उग्रवादी संगठनों व केंद्र के बीच पीस एग्रीमेंटः नार्थ-ईस्ट के बागियों ने हिंसा छोड़ शांति को चुना

North East States peace agreement
Photo | PTI

North East States peace agreement: केंद्र सरकार व असम की सरकार ने नॉर्थ-ईस्ट के आठ उग्रवादी आदिवासी ग्रुप्स के साथ पीस एग्रीमेंट यानीकि शांति समझाैता किया है। इसके तहत पूर्वोत्तर उग्रवादी आदिवासी समूहों ने समझौते पर साइन किए और स्थायी शांति में भागीदार बनने में सरकार की मदद को आश्वासन दिया। वहीं सरकार ने भी उनकी मांगों पर विचार करने का आश्वासन दिया है। गृह मंत्री अमित शाह और असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा की उपस्थिति में इस डील पर हस्ताक्षर हुए।  

जानिए किन उग्रवादी संगठनों ने किए इस समझाैते पर हस्ताक्षर किए

केंद्र सरकार और असम के 8 आदिवासी उग्रवादी संगठनों ने असम के कुछ क्षेत्रों में स्थायी शांति के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए। ये हस्ताक्षर गृह मंत्री अमित शाह की मौजूदगी में किए गए। इस दौरान असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा भी मौजूद रहे। 

ऑल आदिवासी नेशनल लिबरेशन आर्मी, असम के आदिवासी कोबरा मिलिटेंट, बिरसा कमांडो फोर्स, संथाल टाइगर फोर्स और ट्राइबल पीपुल्स आर्मी सहित आठ आतंकवादी संगठनों ने शांति समझौते पर हस्ताक्षर किए। इस त्रिपक्षीय समझौते में केंद्र सरकार और राज्य सरकार भी शामिल हुईं। ये समूह 2012 से संघर्ष विराम पर हैं और अपने शिविरों में निवास कर रहे हैं।

This is very significant for Assam. Under the leadership of PM Modi, work is underway to make the northeast, the AshtaLakshmi of the country. In this connection, today 8 tribal militant outfits signed a peace pact with Govt of India and Govt of Assam: CM Himanta Biswa Sarma https://t.co/ERMFr9Axmf pic.twitter.com/75JU8flkHq

— ANI (@ANI) September 15, 2022

दो उग्रवादी संगठनों नहीं किया समझाैता

परेश बरुआ और कामतापुर लिबरेशन ऑर्गनाइजेशन के नेतृत्व में प्रतिबंधित उल्फा का कट्टरपंथी गुट शांति समझौते में शामिल नहीं हुआ। राज्य सरकार ने दावा किया है कि अन्य सभी सक्रिय विद्रोही समूहों ने सरकार के साथ शांति समझौता किया है।

इस साल कई गुटों ने किया आत्मसमरपण

राज्य सरकार की मानें तो जनवरी में तिवा लिबरेशन आर्मी और यूनाइटेड गोरखा पीपुल्स ऑर्गनाइजेशन के सभी कैडरों ने सरेंडर किया। इन लोगों ने भारी मात्रा में हथियार, गोला-बारूद भी सरकार को सौंपा। वहीं अगस्त में कुकी आदिवासी संघ के उग्रवादियों ने अपने हथियार डाले। दूसरी ओर दिसंबर 2020 में बोडो उग्रवादियों सहित एनडीएफबी के विभिन्न गुटों के 4100 से अधिक कैडरों ने हथियार डाले। 

North East States peace agreement | Peace Agreement | North East States | 

ये भी पढ़ें –  

 PK का नीतिश पर 2024 की तैयारी पर करारा तंजः  दो चार नेताओं से मिल चाय पी ले ने से सत्ता परिवर्तन नहीं होते

RSS की सहमति से निपटे गडकरी‚ जानिए शिवराज को क्यों दिखाया बाहर का रास्ता?

दिल्ली में अब राजपथ नहीं कर्तव्य पथ होगा नया नाम‚ भव्य वीडियो आया सामने‚ जानें क्या है खासियत‚ पीएम मोदी कल करेंगे उद्घाटन

 Motherhood: बांधवगढ़ में 15 माह के बेटे को बचाने के लिए टाइगर से अकेले भिड़ी मां‚ जानें पूरी घटना

 Mohali Swing Break : मोहाली में भीषण हादसा‚ झूले में बैठे लोग समझते रहे मौजी और अचानक 50 फीट ऊंचाई से जमीन पर आ गिरा झूला, हादसे का भयावह VIDEO VIRAL 

 Cyrus Mistry Passed Away: टाटा ग्रुप के पूर्व चेयरमैन साइरस मिस्त्री सड़क दुर्घटना में निधन: मुंबई के करीब पालघर में हुआ हादसा

आखिर क्या है सिंथेटिक ड्रग्स Methamphetamine जिसे सुधीर ने जबरन सोनाली फोगट को दिया‚ तीव्र यौन इच्छा बढ़ा कर कैसे इंसान को तड़पाता है ये नशा‚ जानिए

Sonali Phogat Passed Away: अभिनेत्री और हरियाणा से भाजपा नेता सोनाली फोगाट का हार्ट अटैक से निधन

 BJP संसदीय बोर्ड से गडकरी‚ शाहनवाज और शिवराज की छुट्टीःयेदियुरप्पा, सोनोवाल शामिल‚ ये है पार्टी की भावी रणनीति

जालौर की घटना पर पायलट की अपनी ही सरकार से पीड़ित परिवार के लिए न्याय की मांग‚ कहा- ‘क्राइम हर राज्य में होता है, सिर्फ ये कह देना काफी नहीं’

 Bihar political crisis Update: BJP-JDU गठबंधन टूट के बाद भी बिहार में नीतीश की बहार

President Draupadi Murmu : शक्षिका को पुटी नाम पसंद नहीं था‚ उन्होंने ही द्रौपदी नाम रखा‚ इकलौती बेटी हैं बैंक अधिकारी तो दामाद में रग्बी प्लेयर‚ जानिए राष्ट्रपति की अनछुई बातें

Presidential Elections: राजेंद्र प्रसाद से कोविंद तक जानिए राष्ट्रपतियों से जुड़े रोचक तथ्य, आपकी GK में खूब काम आएंगे 

झुंझुनूं के जगदीप धनखड़ NDA के उपराष्ट्रपति उम्मीदवार: भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने किया ऐलान

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *