस घटना को भंवरी रिटर्न्स बताते हुए ट्वीट किया। 

साथ ही खबर की कटिंग शेयर करते हुए रोहित जोशी की फोटो के साथ लिखा है- आप क्या कहेंगे- राजस्थान पुरुषों का राज्य है। राजस्थान विधानसभा में विपक्ष के नेता गुलाबचंद कटारिया और बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने भी इस मामले में कांग्रेस पर हमला बोला है।

नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा है कि जिस तरह से कांग्रेसी और उनके परिवार के सदस्य लंबे समय से अपराध में लिप्त हो रहे हैं और सरकार उन्हें बचाने की कोशिश कर रही है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है। अपराध किसी की तरफ से हो सकता है। मेरे परिवार में भी हो सकता है‚ लेकिन अगर मैं अपराधी को बचाने का काम करता हूं, तो मैं और अधिक अपराध को प्रोत्साहित करता हूं।

sehzad poonawala tweet

बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने कहा कि राजस्थान में एक बार फिर हैरान कर देने वाला और चौंकाने वाला रेप का मामला सामने आया है। जिसमें राजस्थान सरकार के मंत्री महेश जोशी के बेटे पर 23 साल की महिला से रेप का आरोप है। उसे धमकाया और अश्लील वीडियो बनाया। यह पहली बार नहीं है जब कांग्रेस नेताओं की संतानें दुष्कर्म जैसे मामलों में संलिप्त पाई गई हों। 

Jaipur | Ashok Gehlot government minister | Mahesh Joshi son | Rohit Joshi | Rohit Joshi accused of Rape | Delhi police will investigate | 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *