जयपुर में कमल मुरझाए: कांग्रेस ने 10 में से 9 नगरपालिकाएं जीतीं, 1 पर निर्दलीय; पिछली बार 9 पर कमल था

nagarpalika-election-jaipur-jila

जयपुर जिले की 10 नगरपालिकाओं में भाजपा का सूपड़ा साफ हो गया। भाजपा यहां एक भी नगर पालिका में अपना बोर्ड नहीं बना सकी। 9 नगरपालिकाओं में कांग्रेस के अध्यक्ष बनें। इसके अलावा, एक नगर पालिका में कांग्रेस के बागी जीत गए। जयपुर जिले में भाजपा का खाता नहीं खुला।

खास बात यह है कि पिछले चुनाव में भाजपा ने जयपुर की 10 में से 9 नगरपालिकाओं में अपना बोर्ड बनाया था। केवल चाकसू नगरपालिका थी, जहाँ भाजपा नहीं जीती थी। ऐसे में इस बार पूरा मामला पलट गया है। इनमें से पहला कांग्रेस के पक्ष में शाहपुरा और विराटनगर नगरपालिका का परिणाम था। यहां दोनों चेयरमैन कांग्रेस के होने चाहिए।

कांग्रेस ने 10 साल बाद चौमूं, शाहपुरा पर कब्जा किया। इसके बाद, नवनिर्वाचित अध्यक्ष समर्थकों और पार्टी कार्यकर्ताओं, जिन्होंने कांग्रेस को जीता, जमकर आतिशबाजी की। जमकर नारेबाजी की। एक दूसरे को मिठाई खिलाया।

आपको बता दें कि जयपुर जिले के चामुण, रेणवाल, जोबनेर, फुलेरा, बगरू, चाकसू और सांभर झील नगर पालिकाओं में 220 निर्वाचित पार्षदों ने अध्यक्ष पद के लिए नामांकन दाखिल करने वाले 17 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला किया। उसी समय, 100 पार्षदों ने शाहपुरा, कोटपूतली और विराटनगर नगरपालिका बोर्ड के लिए मतदान किया और अपने बोर्ड के अध्यक्ष चुने।

10 नगरपालिकाओं में जीते:

शाहपुरा: 10 साल बाद कांग्रेस के अध्यक्ष बने, बंशीधर कांग्रेस के अध्यक्ष बने

10 साल बाद, कांग्रेस ने जयपुर जिले के शाहपुरा में नगरपालिका बोर्ड संभाला। कांग्रेस पार्षद बंशीधर सैनी यहां बोर्ड अध्यक्ष बन गए हैं। उन्होंने 35 में से 20 वोट हासिल करके चेयरमैन का चुनाव जीता। यहां बंशीधर को निर्दलीय पार्षद अर्जुन निठारवाल के खिलाफ खड़ा किया गया। अर्जुन ने 15 वोट हासिल किए।

विराट नगर: कांग्रेस उम्मीदवार को निर्दलीयों का समर्थन मिला

विराट नगर में कांग्रेस की सुमिता सैनी अध्यक्ष बनीं। उन्होंने चेयरमैन के चुनाव में 20 वोट हासिल किए। भाजपा उम्मीदवार को पांच वोट मिले। यहां निर्दलीय उम्मीदवारों ने कांग्रेस उम्मीदवार सुमिता का समर्थन किया। ऐसे में कांग्रेस ने विराट नगर में अपना बोर्ड बनाया। यहां नगर निगम चुनाव में 25 वार्डों में चुनाव हुए थे। जिसमें कांग्रेस को 15, भाजपा और निर्दलीय को 5-5 सीटें मिलीं।

चौमू: कांग्रेस के पूर्व विधायक के बेटे चेयरमैन बने

कांग्रेस ने चौमूं नगरपालिका पर भी कब्जा कर लिया। यहां, चौमूं विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के पूर्व विधायक भगवान सहाय सैनी के पुत्र विष्णु सैनी को नगरपालिका का अध्यक्ष चुना गया था। चौमू नगरपालिका में पूर्व बहुमत के साथ कांग्रेस का बोर्ड बन गया। भाजपा विधायक रामलाल शर्मा की प्रतिष्ठा यहां दांव पर थी। जानकारी के अनुसार, कांग्रेस ने 31 वार्डों में और भाजपा ने 12 वार्डों में जीत दर्ज की थी। इसके अलावा एक सीट निर्दलीय महेंद्र कुमावत ने जीती। वे चेयरमैन पद के उम्मीदवार भी थे। उसे एक वोट मिला। 45 पार्षदों में से 44 ने मतदान किया। यहां आरएलपी के निर्वाचित पार्षद पृथ्वीराज योगी ने वोट नहीं डाला। इनमें से विष्णु सैनी को 31 वोट मिले। जबकि भाजपा प्रत्याशी सुनील अग्रवाल को 12 मत मिले।

कोटपूतली: कांग्रेस का बोर्ड पर कब्जा, महिला उम्मीदवार बनीं चेयरमैन

कोटपूतली नगरपालिका में भी कांग्रेस का परचम लहराया। कांग्रेस की उम्मीदवार पुष्पा सैनी को यहां के अध्यक्ष पद के लिए चुना गया था। वह वकील दुर्गा प्रसाद सैनी की बहू हैं। पुष्पा सैनी को 22 मत प्राप्त हुए। उसने पहली बार चुनाव लड़ा था। यहां मतदान के दौरान 40 वें आखिरी वोट पर हंगामा हुआ। बताया जा रहा है कि नवनिर्वाचित पार्षद कपिल को आईडी कार्ड न होने के कारण वोट डालने नहीं दिया गया। हंगामा बढ़ता देख पुलिस मौके पर पहुंची। यहां भाजपा नेताओं ने मतदान में धांधली के आरोप लगाए। बीजेपी को यहां 18 वोट मिले।

चाकसू: कांग्रेस के बोर्ड, कमलेश बैरवा अध्यक्ष होंगे

भाजपा इस बार चाकसू नगर पालिका में अपना बोर्ड बनाने में विफल रही। यहां फिर से कांग्रेस बोर्ड का गठन किया गया। कांग्रेस के कमलेश बैरवा रविवार के वोट में 19 वोट हासिल कर बोर्ड के अध्यक्ष बन गए हैं। उनके प्रतिद्वंद्वी भाजपा के विनोद राजोरिया को 16 वोट मिले।

फुलेरा: कांग्रेस बोर्ड ने पूर्ण बहुमत के साथ उम्मीदवार नहीं उतारे

जिले की फुलेरा नगरपालिका में, पूर्ण बहुमत के साथ कांग्रेस बोर्ड का गठन किया गया था। भाजपा ने यहां अपना उम्मीदवार नहीं उतारा। कांग्रेस पार्षद संगीता अग्रवाल नगर पालिका अध्यक्ष होंगी। संगीता को 14 वोट मिले। यहां उन्हें एक स्वतंत्र पार्षद का सामना करना पड़ा। जिसे 11 वोट मिले। कांग्रेस की संगीता अग्रवाल और निर्दलीय उम्मीदवार पूजा भाटी के बीच मुकाबला था। फुलेरा पालिका बोर्ड के 25 वार्डों में से कांग्रेस के 14, भाजपा के 09 और 2 निर्दलीय पार्षद हैं। ऐसे में कांग्रेस प्रत्याशी संगीता अग्रवाल की जीत निश्चित मानी जा रही थी।

सांभर: कांग्रेस ने बीजेपी को हराया, बालकिशन कांग्रेस के अध्यक्ष बने

सांभर नगरपालिका में कांग्रेस के बालकिशन बोर्ड अध्यक्ष भी बने। बालकिशन को 14 वोट मिले। भाजपा के अनिल गट्टानी को 11 वोट मिले।

किशनगढ़ रेनवाल: कांग्रेस के अमित कुमार जैन चेयरमैन बने

कांग्रेस पार्षद अमित कुमार जैन जयपुर जिले में किशनगढ़ रेनवाल नगर पालिका के नगरपालिका अध्यक्ष बन गए हैं। अमित जैन को 24 वोट मिले। भाजपा प्रत्याशी नितिन शर्मा 11 मतों के साथ दूसरे स्थान पर रहे।

बगरु में बड़ा उलटफेर, कांग्रेस के बागी होकर चुनाव लड़ने वाले निर्दलीय मालूराम बने चेयरमैन

बगरू नगर पालिका में रविवार को हुए मतदान में बड़ा हंगामा हुआ। वार्ड सदस्य का चुनाव लड़ने वाले मलूराम मीणा ने कांग्रेस से टिकट न मिलने पर बगावत कर दी। वह पहले भी दो बार नगर पालिका के अध्यक्ष थे

जोबनेर: कांग्रेस की महिला चेयरमेन बनीं

जोबनेर नगर पालिका में कांग्रेस की महिला पार्षद देवी देवी नगरपालिका चेयरमैन बनीं। कांग्रेस की सौंदर्य देवी को 15 वोट मिले। वहीं भाजपा के प्रत्याशी धर्मवीर सिंह को सिर्फ 5 वोट मिले। यहां कड़ी पुलिस पुलिस के बीच मतदान सम्पन्न हुआ।

Like and Follow us on :

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *