Iphone प्लांट ने तोड़फोड़: दो दिन के उपद्रव के बाद 149 लोग गिरफ्तार, कर्मचारी वेतन कम करने से नाराज थे‚ कंपनी ने कहा- 437 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ

Iphone प्लांट ने तोड़फोड़
फोटो: ट्वीटर

कर्नाटक के कोलार में शनिवार को iPhone निर्माण प्लांट में तोड़फोड़ के मामले में सोमवार को शिकायत दर्ज की गई। संयंत्र ताइवान के विस्ट्रॉन कॉर्पोरेशन का संचालन करता है। कंपनी के कार्यकारी टीडी प्रशांत के अनुसार, कंपनी को 437.40 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। पुलिस का कहना है कि वेतन में कमी से कर्मचारी नाराज थे। अब तक 149 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

कंपनी के कार्यकारी ने शिकायत दर्ज कराई

प्रशांत ने वेमगल पुलिस स्टेशन में अपने बयान में कहा कि कार्यालय उपकरण, मोबाइल फोन, मशीनों को 412.5 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ, जबकि कार्यालय के बुनियादी ढांचे को 10 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ, कार और गोल्फ कार्ट्स को 60 लाख रुपए का नुकसान पहुंचा है।

उन्होंने कहा कि तोड़फोड़ से स्मार्टफोन और अन्य गैजेट्स को 1.5 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। उनके मुताबिक, 5000 संविदा कर्मचारियों और 2000 अज्ञात आरोपियों ने इस घटना को अंजाम दिया।

साथ ही गाड़ियों में आग लगाने की कोशिश की

इससे पहले, पुलिस ने कहा था कि रात की शिफ्ट पूरी करने के बाद हजारों श्रमिक प्लांट से बाहर निकल रहे थे। अचानक उन्होंने तोड़फोड़ शुरू कर दी। उन्होंने फर्नीचर और विधानसभा इकाई को नुकसान पहुंचाया। उन्होंने गाड़ियों में आग लगाने की भी कोशिश की।

वेतन 16 हजार से घटाकर 8 हजार किया

सूत्रों के मुताबिक, कंपनी ने कर्मचारियों को नियुक्त करते समय उन्हें जो वेतन देने का वादा किया था, वह नहीं मिला। इसको लेकर कार्यकर्ता नाराज थे। कंपनी को इंजीनियरिंग ग्रेजुएट के लिए हर महीने 21 हजार रुपये देने का वादा किया गया था। लंबे समय तक तालाबंदी के बाद उनका वेतन बढ़ाकर 16 हजार रुपये कर दिया गया।

इसके बाद कोरोना का हवाला देते हुए हाल के महीनों में इसे घटाकर 12 हजार रुपये कर दिया गया। गैर-इंजीनियरिंग स्नातक श्रमिकों का मासिक वेतन 15 हजार रुपये से घटाकर आठ हजार रुपये कर दिया गया। इससे कार्यकर्ताओं में गुस्सा बढ़ गया।

यह संयंत्र 43 एकड़ में फैला हुआ है

कोलार के नरसापुरा इंडस्ट्रियल एरिया में 43 एकड़ जमीन पर बना iPhone प्लांट बैंगलोर से लगभग 60 किलोमीटर की दूरी पर है। सरकार ने यह जमीन 2,900 करोड़ रुपये के निवेश और 10,000 से अधिक लोगों को नौकरी देने के वादे पर दी थी। इस प्लांट में, Apple के स्मार्टफोन iPhone SE के अलावा, इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IOT) उत्पादों और बायोटेक उपकरणों को बनाया जाता है।

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *