व्हाट्सएप वेब भी सुरक्षित नहीं: Google सर्च रिजल्ट में आ रहे यूजर्स के पर्सनल मोबाइल नंबर्स, इनमें एक भी ​वॉट्सएप बिजनेस यूजर के नहीं

whatsapp-policy-controversy
फोटो सोशल मीडिया।

वॉट्सएप की नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर एक और विवाद पैदा हो गया है।  अब वॉट्सएप यूजर्स के मोबाइल नंबर व्हाट्सएप वेब के माध्यम से लीक होने की सूचना है। नई जानकारी के अनुसार, Google सर्च के दौरान यूजर्स के मोबाइल नंबर शो हो रहे है।

साइबर सिक्योरिटी रिसर्चर राजशेखर राजहरिया ने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर व्हाट्सएप की लापरवाही को साझा किया है। उन्होंने Google सर्च के दो स्क्रीनशॉट साझा किए हैं, जिसमें यूजर्स के मोबाइल नंबर स्पष्ट रूप से दिखाई दे रहे हैं। उन्होंने लिखा- व्हाट्सएप गूगल पर अपने डेस्कटॉप या वेब संस्करण की निगरानी नहीं कर पा रहा है।

15 Jan 2021, If you are using @WhatsApp Web, your Mobile Number and Messages are being index by @Google again. Don’t know why WhatsApp is still not monitoring their website and google. This is 3rd time.#Infosec #Privacy #infosecurity #GDPR #Whatsapp #Privacy #Policy #Google pic.twitter.com/D6o1emxDgv

— Rajshekhar Rajaharia (@rajaharia) January 15, 2021

वेब व्हाट्सएप से डेटा लीक हो रहा

राजहरिया ने कहा कि वेब व्हाट्सएप के जरिए यूजर्स का डेटा लीक किया जा रहा है। अगर कोई यूजर ऑफिस के लैपटॉप या डेस्कटॉप पर व्हाट्सएप का इस्तेमाल कर रहा है, तो उसके मोबाइल नंबर गूगल सर्च पर आ रहे हैं। ये सभी नंबर पर्सनल यूजर्स के हैं। उनमें बिजनेस यूजर्स की संख्या शामिल नहीं है।

इस हफ्ते, राजहरिया ने Google पर व्हाट्सएप ग्रुप चैट इनवाइट के इन्डेक्सिंग के बारे में जानकारी दी थी। उस समय, 1,500 से अधिक ग्रुप इनवाट्स लिंक सर्च रिजल्ट में मौजूद थे। Google की तरफ से इंडेक्स की गईं कुछ लिंक पोर्न शेयर करने वाले वॉट्सऐप ग्रुपस को लीड करती हैं।

नई व्हाट्सएप पॉलिसी के खिलाफ याचिका

व्हाट्सएप की नई डेटा गोपनीयता नीति को दिल्ली उच्च न्यायालय में चुनौती दी गई है। अधिवक्ता चैतन्य रोहिल्ला ने इसके खिलाफ एक आवेदन दायर किया है। इसमें कहा गया है कि व्हाट्सएप की नई नीति भारत के लोगों के निजता के अधिकार का उल्लंघन है। उपयोगकर्ता डेटा साझा करना अवैध है।

आवेदन में कहा गया है कि नई नीति का मतलब है कि लोगों की ऑनलाइन गतिविधि पर हमेशा नजर रखी जाएगी। यह सब बिना सरकारी निगरानी के होगा। इसलिए व्हाट्सएप पॉलिसी को तुरंत बंद कर देना चाहिए।

व्हाट्सएप की नई पॉलिसी क्या है?

व्हाट्सएप यूजर्स जो कंटेंट अपलोड, सबमिट, स्टोर, सेंड या रिसीव करते हैं, कंपनी उसका कहीं भी इस्तेमाल कर सकती है। कंपनी उस डेटा को साझा भी कर सकती है। यह नीति 8 फरवरी 2021 से लागू हो रही है। यह पहले दावा किया गया था कि यदि उपयोगकर्ता इस नीति को ‘सहमत’ नहीं करता है, तो 8 फरवरी के बाद वह अपने खाते का उपयोग नहीं कर पाएगा। हालांकि, बाद में कंपनी ने इसे वैकल्पिक बताया।

कंपनी की सफाई – उपयोगकर्ता के निजी संदेशों को साझा नहीं किया जाएगा

नई नीति विवादित होने के बाद कंपनी ने स्पष्टीकरण दिया। व्हाट्सएप ने कहा था कि इस नीति से उपयोगकर्ता के निजी संदेश को खतरा नहीं है। यानी, दोस्तों या परिवार के साथ चैट करना सभी जगह सुरक्षित रहेगा। नई नीति के दायरे में केवल व्यावसायिक खाते ही आएंगे।

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *