भोपाल में Group Captain Varun singh की विदाई: वरुण सिंह की मां ने बहू के कंधे पर हाथ रखकर हौसला बढ़ाया, बोलीं-तुम बहादुर बेटी हो Read it later

Group Captain Varun singh
परिवार और रिश्तेदार भी एयरपोर्ट पर पहुंचे।

Group Captain Varun singh का पार्थिव शरीर जब घर आया तो उनकी मां उमा सिंह ने अपनी बहू गीतांजलि सिंह को कंधे पर हाथ रखकर सांत्वना दी। उन्होंने बहू से कहा- तुम घर की बहादुर बेटी हो, तुम वीर की सबसे बड़ी विरांगाना हो…. ग्रुप कैप्टन के पार्थिव शरीर को कुछ समय दर्शन के लिए भोपाल की सन सिटी कॉलोनी में रखा गया था। इसके बाद उन्हें आर्मी के मिलिट्री हॉस्पिटल ले जाया गया।

AVvXsEhoBuDoOwFB5g1jOKNlbhaV4 CS ihLog 7iG8KKQrawz5m5Jhpb x0W6x4pBnR16HzoLZgtp YKFXrZNnq9t Cx03 XoSXUWy4JlbK0RZ1rqpWmpWJY7fhL3osm WaS9R8 uZQdk4jrXT 44dsoIS2Jm6nP20e5AfTtekeJ7dzMr8g1Glq2T1939pu8A=s320
कैप्टन का पार्थिव शरीर सेना के प्लेन से लाया गया।

Group Captain Varun singh के पार्थिव शरीर को गुरुवार दोपहर 2.35 बजे सेना के विमान से बेंगलुरु से भोपाल एयरपोर्ट लाया गया। यहां मध्य प्रदेश सरकार के मंत्रियों और विधायकों ने कैप्टन को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद उनके पार्थिव शरीर को सेना के वाहन से भोपाल की सन सिटी कॉलोनी स्थित उनके घर ले जाया गया। 

His body reached the house of Group Captain Varun Singh ji, the sister of Martyr Varun Singh ji welcomed the martyr brother with moist eyes with tilak and wreath.#VarunSingh #IAF #IAFChopperCrash #BREAKING pic.twitter.com/38BzMNAL6Z

— ALL THINGS FAUJ (@allthingsfauj) December 16, 2021

Group Captain Varun singh के पार्थिव देह पहुंचते ही उनके तिलक की पूजा के बाद देह को घर ले जाया गया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी सेना के वाहन के साथ-साथ चले और श्रद्धांजलि दी। तमिलनाडु के कुन्नूर में 8 दिसंबर को सीडीएस बिपिन रावत की हेलीकॉप्टर दुर्घटना में घायल हुए वरुण सिंह की बुधवार को मौत हो गई। वरुण 7 दिनों से बैंगलोर के एक अस्पताल में जिंदगी की जंग लड़ रहे थे।

पिता नहीं चाहते थे लोग परेशान हों, इसलिए अब बैरागढ़ में शुक्रवार को होगा अंतिम संस्कार
ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह का परिवार

 पिता नहीं चाहते थे लोग परेशान हों, इसलिए अब बैरागढ़ में शुक्रवार को होगा अंतिम संस्कार

स्थानीय प्रशासन की योजना वरुण का अंतिम संस्कार भदभदा विश्राम घाट पर करने की थी, लेकिन वरुण के पिता के कहने पर अब शुक्रवार को सुबह 11 बजे  संत हिरदाराम नगर  (बैरागढ़) में अंतिम संस्कार किया जाना है। दरअसल, पिता केपी सिंह ने कलेक्टर से कहा कि अगर वह भदभदा से अंतिम यात्रा ले जाएंगे तो शहर में जाम लग जाएगा। वह नहीं चाहते कि लोग उनके बेटे की वजह से शहरवासियों को किसी तरह की आवाजाही के दौरान परेशानी हो। 

Group captain varun singh को मां का अशीर्वाद
Group captain varun singh को मां का अशीर्वाद

अंतिम यात्रा का मार्ग कल ये हो सकता है

अंतिम संस्कार के लिए 6 किमी का मार्ग होगा- अंतिम यात्रा सन सिटी कॉलोनी, लालघाटी चौराहे और बैरागढ़ होते हुए बैरागढ़ विश्राम घाट पहुंचेगी। अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए उनके गृह जिले देवरिया (उत्तर प्रदेश) से परिवार के सदस्य भी भोपाल आ रहे हैं। Group Captain Varun singh की ससुराल इंदौर में है। उनकी पत्नी गीतांजलि के चचेरे भाई संजय सिंह ने बताया कि वरुण साल में एक या दो बार इंदौर आते थे। इसी माह शौर्य चक्र मिलने की खुशी में वे इंदौर में पार्टी देने आने वाले थे।

परिवार को  1 करोड़ का सम्मान राशि, नौकरी, स्मृति में प्रतिमा और स्मारक नामकरण

परिवार को  1 करोड़ का सम्मान राशि, नौकरी, स्मृति में प्रतिमा और स्मारक नामकरण 

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने Group Captain Varun singh के निधन पर दुख व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि शहीद वरुण सिंह को राजकीय और सैन्य सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी जाएगी। ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह के परिवार को एक करोड़ की सम्मान निधि दी जाएगी। उनके परिवार से बात कर सरकारी नौकरी, उनकी स्मृति में प्रतिमा निर्माण और स्मारकों के नामकरण जैसे विषयों पर चर्चा की जाएगी।

The Indian Air Force and family members of Group Captain Varun Singh paid their respects to the officer during a wreath-laying ceremony that was held at Yelahanka Air Force Station in Bengaluru today.#IndianAirForce #groupcaptainvarunsingh #IAF #VarunSingh #KnowYourHeroes pic.twitter.com/bXH0XOYiYQ

— Pratyush Kumar Jena (@Pratyus11327982) December 16, 2021

भोपाल की सनसिटी कॉलोनी में रहते है माता-पिता

शहीद वरुण के पिता और सेवानिवृत्त सेना कर्नल केपी सिंह भोपाल के एयरपोर्ट रोड स्थित सन सिटी कॉलोनी में रहते हैं। हालांकि, वरुण सिंह के परिवार का कोई भी सदस्य अभी यहां नहीं है और घर पर ताला लगा हुआ है।

पिछले माह दिवाली मनाने भोपाल आए थे वरुण
Group Captain Varun singh का पार्थिव शरीर जैसे ही उनके घर पहुंचा, लोगों ने वरुण सिंह अमर रहें के नारे लगाए।

पिछले माह दिवाली मनाने भोपाल आए थे वरुण

Group Captain Varun singh के पड़ोसी और सन सिटी उत्सव समिति कॉलोनी के अध्यक्ष दलजीत सिंह गुरुदत्त ने कहा कि ग्रुप कैप्टन वरुण पिछले माह दिवाली पर यहा अपने घर आए थे। वे बहुत मिलनसार था और कॉलोनी के बच्चों से वे गर्मजोशी से मिलते थे। वे जब भी आते थे तो सभी बच्चों से मिलते और कॅरियर को लेकर प्रोत्साहित करते थे। 

पड़ोसी महेंद्र त्यागी ने कहा कि वरुण के पिता मेरे अच्छे दोस्त हैं। वरुण को जब अस्पताल में भर्ती कराया गया तो मैंने उनके पिता से बात की। उन्होंने कहा बताया था कि बेटा वरुण अब ठीक है। हमें विश्वास नहीं हो रहा है कि वरुण सिंह अब हमारे बीच नहीं हैं। 

वरुण पत्नी और बच्चों के साथ वेलिंगटन में रहते थे

20 साल पहले वरुण सिंह का परिवार भोपाल शिफ्ट हो गया। उनके पिता सेवानिवृत्त कर्नल केपी सिंह और मां उमा सिंह सन सिटी कॉलोनी में रहती हैं। वहीं वरुण सिंह अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ तमिलनाडु के वेलिंगटन में रहते थे। उनके छोटे भाई तनुज नौसेना में लेफ्टिनेंट कमांडर हैं। उनकी पोस्टिंग मुंबई में है।

2008 में इंदौर में हुई थी Group Captain Varun singh की शादी
2008 में इंदौर में ग्रुप कैप्टन वरुण सिह ने गीतांजलि से शादी की थी।

2008 में इंदौर में हुई थी शादी

Group Captain Varun singh की ससुराल इंदौर में ही है। वरुण ने 20 जनवरी 2008 को इंदौर की गीतांजलि के साथ शादी की थी। जब वरुण उनसे मिले तो गीतांजलि पुणे के फर्ग्यूसन कॉलेज से बीए कर रही थी। उस दौरान वरुण और उनका परिवार भोपाल में रहता था।

अभिनंदन वर्धमान के बैचमेट थे वरुण सिंह

अभिनंदन वर्धमान के बैचमेट थे वरुण सिंह

ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह ग्रुप कैप्टन अभिनंदन वर्धमान के बैचमेट थे। अभिनंदन ने 27 फरवरी 2019 को भारत की सीमा में प्रवेश करने वाले पाकिस्तानी विमानों को खदेड़ दिया था। ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह डीएसएससी में तैनात हैं, उनका पूरा परिवार तमिलनाडु में रहता है। ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह कांग्रेस नेता और प्रवक्ता अखिलेश प्रताप सिंह के भतीजे थे।

Group Captain Varun Singh | 2021 Indian Air Force Mil Mi-17 crash | Group Captain Varun Singh Death | Group Captain Varun Singh Family | Group Captain Varun Singh Biography | 

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *