टोक्यो ओलंपिक से घर पहुंची एथलीट तो फूट फूट कर रो पड़ी, परिजनों ने छिपा रखी थी ये बात

 

टोक्यो ओलंपिक से घर पहुंची एथलीट तो फूट फूट कर रो पड़ी, परिजनों ने छिपा रखी थी ये बात

एथलीट सुभा वेंकटरमन और धनलक्ष्मी शेखर शनिवार को टोक्यो ओलंपिक में भाग लेकर तमिलनाडु के तिरुचिरापल्ली में अपने घर लौट आईं। तिरुचिरापल्ली में दोनों का गर्मजोशी से स्वागत किया गया लेकिन फिर धनलक्ष्मी को एक बुरी खबर मिली। 

दरअसल, धाविका धनलक्ष्मी को पता चला कि उनकी बहन की बीमारी से मृत्यु हो गई थी। उस दौरान धनलक्ष्मी ओलंपिक में थीं। यह सूचना मिलते ही धाविका के पैरों से जमीन खिसक गई और वह फूट-फूट कर रोने लगी। बताया जा रहा है कि परिवार ने जानबूझकर इस बात को धनलक्ष्मी से छुपाया था।

 इसलिए परिजनों ने धनलक्ष्मी को बहन के मौत के बारे में नहीं बताया

खबरों के मुताबिक, धनलक्ष्मी की बहन उनके करियर में एक मजबूत सहारा बनकर खड़ी रहीं थी। उनका मानना ​​था कि धनलक्ष्मी निश्चित रूप से उनके जीवन में सफल होंगी। 

ऐसे में धनलक्ष्मी की मां उषा और परिवार ने ओलंपिक में उनके खेलने की अहमियत को समझा. परिवार को लगा कि अगर धावक को अपनी बहन के निधन के बारे में पता चलेगा तो उसका ध्यान ओलंपिक से हट सकता है। 

ऐसे में परिजनों ने धनलक्ष्मी को बहन के मौत के बारे में नहीं बताया। बता दें कि धनलक्ष्मी को एक उभरती हुई धावक माना जा रहा है।

धनलक्ष्मी को रिजर्व के रूप में रखा गया था

सुभा टोक्यो ओलंपिक में भारतीय मिश्रित 4×400 मीटर रिले टीम का हिस्सा थीं, उनके लिए धनलक्ष्मी को रिजर्व के रूप में रखा गया था। सुभा और धनलक्ष्मी ने कहा कि ओलंपिक में उनका मुकाबला काफी कड़ा था। 

उन्होंने बताया कि वे अगली बार कड़ी मेहनत करेंगी और पदक जीतने की कोशिश करेगी। आपको बता दें कि दोनों को सरकारी नौकरी देने का वादा किया गया है। 

सुभा और धनलक्ष्मी ने तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन को उन्हें सरकारी नौकरी देने के लिए धन्यवाद दिया।

Tokyo Olympic | Dhanshree | 

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *