वीर्य में क्या पोषक तत्व होते हैं? निगल लिया जाए तो क्या होगा? जानिए उन सवालों के जवाब जिनसे आप शर्माते हैं?

Preventing problems from Swallowing semen?
Representative Image | Credit | Getty Images

वीर्य या सीमेन मेल रिप्रोडक्टिव ऑर्गन मतलब कि पुरुष प्रजनन अंगों की ओर से बना एक काॅम्प्लेक्स या जटिल पदार्थ होता है। यह फ्लुइड ज्यादातर पानी, प्लाज्मा और म्यूकस जोकि एक चिकनाई युक्त पदार्थ से मिलकर बना होता है। इसमें लगभग 5 से 25 कैलरी भी होती है। यानिकि ये कम मात्रा में जरूरी पोषक तत्वों से मिलकर बना होता है। जैसे-

क्या-क्या होता है इसमें-

कैल्शियम

सिट्रेट

फ्रुक्टोज

ग्लूकोज

लैक्टिक एसिड

मैग्नीशियम पोटैशियम

प्रोटीन 

जिंक

यदि आप एक महिला या गे हैं और किसी पुरुष के साथ मुख संबंध बनाते  हैं, तो आप कितना भी थूक लें और कुल्ला यानि गार्गल कर लें‚ लेकिन थोड़ा बहुत सीमेन तो आपके मुंह में चला ही जाता है। 

वहीं हमनें भले ही  जिक्र किया हो कि इसमें कई तरह के न्यूट्रिएंटस कम मात्रा में ही सही लेकिन पाए जरूर जाते हैं‚ इसका मतलब ये कतई नहीं है‚ कि ये कोई खाने की चीज है! और इसका सेवन किया जा सकता है। 

असल में  इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्व आपकी डेली डाइट का हिस्सा होते जरूर हैं,  इसका मतल ये बिल्कुल भी नहीं हें कि पैनिस के इस इजैक्युलेशन को आप निगल सकती हैं या खा सकती हैं। 

असल में एक इजैक्युलेशन (ejeculaton) में प्रोडयूस वीर्य  की ये थोड़ी मात्रा भी पोषण का सोर्स नहीं  हो सकती और इसके सेवन से बचना चाहिए। साथ ही इसे लेने से आपको याैन संक्रमण होने का खतरा ज्यादा होता है।

तो वीर्य यानी सीमेन में ये पोषक तत्व क्यों होते हैं? Why semen contain Nutrients?

ऐसा इसिलए क्योंकि वीर्य यानी सीमेन में न्यूट्रिएंटस के इतर शुक्राणु यानी स्पर्म भी होते हैं और स्पर्म वो सेल हैं जो बच्चा पैदा करने के लिए फीमेल एग्स को फर्टिलाइज करने का काम करता है। 

क्या आप जानती हैं एक मेल इजैक्युलेशन में 200,000,00 से 300,000,000 यानि दाे से तीन करोड़ तक स्पर्म काउंट हो सकते है। 

तो असल में बात यूं है कि मेल सीमेन में मौजूद शुक्राणुओं को सर्वाइवल के लिए पोषक तत्वों की जरूरत होती है।  नहीं समझे? दरअसल सीमेन में मौजूद शुक्राणओं को इजैक्युलेशन (ejeculaton) के बाद फीमेल एग को फर्टिलाइज यानि प्रस्फुटित करने के लिए काफी दूरी तय करनी पड़ती है, 

जैसे कि वेजाइना के हार्ष एन्वायरन्मेंट का सामना करना पड़ता है। तो ऐसे समय में  वीर्य में उपस्थित पोषक तत्व  शुक्राणु यानी स्पर्म काउंट को जिंदा रखने और अंडे तक पहुंचाने के लिए उर्जा देने का काम करते हैं।  इनका मुख्या उर्जा स्रोत फ्रुक्टोज यानी एक प्रकार की चीनी होती है।

क्या सीमेन (वीर्य) निगलना सुरक्षित है? Is it safe to swallow semen?

जिन तत्वों से मिलकर वीर्य बनता है वो तो सुरक्षित ही होते हैं। वहीं कुछ मामलों में लोगों को इसे निगलने के बाद गंभीर एलर्जी का सामना करना पड़ सकता है और ऐसा हुआ भी है‚ 

लेकिन ऐसा बहुत ही कम देखा गया है। असल में मुख यौन से जुड़ा संक्रमण होना सीमेन निगलने का सबसे बड़ा कारण हो सकता है । ओरल सेक्स की वजह से  दाद, सिफिलिस और गोनोरिया से आसानी से आप संक्रमित हो सकती हैं।

स्टडीज में पाया गया है कि मुख याैन संबंध से हयूमन इम्युनोडेफिशिएंसी वायरस यानी HIV एचआईवी होना कठिन हो सकता है‚ लेकिन नामुमकिन नहीं। 

वीर्य को एचपीवी HPV को ढोने वाला यानी वाहक माना जाता है, लेकिन चूंकि इस वायरस का सीमेन टेस्ट में पता नहीं चल पाता इसलिए दावे के साथ कहना मुश्किल है। लेकिन इस वायरस के स्ट्रेन गले के कैंसर की वजह बन सकते हैं।

Preventing problems from Swallowing semen?
Representative Image | Credit | Getty Images

सीमेन निगलने से होने वाली समस्याओं को कैसे रोकें- Preventing problems from Swallowing semen?

आपको अपने पार्टनर के सीमेन के कलर और स्मेल पर ध्यान देना दें।  सीमेन का रंग और गंध आपको यह जानने में मदद करेगी कि आपके पाटर्नर के सीमेन में कोई समस्या है या नहीं। 

अमूमन सीमेन का रंग सफेद से भूरा होता है‚  और यह बिना किसी गंध यानी स्मेल का हो सकता है। ये सामान्य वीर्य की पहचान है‚ लेकिन आपके पार्टनर के सीमेन में किसी तरह की स्मेल या वो कोई कलर लिए हो तो समस्या गंभीर हो सकती है। ऐसे में आपके पाटर्नर को  इंफेक्शन की दिक्कत हो सकती है।

यदि सीमेन का कलर रेड हो तो सीमेन प्रोडयूस करने वाली ग्लैंड्स यानी ग्रंथियों में सूजन हो सकती है। पीला या हरा सीमेन इंफेक्शन, मेडिसिन या विटामिन किसी भी वजह से  हो सकता है। अपने पार्टनर से इस बारे में तसल्ली से बात करें और इसका कारण जानने की कोशिश करें। साथ ही अपना कंर्सन भी पार्टनर से शेयर करें। 

वीर्य का टेस्ट भी किसी तरह की प्रॉब्लम का इंडिकेशन दे सकता है। जिसे स्वस्थ स्वाद वाला वीर्य माना जाता है, वह एक व्यक्ति से दूसरे में अलग हो सकता है। 

जैसे-

अपने हाई पीएच लेवल के कारण कड़वा या नमकीन।

मीठा, क्योंकि इसमें फ्रुक्टोज होता है।

मेटेलिक क्योंकि इसमें कई विटामिन्स और मिनरल्स होते हैं।

ये भी पढ़ें – LGBTQIA+ का मतलब क्या है : पहनावे नहीं, सेक्सुशल प्रेफरेंस से पहचाने जाते हैं, जानिए इस समुदाय के बारे में वो सबकुछ जो आपको पता होना चाहिए 

वीर्य निगलने से होने वाली किसी भी तरह की हेल्थ से जुड़ी परेशानी से बचने या रोकने का सबसे आसान तरीका मुख मैथुन नहीं करना है। आप जितना मुख मैथुन से दूर रहेंगी, उतना ही इससे जुड़ी परेशानियों से मुक्त रहेंगी। 


लेकिन यदि करना भी हो तो आप कंडोम का यूज कर सकती हैं। यानि पेनिस पर कंडोम लगा कर मुख मैथुन किया जा सकता है। एक और तरीका ये है कि इजैक्युलेट होने से जस्ट पहले अपना मुंह हटा लें या इजैक्युलेशन के समय अपने पार्टनर से कहें कि वो आपको बता दें कि उसके पैनिस से वीर्य इजैक्यूलेट होने वाला है और आप हट जाएं।  इन तरीको से आसानी से सुरक्षित मुख मैथुन किया जा सकता है।

यदि मुख मैथुन के समय आप या आपका पार्टनर चाहता है कि आप उनका वर्यि निगलें, तो आप मुख मैथुन से पहले अपने पार्टनर से रीसेंट एसटीआई STI स्क्रीनिंग के प्रूफ मांग सकती हैं‚ 

लेकिन ये ध्यान रखें कि हमने जैसा कि आपको पहले ही  ये बता दिया है कि HPV एचपीवी का जांच में पता नहीं चल पाता है‚ यदि आप सीमेन से होने वाली एलर्जी को लेकर तनाव में हैं तो अपने प्रिकाॅशनरी मेजर्स के लिए कदम आपको खुद ही उठाने होंगे। 

यदि आप सीमेन स्वालोइंग यानी सीमेन निगलने के प्रॉसेस में इंवाॅल्व हैं या रह रही हैं या रहे हैं तो आपको तुरंत अपने चिकित्सक से परामर्श जरूर लेना चाहिए।

जब प्री इजैक्यूलेशन लिक्विड की बात आती है तो बहुत सारे सवाल मन में आते हैं कि कहीं इससे आप प्रेंग्नेंट तो नहीं हो जाएंगी। ये मिस्कंसेप्शन है। दरअसल इसमें शायद ही शुक्राणु होता हो जिससे आप प्रेग्नेंट हो जाएं। फिर भी आपको ये सलाह दी जाती है कि यदि आप गर्भवती नहीं होना चाहती हैं तो इसे अपने अंदर न लें। क्योंकि ऐसा भी हो सकता है कि इनमें कभी थोड़ी मात्रा में शुक्राणु हों।

nutrients lost in sperm | how much energy is lost in sperm | does sperm contain vitamin d | sperm nutritional benefits | sperm nutrition chart | sperm contains protein | how much protein is in female sperm | how much protein loss in sperm

ये भी पढे़ं –

Home Remedies For Tooth Cavity: दांतों व मुंह की दुर्गन्ध का रामबाण इलाज‚ इन 4 नुस्खों के जरिए मिल सकता है प्रॉब्लम से परमानेंट छुटकारा

 जवानी में ही बाल हो रहे सफेद? करें ये आसान उपाय‚ यकीन मानिए जड़ से आएंगे ब्लैक हेयर्स

Sudden Brain Hemorrhage: क्या है ये ब्रेन हेमरेज‚ जिससे भाबीजी घर पर हैं फेम दीपेश भान का हुआ निधन‚ जानिए इसके बारे में सबकुछ

Koffee with Karan 7: ऑरमैक्स की पैन इंडिया नंबर 1 स्टार लिस्ट में टॉप पर विजय, जूनियर NTR, प्रभास और अल्लू अर्जुन क्यों- अक्षय ने बताई वजह  

 फिजिकल रिलेशन के बीच पुरुष धोखेबाजी कर रहे‚ इस पर हो सकती है सजा‚ समझिए आखिर कैसे Stealthing पर दुनियाभर में क्या कानून बन रहे‚ क्या भारत में भी ऐसा होगा‚ जानिए सबकुछ

 पीरियड्स का टैबू : कई देशों में इससे जुड़ी हैरान करने वाली प्रथाएं, कहीं पिया जाता है खून तो कहीं पहले पीरियड में होती लड़की की पूजा

सर गंगाराम ने बसाया था लाहौर‚ तो दिल्ली में वो एम्पीथियेटर बनाया जहां से क्वीन विक्टोरिया को भारत की महारानी घोषित किया गया 

 यदि कहें कि जानवर भी समलैंगिक होते हैं तो क्या आप यकीन करेंगे, पढ़िए तथ्य और शोध पर आधारित पूरी खबर 

 पोर्न फिल्मों को ब्लू फिल्म क्यों कहा जाता है?  जानिए इसके पीछे की पूरी कहानी

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *