Masturbation करना कब सही है? कैसे पता करें कि इसकी लत लग गई है, ऐसे ही मन में कौंधते सवालों के जवाब जानिए Read it later

Masterbation करना कब सही है?

जानिए उन सवालों के जवाब, जो आप नहीं जानते या जानना नहीं चाहते, या फिर जानने से बचते हैं

Masterbation करना कब सही है? – जैसे ही आप किशोर से आगे बढ़कर युवा बनने की ओर अग्रसर होते हैं, वैसे ही आपकी बॉडी के भीतर इमोशनल और फिजीकल तौर पर पानी के तेज बहाव की तरह बदलाव आने लगते हैं,

इसी तरह लड़कियों को मैन्स्ट्रयुएशन यानी महावारी की शुरुआत का अनुभव मिलता है, वहीं टीनएजर  लड़के इस तेज बहाव की आवाज़ को बिल्कुल अलग अंदाज़ में सुनते हैं। मूड स्विंग्स होना और अंदर से आक्रामक भरी भावना भी आती है। इस एज में टीनएजर्स को पेरेंट्स पहले की तरह अब कूल नहीं लगते और उनसे ज्यादा फ्रेंड्स उनकी फैमिली बन जाते हैं। 

                              Masterbation करना कब सही है?

जब टीनएजर्स और उनके फ्रेंड्स खुद को खोजने की यात्रा कर रहे होते हैं तो उन्हें इस खोज में पता चलता है कि उनकी बॉडी एक कोयले की खान की तरह है और टीनएजर्स के भीतर मानों जिज्ञासाओं का भंडार बढ़ता जाता है…. और यहां से शुरू होता है मास्टरबेशन का सिलसिला। (Masturbation kab Karna Chahiye) सीधी और आसान भाषा में कहें तो, मास्टरबेशन को आपके जेनिटल्स पार्ट्स को उकसाने का प्रयास किया जाता है, ताकि वे यानी टीनएजर्स प्लेज़र या ऑर्गेज्म यानी चरम सुख की अनुभूति कर सके। 

जब तक लत न लगे तब तक हस्तमैथुन (Masturbation) ठीक

इन-हाउस साइकोलॉजिस्ट कांति शर्मा के अनुसार, यह एक सामान्य और हेल्दी एक्टिविटी है, जो इस एजग्रुप में सभी के साथ हार्मोनल चैंजेस के कारण होता है और इससे अच्छा महसूस होता है, जब तक कि यह Masterbation  लत में तब्दील न हो जाए। कांति बताती हैं, क्योंकि यह वह एज ग्रुप है, जिसमें इंसान किसी भी उम्र की तुलना में 20 साल की उम्र के दशक में सबसे ज्यादा मास्टरबेशन करते हैं। यह एक छोटे रूप में टीनएजर्स के भीतर हो रही हार्मोनल एक्टिविटी के कारण होता है।  

ये भी पढ़ें  – प्यार दिल का मामला है या दिमाग के हॉर्मोन्स का लोचाǃ समझिए आखिर माजरा क्या हैॽ

ऐसा इसलिए होता है क्योंकि इस समय वे केवल बॉडी के चरम सुख की खोज कर रहे होते हैं, यदि आपको यह पता लगाना है कि, आपको Masterbation   करने की लत है या नहीं, तो इसका सबसे सरल तरीका यह है कि “आपका खुद की ही डेली लाइफ में दखल देना शुरू कर देते हैं।” जैसे यदि आप अपनी पढ़ाई या होमवर्क को छोड़कर मास्टरबेशन में लग जाते हैं,या मास्टरबेशन के लिए दोस्तों के साथ बनाए गए प्लान को ही मास्टरबेशन के लिए कैंसिल कर देते हैं, तो यह चिंता का विषय है और ऐसा कहा जा सकता है कि आप Masterbation  की लत की ओर अग्रसर हो रहे हैं।

एडिक्शन से कैसे खुद को बचाएं

Masterbation  के एडिक्शन को कंट्रोल करने के कई आसान तरीके हैं। आप इसके कारणों को समझिए, क्या ये पोर्न कंटेंट देखने की ​व​जह से है? यदि ऐसा है तो पोर्न देखने के घंटे सीमित करें। यदि आप बोरियत महसूस कर रहे हैं, तो खुद को किसी फिजिकल एक्टिविटी में खपाए या कोई टीवी शो देखें। कभी-कभी, एडिक्शन को नियंत्रित करना कठिन हो सकता है लेकिन नामुमकिन नहींं।

ये भी पढ़ें- भूलना भी क्यों जरूरी है: शोध में दावा- भूल जाना कुछ और याद रखने की शर्त है‚ ये सीखने और याद रखने के प्रॉसेस को मजबूत बनाता है, जानिए कैसे

इस बात पर भी गौर करें

 कांति कहती हैं कि, आप अपने Genital Part को सार्वजकिन स्थल पर किसी के सामने टच करते हैं, तो ये हरकत आपके आसपास के लोगों के लिए असुविधाजनक हो सकती है।  कुछ मामलों में,सार्वजनिक स्थल पर अपने penis या वजाइना को दिखाना या हाथ लगाना सेक्सुअल हरेसमेंट माना जाता है और यह हरकत कानून के तहत दंडनीय अपराध है। इसी तरह पब्लिक प्लेस पर मास्टरबेशन करना या अपने प्राइवेट (penis) को फ्लैश करना भी गंभीर मामला हो सकता है और यह भी दंडनीय अपराध है।

ये भी पढ़ें –  LGBTQIA+ का मतलब क्या है : पहनावे नहीं, सेक्सुशल प्रेफरेंस से पहचाने जाते हैं, जानिए इस समुदाय के बारे में वो सबकुछ जो आपको पता होना चाहिए 

हस्तमैथुन क्या होता है? (what is masturbation?)

खुद को बेहतर फील कराने के लिए जब कोई जीव अपने प्राइवेट पार्ट को सैक्स क्रिया की तरह इस्तेमाल करता हैं तो उसे हस्तमैथुन माना जाता है।  इसे व्यक्ति अलग-अलग तरीके से करने का इच्छुक हो सकता है। क्योंकि यह क्रिया कहीं न कहीं संबंधित व्यक्ति के मन में आने वाली उसकी भावनाओं को व्य​क्त करती हैं। जो हर शरीर की प्रकृति होती है। हस्तमैथुन करना एक प्राकृतिक प्रक्रिया है जब ​तक की ये लत न बने।

क्या हस्तमैथुन ग़लत है? (Is masturbation a bad habbit?)

इसका जवाब है – बिल्कुल भी नहीं। यह खुद की संतुष्टि या ‘बेहतर अनुभव’ कराने का एक प्रकृतिक तरीका है। इससे आप स्वंय को संतुष्ट रखने के साथ-साथ स्वंय को खुशी भी देते हैं। इसे आम बोलचाल की देसी की भाषा में मुठ मारना भी कहा जाता है। 

ये भी पढ़ें  – पीरियड्स का टैबू : कई देशों में इससे जुड़ी हैरान करने वाली प्रथाएं, कहीं पिया जाता है खून तो कहीं पहले पीरियड में होती लड़की की पूजा

किसी भी व्यक्ति के लिए हस्तमैथुन का क्षण बेहद निजी पल होता है और इसे सार्वजनिक रूप से नहीं किया जा सकता और ना ही करना चाहिए। ये पूरी तरह से गैर क़ानूनी है। 

लड़के और लड़कियां दोनों ही मुठ की क्रिया या हस्तमैथुन करते हैं।  लड़कों में यह भावना 17 साल की उम्र के बाद आनी शुरू होती है जबकि लड़कियों में यह 15 साल से ही शुरू होसकती है। 

ये भी पढ़ें- देखें VIDEO: बच्ची की आंखों की रोशनी लौटी तो मां को देख खबू रोई, इमोशनल कर देगा ये मंजर, जन्मजात ब्लाइंड थी बेटी

Masturbation kab Karna Chahiye | how to stop masturbation | female masturbation | is masturbation a sin | teen masturbation | mutual masturbation | Masturbation Addiction | What Is Masturbation Addiction | masturbation side effects | Is masturbation a bad habit? | what is masturbation | एक बार मास्टरबेशन करने से कितनी कैलोरी बर्न होती है? | महीने में कितनी बार मास्टरबेट करना चाहिए? | मास्टरबेशन न करे तो क्या होगा? | 

आपको ये खबरें पसंद आ सकती हैं –

ये भी पढ़ें – सर गंगाराम ने बसाया था लाहौर‚ तो दिल्ली में वो एम्पीथियेटर बनाया जहां से क्वीन विक्टोरिया को भारत की महारानी घोषित किया गया

ये भी पढ़ें – ब्रिस्बेन की यूनिवर्सिटी का ये रिसर्च आपको सटीक बता देगा कि महिलाएं आखिर किस तरह के पुरुष ज्यादा पसंद करती हैं

ये भी पढ़ें –  यदि कहें कि जानवर भी समलैंगिक होते हैं तो क्या आप यकीन करेंगे, पढ़िए तथ्य और शोध पर आधारित पूरी खबर 

ये भी पढ़ें – क्या वाकई इलेक्ट्रिक कारें पर्यावरण के लिए बेहतर हैं? क्योंकि जर्मनी में इलेक्ट्रिक कार का जलवायु-सम्मत प्रभाव केवल कागज़ी रह गया है 

 ये भी पढ़ें -इन 5 सरकारी योजनाओं की मदद से महिलाएं अपना खुद का व्यवसाय शुरू कर सकती हैं

ये भी पढ़ें –  स्टालिन : ऐसा अत्याचारी जिसके मन में न्याय, दया या संवेदना रत्तीभर भी नहीं थी, किसी के लिए भी नहीं, उसके बीवी बच्चे भी उसके सामने थर थर कांपते थे  

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *