2027 में पूरा होगा बुलेट ट्रेन का सपना, जानिए किस रूट पर रफ्तार पकड़ेगी?

2027 में पूरा होगा बुलेट ट्रेन का सपना

भारत में बुलेट ट्रेन का इंतजार जल्द ही खत्म होगा। बता दें कि साल 2027 से भारत में बुलेट ट्रेन सरपट दौड़ती नजर आएगी। अगले साल 2023 में सूरत में पहला बुलेट ट्रेन स्टेशन का उद्घाटन किया जाने वाला है। नेशनल हाई स्पीड रेल कॉरिडोर (NHSRCL) के चेयरमैने और मैनेजिंग डायरेक्टर सतीश अग्निहोत्री ने कहा है कि सूरत और बिलिमोरा के बीच 2026 में बुलेट ट्रेन का ट्रायल रन शुरू हो जाएगा और 2027 से लोगों के लिए बुलेट ट्रेन सर्विस शुरू हो जाएगी। 

अग्निहोत्री ने बताया कि सूरत से बिलिमोरा की दूरी पचास किलोमीटर है यहां पर सबसे पहले बुलेट ट्रेन चलेगी। NHSRCL अधिकारियों के अनुसार 2024 तक बापी, बिलिमोरा, सूरत और बरुच के बीच बुलेट ट्रेन के 12 स्टेशन बनकर तैयार होंगे।

जापान से बेहतर लेटेस्ट टेक्नोलॉजी खुद जापान भारत को बुलेट ट्रेल के लिउ देगा

अधिकारियों के अनुसार इन चार स्टेशनों के अलावा 237 किलोमीटर के ट्रैक को तैयार किया जा रहा है जिसके लिए खास तरह के ब्रिज और सपोर्टिंग कॉलम तैयार किए जा रहे हैं। जापान के राजनेयिक सातोशी सुजुकी के मुताबित ‘हमारी प्रायोरिटी इस रूट को पूरा कर बुलेट ट्रेन को शुरू करना है। इसकी मेंटेनेंस और अपडेटेड टेकनोलॉजी देने का वादा जापान ने किया है। 

हम भारत को जापान से बेहतर हमारी लेटेस्ट टेकनोलॉजी ES शिनकनसेन देंगे। जलवायू और प्रदूषण को ध्यान में रखते हुए हम भारत को अपनी टेकनोलॉजी का एडवांस वर्जन से अपडेट करेंगे।’  

 युद्ध स्तर पर चल रहा कार्य

अधिकारियों के अनुसार बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट को लेकर 125 किलोमीटर लंबे पाइल्स, पाइल्स कैप, ओपन फाउंडेशन, वेल फाउंडेशन, पाइर्स, पाइर्स कैप को बनाने का काम युद्ध स्तर पर चल रहा है। सूरत डिपो में 128 फाउंडेशन में से 118 फाउंडेशन को बना लिया गया है। इसके अलावा इस साल अगस्त तक साबरमती इंटीग्रेटेड हाई स्पीड रेल, मेट्रो, बस रेपिड ट्रांसिज, पैसेंजर टर्मिनल हब और दो रेलवे स्टेशन बनकर तैयार हो जाएंगे। 

कुछ ट्रेन के कुछ डिब्बे जापान से लाए जाएंगे और बाकि भारत में ही निर्मित होंगे

पहली बुलेट ट्रेन के कुछ डिब्बे जहाज के जरिए लाए जाएंगे वहीं कुछ डिब्बों को यहीं भारत में जोड़कर बनाया जाएगा। सतीश अग्निहोत्री के अनुसार ये टेकनोलॉजी क्रैश एवॉइडेंस सिस्टम पर आधारित होगी जिसमें लेटेस्ट सिग्नल होंगे। 

320 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ेगी ट्रेन

कोच के डिजाइन को ऐसा रखा जाएगा जिससे ये ट्रेन एक्सिडेंट फ्री हो। बुलेट ट्रेन 320 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ सकेगी। अहमदाबाद-मुंबई के बीच बुलेट ट्रेन का परिचालन होगा। 508 किलोमीटर लंबी इस लाइन पर 12 स्टेशन होंगे जिनमें से आठ गुजरात और चार स्टेशन महाराष्ट्र में होंगे।  

Bullet Train | National News In Hindi | India News In Hindi | Bullet train In India | Mumbai-Ahmedabad bullet train | 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *