ये लक्षण वाले हैं कोरोना के सुपर स्प्रेडर:जिनकी नाक साफ नहीं, मुंह में पूरे दांत और लार पतली है; ऐसे लोग तेजी से कोरोना फैलाते हैं, जानिए पूरी जानकारी

 

coronavirus-super-spreaders

कोरोना फैलाने वालों को सुपर स्प्रेडर्स नाम दिया गया है। कभी-कभी वे संक्रमण के बावजूद लक्षण नहीं दिखाते हैं। इसके लिए अज्ञात, ये सुपर स्प्रेडर्स लोगों के बीच जाते हैं और कई लोगों को संक्रमित करते हैं।

अमेरिका में सेंट्रल फ्लोरिडा यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने सुपर स्प्रेडर की पहचान के लिए शोध किया है। शोध के अनुसार, संक्रमित लोगों में छींकने के विभिन्न प्रकार, दांतों की संख्या और मुंह में लार की मात्रा निर्धारित करती है कि उनकी बूंदें हवा में कितनी दूर तक जाएंगी और उन्हें संक्रमण का खतरा कितना है।

बूंदों का नाक के प्रवाह से एक संबंध है

शोधकर्ता माइकल किन्जेल कहते हैं कि संक्रमित मनुष्य वायरस का सबसे बड़ा स्रोत हैं। यह पहला अध्ययन है जो बताता है कि मनुष्यों में नाक का प्रवाह मुंह के दबाव को प्रभावित करता है। यह निर्धारित करता है कि बूंदें मुंह से कितनी दूर निकलती हैं।

जिनके दांत भरे हुए हैं, उनमें से अधिक बूंदें निकलती हैं।

शोधकर्ताओं का कहना है, दांत छींकने को बढ़ाते हैं। जिन लोगों के दांतों की पूरी संख्या होती है उनमें अधिक बूंदें होती हैं। दो दांतों के बीच बने गुच्छे से बूंदें शक्तिशाली होती हैं। जिन मनुष्यों की नाक साफ नहीं होती और मुंह में पूरे दांत होते हैं, वे 60 प्रतिशत तक अधिक खतरनाक बूंदों को उत्पन्न करते हैं।

कौन जानता है कि सुपर स्प्रेडर कितना बड़ा है?

1. शोध बताते हैं कि जब नाक साफ होती है, तो नाक या मुंह से बूंदों की दूरी कम हो जाती है। यही है, वे बहुत दूर नहीं जाते हैं। उसी समय, जिस व्यक्ति की नाक के अंतिम भाग में जलन या गंदगी होती है, तो दबाव होता है कि बूंदें तेज गति से निकलती हैं।

2. वैज्ञानिकों का कहना है कि मुंह में लार छींक की बूंदों को फैलाने में भी मदद करती है। शोध के दौरान, वैज्ञानिकों ने लार को तीन श्रेणियों में विभाजित किया। बहुत पतली, मध्यम और मोटी लार।

3. लार पतली होने पर बूंदें छोटी होती हैं। वे लंबे समय तक हवा में रहते हैं। संक्रमण हो सकता है यदि बूंदें संक्रमित मानव के मुंह से निकलती हैं और एक स्वस्थ व्यक्ति तक पहुंचती हैं। मध्यम और मोटी लार की बूंदें लंबे समय तक हवा में नहीं रहती हैं। वे जल्द ही जमीन पर गिर जाते हैं और संक्रमण का खतरा कम होता है।

4. शोधकर्ता करीम अहमद कहते हैं कि एक संक्रमित व्यक्ति की लार यह भी निर्धारित करती है कि सुपरस्पेडर्स महामारी में कमी या वृद्धि करेंगे या नहीं।

ये भी पढ़ें –

गाने की रिकॉर्डिंग कर रही थी बेटी कि अचानक छत से नीचे गिरी मां, ये VIDEO हो रहा वायरल

ये भी पढ़ें – छत्तीसगढ़ में निर्भया जैसी हैवानियत:दुष्कर्म कर गुप्तांग में तवे का मूठ डाला, महिला ने बचाव की कोशिश की तो कर दी हत्या 

 जानिए क्यों पंजाब के CM भगवंत मान कर रहे दूसरी शादी, सिर्फ 25 लोगों को ही निमंत्रण

ये भी पढ़िए – ये क्यूट Rain Bugs क्यों हो रहे विलुप्त!

हॉलीवुड स्टार टॉम क्रूज की लाइफ स्टोरी के बारे में और ज्यादा व पूरी जानकारी यहां देखें

ये भी पढे़ं – मूसेवाला का SYL गाना बैन: बंदी सिखों की रिहाई और पंजाब-हरियाणा के विवादित नहर के मुद्दे की बात, YouTube से भी हटाया

ये भी पढ़ें –  Elon Musk ने फिर क्यों कहा ज्यादा बच्चे पैदा करो, भविष्यवाणी की – जापान दुनिया से गायब हो जाएगा

Like and Follow us on :

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *