KABUL AIRPORT के बाहर 2 मानव बम धमाके, 13 अमेरिकी सैनिकों समेत 170 की मौत‚ सभी उड़ानें स्थगित‚ 150 से ज्यादा घायल‚ ISIS-K पर संदेह

KABUL AIRPORT के बाहर 2 धमाके

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे (KABUL AIRPORT) के बाहर लगातार दो धमाकों की खबर आ रही है। दो अमेरिकी अधिकारियों ने बताया कि गुरुवार को हामिद करजई अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर दहला देने वाला धमाका हुआ। इसके कुछ ही देर बाद दूसरा धमाका हुआ। ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय ने दोनों धमाकों की पुष्टि की है। फॉक्स न्यूज के मुताबिक इस हमले को आतंकी संगठन आईएसआईएस ने अंजाम दिया था।

 

VIDEO: People being rushed to the hospital following reported suicide bomber attack at Kabul airport.

pic.twitter.com/ex74FpusGs

— Election Wizard (@ElectionWiz) August 26, 2021


170 लोगों के मारे जाने की खबर

KABUL AIRPORT के बाहर 2 धमाके
Credit | AFP

रूसी मीडिया स्पुतनिक की रिपोर्ट के मुताबिक अब तक 170 लोगों के मारे जाने की खबर है। फॉक्स न्यूज ने बताया कि विस्फोट में 13 अमेरिकी सैनिकों के भी मारे जाने की खबर भी सामने आई है। वहीं 150 लोगों से ज्यादा लोग घायल हाेने की खबर है। जानकारी के मुताबिक, एयरपोर्ट के पास बैरन होटल के पास धमाका हुआ। सुरक्षा के लिहाज से काबुल एयरपोर्ट से सभी उड़ानें फिलहाल के लिए रद्द कर दी गई हैं। सभी विमानों को नाटो फोर्स ने अपने कंट्रोल में ले लिया है।

Watch : Visuals of second blast at Kabul Airport pic.twitter.com/DTSsBdXuIq

— The Bite (@_TheBite) August 26, 2021

सीएनएन के मुताबिक, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन को हमले की सूचना दे दी गई है। अब तक तीन अमेरिकी सैनिकों के घायल होने की खबर है। एयरपोर्ट पर लगातार फायरिंग की भी खबरें आ रही हैं। 

एक अधिकारी ने बताया कि इस घटना में कई अफगानी मारे गए। कई घायल भी हैं। पेंटागन ने भी फिदायीन हमले की पुष्टि की है।

So whats next now? Will evacuation process continue or #US will just leave like they did in #Baghram base? #Biden’s administration is under mounting pressure.

— Barzan Sadiq (@BarzanSadiq) August 26, 2021

इससे पहले तालिबान ने अमेरिका को किसी भी हाल में 31 अगस्त तक देश छोड़ने की चेतावनी दी थी। अमेरिका ने भी तय समय सीमा के भीतर देश से सेना वापस बुलाने की बात कही थी. हालांकि, आज व्हाइट हाउस ने 31 के बाद भी जरूरत पड़ने पर बचाव अभियान चलाने की घोषणा की थी।

अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और ब्रिटेन की इंटेलिजेंस ने आज ही आतंकी हमले को लेकर आगाह किया था

काबुल एयरपोर्ट पर अफरातफरी का माहौल है। इस बीच अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और ब्रिटेन ने अपने नागरिकों से फिलहाल काबुल हवाईअड्डे पर नहीं जाने को कहा था और कहा था कि जो लोग हवाईअड्डे के बाहर मौजूद हैं, वे तुरंत वहां से हट जाएं.

काबुल में अमेरिकी दूतावास ने कहा था कि काबुल एयरपोर्ट के अब्बे गेट, ईस्ट गेट या नॉर्थ गेट पर जो अमेरिकी मौजूद हैं, उन्हें तुरंत वहां से निकल जाना चाहिए और आगे के निर्देशों का इंतजार करना चाहिए। वहीं ब्रिटेन ने आशंका जताई थी कि ISIS काबुल एयरपोर्ट पर हमला कर सकता है।

पाक है घनिष्ठ मित्र, भारत अफगान के हितों को ध्यान में रख नितियां तय करे: तालिबान

पाक है घनिष्ठ मित्र, भारत अफगान के हितों को ध्यान में रख नितियां तय करे: तालिबान

तालिबान ने पाकिस्तान के साथ अपनी घनिष्ठता को स्वीकार किया है। तालिबान के स्पोक्सपर्सन जबीउल्लाह मुजाहिद ने पाकिस्तानी चैनल एआरवाई न्यूज से बातचीत के दौरान कहा कि पाक उनके संगठन (तालिबान) के लिए दूसरे घर जैसा ही है। 

जबीउल्लाह ने यह भी कह दिया है कि अफगानिस्तान की पाकिस्तान के साथ  सीमा साझा है ऐसे में दोनों देशों के लोग धार्मिक आधार पर भी आपस में घुल मिलते हैं। इसलिए हम पाकिस्तान के साथ अपने धार्मिक और भौगोलिक संबंधों को और मजबूत करना चाहते हैं।

जबीउल्लाह ने भारत के साथ अच्छे संबंधों के बारे में भी बताया है। उन्होंने कहा कि हमारी एक ही इच्छा है कि भारत अफगानों के हितों के अनुरूप अपनी नीतियां तय करे। तालिबान के प्रवक्ता ने भारत को कश्मीर पर पॉजिटिव रुख अपनाने की सलाह दे डाली। 

अब तालिबान की नजर में पॉजिटिव रुख क्या है ये वही जाने। बहरहाल  जबीउल्लाह ने कहा कि दोनों देशों के हित एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं, इसलिए हर विवादित मुद्दे को एक साथ बैठकर सुलझाना चाहिए।

फ्रांस कल से काबुल से एयरलिफ्ट टास्क बंद करेगा

फ्रांस कल से काबुल से एयरलिफ्ट टास्क बंद करेगा

अमेरिका, ब्रिटेन और भारत समेत कई देश काबुल से लोगों को वहां से निकालने में लगे हुए हैं। इस बीच, फ्रांस ने फैसला किया है कि वह 31 अगस्त की समय सीमा से चार दिन पहले शुक्रवार से अपनी उड़ानें बंद कर रहा है। रूसी समाचार एजेंसी स्पुतनिक के मुताबिक, फ्रांस के प्रधानमंत्री जीन कास्टेक्स ने कहा है कि शुक्रवार रात के बाद काबुल हवाईअड्डे से एग्जिट उड़ानें संचालित नहीं होंगी।

दूसरी ओर, अमेरिका ने संकेत दे दिया है कि अमेरिकी सेना के मिशन को पूरा करने के लिए 31 अगस्त की समय सीमा के बाद भी काबुल हवाई अड्डे को खुला रखा जा सकता है। 

अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकेन ने कहा है कि काबुल हवाई अड्डे से परिचालन जारी रखने के प्रयास जारी हैं और यह देखा जाना बाकी है कि क्या अन्य देश इसमें भूमिका निभाते हैं या नहीं।

तालिबान ने पंजशीर में नॉर्दन एलायंस से की बातचीत

तालिबान ने पंजशीर में नॉर्दन एलायंस से की बातचीत, दोनों संघर्षविराम पर राजी

अफगानिस्तान में पंजशीर को छोड़कर सभी इलाके तालिबान के नियंत्रण में पहले से आ चुके हैं। वहीं पंजशीर में, अफगानिस्तान के कार्यवाहक राष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह के नेतृत्व में उत्तरी गठबंधन के लड़ाके तालिबान के साथ युद्ध लड़ रहे हैं। 

इस बीच खबर है कि परवान प्रांत की राजधानी चारीकार में तालिबान और पंजशीर के प्रतिनिधियों के बीच बातचीत होने की बात सामने आई है। इस दौरान दोनों गुट एक-दूसरे पर हमला नहीं करने पर राजी हो गए हैं।

  • Taliban Afghanistan Kabul Capture LIVE Update | US Military Withdrawal | 
  • Pakistan Imran Khan | Indian Evacuation Latest News | Taliban Captures Afghanistan | US Military Withdrawal | Blast in Kabul Airport

    Was This Article Helpful?

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *