गेम्बलिंग के विज्ञापन चलाएं टीवी-OTT प्लेटफॉर्म की खैर नहीं : सरकार ने जारी किए निर्देश‚ कहा- कई न्यूज वेबसाइट्स भी चला रहीं बेटिंग एप

Online Betting Apps Advertisement Ban Orders
photo | Getty Images

Online Betting Apps Advertisement Ban Orders : केंद्र सरकार ने न्यूज वेबसाइट्स, ओटीटी प्लेटफॉर्म्स और प्राइवेट सैटेलाइट चैनलों के लिए नई एडवाइजरी जारी की। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने इस एडवाइजरी में कहा कि वे अपने प्लेटफॉर्म पर सट्टेबाजी की वेबसाइटों या ऐप के विज्ञापन नहीं चलाएं। एडवाइजरी का पालन नहीं करने पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

जून में भी जारी हुई थी सरकार की ओर से एडवाइजरी

इससे पहले इसी साल जून में केंद्र सरकार ने बच्चों को निशाना बनाने वाले भ्रामक विज्ञापनों पर नियंत्रण के लिए दिशा-निर्देश भी जारी किए थे। विज्ञापन देने वाले फिल्मी कलाकारों की जवाबदेही तय करने की भी बात हुई। सरोगेट विज्ञापनों पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया था। इसकी सत्यता साबित किए बिना विज्ञापन पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। इसका मकसद भ्रामक विज्ञापनों को रोकना है।

निजी चैनलों को भी दिशा- निर्देश जारी किए गए

नई एडवाइजरी में निजी सैटेलाइट टेलीविजन चैनलों को भी सख्त सलाह दी गई है। उनसे कहा गया है कि वे ऑनलाइन ऑफशोर बेटिंग प्लेटफॉर्म या उनकी सरोगेट न्यूज वेबसाइटों का विज्ञापन न करें। इन प्लेटफॉर्म्स को सरोगेट तरीके से विज्ञापन नहीं देने को भी कहा गया है।

डिजिटल मीडिया के लिए खास तौर पर अलग से एडवाइजरी

डिजिटल मीडिया और ओटीटी प्लेटफॉर्म पर न्यूज और करंट अफेयर्स कंटेंट के प्रकाशकों को अलग से एडवाइजरी जारी की गई है। इसमें भारतीय दर्शकों के लिए सट्टेबाजी का विज्ञापन नहीं करने की हिदायत दी गई है।

 

photo | Getty Images

बेटिंग प्लेटफॉर्म का विज्ञापन अवैध

सूचना प्रौद्योगिकी (डिजिटल मीडिया एथिक्स कोड) नियम 2021 के अनुसार, मंत्रालय ने कहा है कि सट्टेबाजी प्लेटफार्मों के विज्ञापन एक अवैध गतिविधि है, जिसे डिजिटल मीडिया पर नहीं दिखाया जा सकता है।

एडवाइजरी में कहा गया है कि मंत्रालय ने देखा है कि सट्टेबाजी के प्लेटफॉर्म की प्रचार सामग्री और विज्ञापन अभी भी कुछ न्यूज प्लेटफॉर्म और ओटीटी प्लेटफॉर्म पर दिखाई दे रहे हैं। ऑनलाइन अपतटीय सट्टेबाजी प्लेटफार्मों ने विज्ञापन देने के लिए समाचार वेबसाइटों को एक सरोगेट उत्पाद के रूप में उपयोग करना शुरू कर दिया है

बेटिंग प्लेटफॉर्म ने समाचार वेबसाइटें बनाई 

मंत्रालय ने कहा कि कई न्यूज वेबसाइट बेटिंग प्लेटफॉर्म मालिकों द्वारा ही संचालित की जा रही हैं। इन समाचार वेबसाइटों के लोगो कुछ हद तक सट्टेबाजी के प्लेटफॉर्म की तरह दिखते हैं। बेटिंग प्लेटफॉर्म इन समाचार वेबसाइटों को उत्पाद के रूप में इस्तेमाल करके खुद को बढ़ावा दे रहे हैं।

जाँच करने पर पता चला कि इस प्रकार की सट्टेबाजी और समाचार वेबसाइट किसी कानूनी प्राधिकरण के पास पंजीकृत नहीं है। इससे साफ है कि सट्टेबाजी के प्लेटफॉर्म न्यूज वेबसाइट की आड़ में अवैध प्रचार कर रहे हैं। 

Centre asks news websites, OTT platforms, TV channels to refrain from carrying ads of offshore betting sites

Read @ANI Story | https://t.co/RCBbBt7KVs #OTT #OffshoreBetting #TVChannels pic.twitter.com/YxEUGewXkS

— ANI Digital (@ani_digital) October 3, 2022

भारत में कई जगह अवैध है गेम्बलिंग

सट्टेबाजी या जुआ भारत के ज्यातर हिस्सों में अवैध हैं। “उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम, 2019 के तहत भ्रामक विज्ञापनों की रोकथाम और भ्रामक विज्ञापनों के समर्थन के लिए दिशानिर्देशों के अनुसार, यह देखा गया है कि चूंकि सट्टेबाजी और जुआ अवैध हैं, इसलिए ऑनलाइन ऑफशोर सट्टेबाजी और जुआ प्लेटफार्मों के विज्ञापन भी नहीं चलाए जा सकते हैं।

इफोर्मेशन (डिजिटल मीडिया एथिक्स कोड) नियम 2021 के अनुसार, मंत्रालय ने कहा है कि सट्टेबाजी या गेम्बलिंग प्लेटफार्मों के विज्ञापन एक अवैध गतिविधि है, जिसे डिजिटल मीडिया पर नहीं कतई नहीं दिखाया जा सकता है।

Online Betting Apps Advertisement Ban | 

ये भी पढ़ें –  

 ग्रेट राजस्थान पॉलिटिकल ड्रामाः UDH मंत्री धारीवाल बोले- ऐसा क्या हो गया जो हाईकमान अशोक गहलोत से इस्तिफा मांग रहा‚ अंदरखाने से खबर‚ अलकमान भी गहलोत से नाराज

 कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव में आसान नहीं होगी अशाेक गहलोत की राह‚ जानिए सबसे बड़ी वजहǃ

गुजरात पुलिस ने केजरीवाल को ऑटो ड्राइवर के साथ बैठकर जाने से रोकाः CM ने कहा आप जबरन सुरक्षा न दें  

 PK का नीतिश पर 2024 की तैयारी पर करारा तंजः  दो चार नेताओं से मिल चाय पी ले ने से सत्ता परिवर्तन नहीं होते

RSS की सहमति से निपटे गडकरी‚ जानिए शिवराज को क्यों दिखाया बाहर का रास्ता?

दिल्ली में अब राजपथ नहीं कर्तव्य पथ होगा नया नाम‚ भव्य वीडियो आया सामने‚ जानें क्या है खासियत‚ पीएम मोदी कल करेंगे उद्घाटन

 Motherhood: बांधवगढ़ में 15 माह के बेटे को बचाने के लिए टाइगर से अकेले भिड़ी मां‚ जानें पूरी घटना

 Mohali Swing Break : मोहाली में भीषण हादसा‚ झूले में बैठे लोग समझते रहे मौजी और अचानक 50 फीट ऊंचाई से जमीन पर आ गिरा झूला, हादसे का भयावह VIDEO VIRAL 

 Cyrus Mistry Passed Away: टाटा ग्रुप के पूर्व चेयरमैन साइरस मिस्त्री सड़क दुर्घटना में निधन: मुंबई के करीब पालघर में हुआ हादसा

आखिर क्या है सिंथेटिक ड्रग्स Methamphetamine जिसे सुधीर ने जबरन सोनाली फोगट को दिया‚ तीव्र यौन इच्छा बढ़ा कर कैसे इंसान को तड़पाता है ये नशा‚ जानिए

Sonali Phogat Passed Away: अभिनेत्री और हरियाणा से भाजपा नेता सोनाली फोगाट का हार्ट अटैक से निधन

 BJP संसदीय बोर्ड से गडकरी‚ शाहनवाज और शिवराज की छुट्टीःयेदियुरप्पा, सोनोवाल शामिल‚ ये है पार्टी की भावी रणनीति

जालौर की घटना पर पायलट की अपनी ही सरकार से पीड़ित परिवार के लिए न्याय की मांग‚ कहा- ‘क्राइम हर राज्य में होता है, सिर्फ ये कह देना काफी नहीं’

 Bihar political crisis Update: BJP-JDU गठबंधन टूट के बाद भी बिहार में नीतीश की बहार

President Draupadi Murmu : शक्षिका को पुटी नाम पसंद नहीं था‚ उन्होंने ही द्रौपदी नाम रखा‚ इकलौती बेटी हैं बैंक अधिकारी तो दामाद में रग्बी प्लेयर‚ जानिए राष्ट्रपति की अनछुई बातें

Presidential Elections: राजेंद्र प्रसाद से कोविंद तक जानिए राष्ट्रपतियों से जुड़े रोचक तथ्य, आपकी GK में खूब काम आएंगे 

झुंझुनूं के जगदीप धनखड़ NDA के उपराष्ट्रपति उम्मीदवार: भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने किया ऐलान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *