अनलॉक का First फेज आज से: 75 दिन बाद मंदिर-मस्जिद और मॉल्स आम लोगों के लिए खुलेंगे, 50% सिटिंग कैपेसिटी के साथ रेस्टोरेंट्स भी खुलेंगे

अनलॉक का First फेज आज से

⦿  रेस्टोरेंट्स में एंट्री 50% सिटिंग कैपेसिटी से ज्यादा कस्टमर्स को एंट्री न दें। जिनमें कोरोना के सिम्पटम नहीं हैं, उन्हें ही एंट्री मिले।

⦿ कंटेनमेंट एरिया में रेस्टोरेंट्स बंद रहेंगे। कस्टमर्स की एंट्री का वक्त भी तय रहे।

⦿ रेस्टोरेंट में आकर खाना खाने की बजाय होम डिलीवरी को बढ़ावा दिया जाए, डिलीवरी करने वाले घर के दरवाजे पर ही पैकेट छोड़ दें, हैंडओवर न करें

नई दिल्ली | रेस्टोरेंट परिसर, पार्किंग और आसपास के इलाके में सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा जाए, ग्राहकों की संख्या अधिक होने पर उन्हें वेटिंग एरिया में बैठाया जाए। इसी मकसद के साथ आज यानी 8 जून से रेस्टाेरेंंट 
खुलेंगे। 
गौरतलब है कि अनलॉक -1 के तहत केंद्र सरकार ने रेस्टोरेंट्स को लेकर पहले  ही गाइडलाइन जारी कर दी है। इसके मुताबिक, कंटेनमेंट जोन में रेस्टोरेंट बंद रहेंगे। 
इसके बाहर खोले जा सकते हैं। वहीं, रेस्टोरेंट में आकर खाना खाने की बजाय होम डिलीवरी को बढ़ावा देने की बात कही गई है। इसमें कहा गया है कि डिलीवरी करने वाले घर के दरवाजे पर ही पैकेट छोड़ दें, हैंडओवर न करें।

रेस्टोरेंट के लिए गाइडलाइन 

रेस्टोरेंट्स के अंदर

  • मैन्यू कार्ड डिस्पोजेबल रहे।
  • कपड़े की बजाय डिस्पोजेबल
  • नैपकिनका इस्तेमाल करें।
  • कस्टमर्स के जाने के बाद हर
  • बार टेबल सैनिटाइज़ होगा।
  • कस्टमर्स के बीच 6 फीट की
  • दूरी रहे।
  • बच्चों का प्ले एरिया बंद रखें। 

रेस्टोरेंट्स के अंदर बाकी हाइजीन

  • वैलेट पार्किंग है तो गाड़ी के दरवाजे, हैंडल,
  • स्टीयरिंग और चाभी को सैनिटाइज़ किया जाए।
  • एसी का टेम्परेचर 24 से 80 डिग्री और
  • ह्यूमिडिटी लेवल 40% से 70% के बीच रहे।
  • 1% सोडियम हाइपोकलोराइट के साथ दरवाजे के नॉब,
  • एलिवेटर के बटन, रेलिंग, बेंच, वॉशरूम और सर्विस
  • एरिया को लगातार डिसइन्फेक्ट किया जाए।

रेस्टोरेंट्स के अंदर सोशल डिस्टेंसिंग

  • खाना ऑर्डर करने और पेमेंट करने का कॉन्टैक्टलेस मोड रहे।
  • एलिवेटर्स में चढ़ने वाले लोगों की संख्या तय रहे।
  • एक्सकेलेटर्स में एक सीढ़ी छोड़कर ही लोगों को चढ़ने दें।
  • बड़े जमावड़ों या समारोह न करें।
  • पार्किंग में कस्टमर्स और सपोर्ट स्टाफ के बीच सोशल डिस्टेंसिंग रहे।
  • सोशल डिस्टेंसिंग के लिए स्पेशल मार्किंग का ध्यान रखें।
  • बुफे सर्विस में सोशल डिस्टेंसिंग रखें।

होम डिलिवरी पर जोर

  • बैठकर खाने की बजाय
  • पार्सल पर जोर रहे।
  • फूड डिलिवरी करने वाले
  • दरवाजे पर पार्सल रख दें।
  • सीधे न थमाएं।
  • होम डिलिवरी करने जा
  • रहे स्टाफ की पहले थर्मल
  • स्क्रीनिंग हो।

रेस्टोरेंट्स का स्टाफ

  • जिनमें कोरोना के सिम्पटमनहीं हैं, उन्हें ही काम करने की इजाजत मिले।
  • स्टाफ को पूरे वव्त मास्क पहनना होगा।
  • उम्रदराज, पहले से बीमार एम्प्लॉई या प्रेनेंट महिलाएं को काम पर बुला रहे हैं तो फ्रंट लाइन वर्क में न लगाएं।


धार्मिक स्थल, रेस्टोरेंट्स और वर्क प्लेस
के लिए सरकार की कॉमन गाइडलाइन

एकदूसरे से
6 फीट की दूरी
फेस कवर/
सेनिटाइजर्स
मास्क जरूरी
साबुन से हाथ
धोने के इंतजाम
थूकने पर
पाबंदी
आरोग्य सेतु
ऐप की सलाह

ये लोग बाहर न निकलें

65+ साल के बुजुर्ग, 10 साल से
छोटे बच्चे, गर्भवती महिलाएं और
बाहर न निकले | पहले से बीमार लोग।
अगर रेस्टोरेंट में कोरोना का कोई संदिग्ध या कंफर्म केस मिलता है तो…
एक रूम ऐसा होना चाहिए, जहां उसे तत्काल आइसोलेट किया जा सके।
संबंधित ग्राहक को मास्क दिया जाए और बिना देरी किए हेल्पलाइन पर कॉल कर डॉक्टर्स की टीम को बुलाना होगा।
स्वास्थ्य विभाग से रेस्टोरेंट में संक्रमण के खतरे और सैनिटाइजेशन की समीक्षा करानी होगी।
अगर परिसर में आया कोई व्यक्ति पॉजिटिव पाया जाता है तो रेस्टोरेंट को डिसइंफेक्ट कराना पड़ेगा।
India Unlock 1.0 |  first phase of unlocking India | 


Like and Follow us on :

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *