IPL पर कोरोना कहर : लीग से 8 दिन पहले KKR के नीतीश राणा की रिपोर्ट पॉजिटिव

IPL पर कोरोना कहर

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) पर कोरोना कहर बरपा रहा है। इसी कड़ी में कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) टीम के खिलाड़ी नीतीश राणा के 14 वें सीजन की शुरुआत से 8 दिन पहले कोरोना से संक्रमित होने की खबर सामने आई है। जानकारी के मुताबिक राणा गोवा में छुट्टी बिताने के बाद टीम में शामिल हुए थे। उनकी रिपोर्ट दो दिन पहले पॉजिटिव आई थी, लेकिन इधर बीसीसीआई और केकेआर द्वारा अभी तक कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है।

सूत्रों के मुताबिक, नीतीश मुंबई के होटल में रह रहे हैं। डॉक्टरों की एक टीम द्वारा उनकी देखरेख की जा रही है। बतादें कि आईपीएल का 14वां सीजन 9 अप्रैल से शुरू होने वाला है। 

लीग का फाइनल 30 मई 2021 को होगा। पहला मैच मुंबई इंडियंस (MI) और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) के बीच खेला जाना तय है। केकेआर का पहला मैच 11 अप्रैल को सनराइजर्स हैदराबाद के साथ होना है।

नीतीश ने 254 रन बनाए थे पिछले सीजन में 

नीतीश ने पिछले साल 13वें सीजन में कोलकता नाइट राइडर्स के लिए 14 मैचों में 25.14 की औसत से 254 रन अपने नाम किए थे। उन्होंने राणा अब तक खेले 60 मैचों में 28.17 की औसत से 1437 रन बना चुके हैं। उनका स्ट्राइक रेट 135.56 का है।

 5वें शीर्ष स्कोरर थे विजय हजारे ट्रॉफी में

हाल ही में संपन्न घरेलू क्रिकेट टूर्नामेंट विजय हजारे ट्रॉफी में राणा 5वें शीर्ष स्कोरर रहे थे। दिल्ली 

टीम के लिए खेलते हुए राणा ने 7 मैचों में 66.33 की औसत से 398 रन अपने नाम किए। इस दौरान उनके एक शतक और दो अर्धशतक भी बने। उनका स्ट्राइक रेट 97.78 रहा था।

टीम ने अभ्यास शुरू किया, कई खिलाड़ियों की तस्वीरें भी साझा की गई

Professor @RealShubmanGill in action! 👨‍🏫#KamleshNagarkoti #HaiTaiyaar #KKR #IPL2021 pic.twitter.com/AJCNHhqKUB

— KolkataKnightRiders (@KKRiders) March 31, 2021

अब तक लगभग सभी खिलाड़ी कोलकता नाइट राइडर्स टीम में शामिल हो चुके हैं। शुभमन गिल, कमलेश नागरकोटी और शिवम मावी जैसे खिलाड़ियों ने भी प्रशिक्षण के दौरान तस्वीरें साझा की हैं। कैप्टन ओएन मॉर्गन, आंद्रे रसल, दिनेश कार्तिक और सुनील नारायण को भी केकेआर के सोशल मीडिया हैंडल पर अभ्यास करते देखा गया है, लेकिन इसमें राणा कहीं नहीं देखे गए हैं।

बायो-बबल में टीम में शामिल होने के रूल्स

इंग्लैंड सीरीज या किसी अन्य टूर्नामेंट में खेलने के बाद जो खिलाड़ी बायो-बबल से बाहर निकलते हैं, वे आईपीएल टीम के बायो-बबल में आते हैं। इसलिए उन्हें सीधे प्रशिक्षण देने की अनुमति है। यदि कोई खिलाड़ी बायो-बबल से नहीं आता है, तो उन्हें टीम-निर्मित बबल में प्रवेश करने के लिए 7 दिनों के लिए क्वारंटीन रहना पड़ता है। इस दौरान तीन टेस्ट किए जाते हैं। एक निगेटिव रिपोर्ट के बाद ही वे टीम के साथ बायो-बबल में प्रवेश कर सकते हैं।

2⃣ ways to sport sunglasses 😎#ToofaniFans, give us your #ToofaniCaptions for this shot of @DineshKarthik and @SunilPNarine74 ⤵️#KKR #HaiTaiyaar #IPL2021 #Cricket pic.twitter.com/B53o2TS4xh

— KolkataKnightRiders (@KKRiders) March 31, 2021

पिछले सीजन में, सीएसके टीम के 11 खिलाड़ी कोरोना इन्फैक्टेड थे

पिछला सीजन 19 सितंबर से 10 नवंबर तक यूएई में बायो-सिक्योर एन्वायरमेंट आयोजित किया गया था। टूर्नामेंट शुरू होने से पहले, चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) की टीम के दीपक चाहर और ऋतुराज गायकवाड़ समेत 11 खिलाड़ी कोरोना पॉजिटिव हुए थे। हालांकि, उसके बाद पूरे टूर्नामेंट में कोरोना का कोई मामला नहीं था।

आईपीएल 2020 के दौरान लगभग 40 हजार टेस्ट हुए

BCCI के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने बताया था कि 400 खिलाड़ी और कर्मचारी आईपीएल 2020 के लिए तैयार किए गए बायो-बबल में रह रहे थे। ढाई महीने में लगभग 30 से 40 हजार परीक्षण किए गए, ताकि हर कोई सुरक्षित रह सके। गांगुली ने कहा था कि कोरोना के बीच टूर्नामेंट में दुनिया भर के खिलाड़ियों की भागीदारी के बावजूद, हम इसे सफलतापूर्वक आयोजित करने में सक्षम थे, मैं बहुत खुश हूं।

Like and Follow us on :

Facebook

Instagram
Twitter
Pinterest
Linkedin
Bloglovin

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *