Marriage 2022: शादी करते ही महिलाओं को नहीं करनी चाहिए ये गलतियां, यदि करती हैं तो होता है पछतावा, जानिए क्या है वो बातें Read it later

शादी करते ही महिलाओं को नहीं करनी चाहिए ये गलतियां
pixabay

                               

आज महिलाओं ने प्रूफ कर दिया है कि वे हर क्षेत्र में अपने बूते ही सक्षम हैं। ( Marriage 2022) वे पुरुषों से दो कदम आगे ही हैं, लेकिन आज भी महिलाओं को अपनी प्रोफेशनल लाइफ से ज्यादा पारिवारिक जीवन में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। शादी के बाद कई महिलाओं को और ज्यादा स्ट्रगल करना पड़ रहा है, लेकिन यदि आप शुरू से ही कुछ बातों का ध्यान रखेंगी तो इन परेशानियों को काफी हद तक आप कम कर सकतीं हैं। 

‘पावर ऑफ टू’ बुक के राइटर सुसान हेटलर के अनुसार, महिलाएं शादी के बाद अपनी ख्वाहिशों को छोड़कर अपने परिवार को खुश करने में लगी रहती हैं। वे कुछ करना तो चाहती हैं, लेकिन पारिवारिक जिम्मेवारियों के कारण वे अपने मन की बातों को मार लेती हैं। ऐसे में जब वे अपना पसंदीदा काम नहीं करतीं तो एक समय पर उनकी इस लाचारी से उनके अंदर गुस्सा जन्म ले लेता है।

यदि यह गुस्सा बाहर निकले तो कई समस्याएं खड़ी हो सकती हैं। इसलिए अपने दिल की ख्वाहिश और दूसरी बातों को अपने अंदर छुपाने की बजाय अपने पति से बात करें। अब बात घर के कामों को करने की, पति के साथ समय न बिता पाने की या सास-ससुर के प्रति जिम्मेदारियों की। शुरुआत में अगर कुछ भी बात करें तो जीवन को बेहतर तरीके से प्लान किया जा सकता है।

अपनी अपेक्षाओं या उम्मीदों के बारे में पति से बात करें
pixabay

 अपनी अपेक्षाओं या उम्मीदों के बारे में पति से बात करें

लुइसविले विश्वविद्यालय में कपल्स थैरेपी के सहायक प्रोफेसर परिवार और विवाह चिकित्सक एली करम के अनुसार, शादी के बाद जोड़े जो सबसे अच्छे काम करते हैं वो ये कि वे माता-पिता बनना, काम करने या न करने और फाइनेंशियल एक्सपेंसेज मैनेज को लेकर शुरुआत से ही क्लेरिटी रखते हैं और इस बारे में बात करते हैं। लेकिन कई कपल ऐसी बातें पहले क्लियर नहीं करते। 

अगर महिलाएं शादी के बाद शुरू से ही अपनी उम्मीदों के बारे में बात नहीं करती हैं तो बाद में उनके सामने मुश्किलें खड़ी हो सकती हैं। अगर आप शादी से पहले इन बातों को क्लियर नहीं कर पाई हैं तो शादी के बाद आपको अपने पार्टनर से जल्द से जल्द इन पर बात करनी चाहिए।

ये भी पढ़ें- बॉलीवुड, हॉलीवुड, कॉलीवुड व टॉलीवुड में ‘वुड’ लगने का क्या राज है?

 सही ढंग से अपनी बात को पति के सामने रखें

 वसीम बरेलवी का शेर कौन-सी बात कहाँ, कैसे कही जाती है ये सलीक़ा हो, तो हर बात सुनी जाती है…. आपको लगता है कि आपके पति आपकी बात नहीं सुन रहे हैं, तो आप उन तरीकों का पता लगाएं कि वो आपकी बात को सुनें और समझें भी। अपनी बात उन तक पहुंचाने के लिए या उन्हें समझाने के लिए एक ही तरीके को बार-बार न अपनाएं। 

हो सकता है आप जिस तरह से उन्हें समझाना चाह रही हों, वे उस तरीके को नहीं समझ पा रहे हों। कई बार ऐसा होता है कि सामने वाला समझ नहीं पाता कि आप क्या कहना चाहते हैं और आपकी बात पर उसे क्या कहना चाहिए। इसलिए अपनी कम्यूनिकेशन स्किल को सुधारें, ताकि आप अपनी बात उन तक पहुंचा सकें। 

सेहत पर ध्यान दें
pixabay

सेहत पर ध्यान दें

कई महिलाएं शादी के बाद अपनी सेहत को लेकर लापरवाह हो जाती हैं। जिससे उनका स्वास्थ्य दिन पर दिन बिगड़ता चला जाता है और उनका वजन भी बढ़ने लगता है। इसके बजाय, अपने स्वास्थ्य को जिम्मेदारी से लें और अपने स्वास्थ्य पर ध्यान दें। 

यदि आप ऐसा नहीं करती हैं, तो एक समय आएगा जब स्वास्थ्य को ठीक करना बहुत मुश्किल हो जाएगा और तब आपको एहसास होगा कि काश स्वास्थ्य का पहले से ही ध्यान रखा जाता। फिट रहने के लिए खान-पान पर ध्यान दें और हल्का व्यायाम करें।

सेक्स लाइफ को नजरअंदाज न करें
pixabay

सेक्स लाइफ को नजरअंदाज न करें

कई शादीशुदा मामलों में देखा जाता है कि महिलाएं घर के कामों के चलते सेक्स के लिए समय नहीं निकाल पाती हैं और यही पति के एक्स्ट्रा मैरिटेल अफेयर का कारण बनता है। आपको ये समझना होगा कि स्वस्थ यौन जीवन के कारण पति-पत्नी के बीच संबंध बहुत अच्छे बने रहते हैं और मूड भी ठीक रहता है। 

ये भी पढ़ें –  LGBTQIA+ का मतलब क्या है : पहनावे नहीं, सेक्सुशल प्रेफरेंस से पहचाने जाते हैं, जानिए इस समुदाय के बारे में वो सबकुछ जो आपको पता होना चाहिए 

इसलिए महिलाओं को भी अपने पति से प्यार करने के लिए समय निकालना चाहिए। एक्स्पटर्स की मानें तो रिश्ते में शारीरिक आकर्षण भी बहुत मायने रखता है, इसलिए खुद पर भी आप ध्यान दें, ताकि यौन आकर्षण के साथ आपका जीवन अच्छे से चलता रहे।

 ससुराल में शांति का महौल बना कर रखें

अक्सर कहा जाता है कि शब्द से अधिक कोई चोट नहीं होती, इसलिए हमेशा सोच समझकर और अच्छे लहजे में बात करनी चाहिए। यदि आपको कोई समस्या है तो उस बात को ससुराल में चिड़चिड़ी, उदासी या फिर तेज आवाज में बताने के बजाय सलीके यानि सभय तरीके से अपनी बात को रखें। ऐसा करने से सामने वाला आपकी बात को समझेगा और उसका हल निकालेगा। वहीं यदि आप गलत लहजे में बात करेंगी तो हो सकता है कि बात बनने की बजाय ज्यादा बिगड़ जाए।  

किसी पर निर्भर न रहें आत्मनिर्भर बनें
pixabay

 किसी पर निर्भर न रहें आत्मनिर्भर बनें

यह समझा जा सकता है कि घर संभालने वाली महिलाएं अक्सर वित्तीय खर्चों के लिए अपने पतियों पर निर्भर रहती हैं। कई बार जरूरत के समय पति से पैसे मांगने पर उन्हें अच्छा नहीं लगता। इसका कारण यह है कि महिलाओं को अपनी जिम्मेदारियों का एहसास होता है और उन्हें लगता है कि पति पर भार अधिक है, अगर वे कुछ अपने लिए पैसे मांगेंगीं तो पति की जेब पर अधिक भार पड़ सकता है। 

ऐसा करके ​महिलाएं मन को मार लेती हैं। अगर संभव हो तो महिलाएं कमाई के रास्ते खोज सकते हैं। उदाहरण के लिए, आप घर पर कोई छोटा काम कर सकती हैं, या आप नौकरी भी कर सकती हैं। इससे आप अपना कुछ खर्चा खुद भी निकाल सकती हैं और पति पर ज्यादा निर्भर रहने की जरूरत नहीं पड़ेगी।


 सेविंग कर के जरूर रखें

अगर आप नौकरी करती हैं तो सारा वेतन पति या सास को देने के बजाय वेतन का कुछ हिस्सा अपने पास भी रखें। दरअसल, आर्थिक मजबूती पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए जरूरी है। हो सकता है कि किसी आपात स्थिति के दौरान आपको अचानक किसी काम के लिए पैसों की जरूरत पड़े, तो आपको किसी से पूछने की जरूरत नहीं पड़ेगी। आप अपनी बचत का उपयोग कर सकती हैं और अपना व्यवसाय चला सकती हैं।

 Marriage 2022 | Indian Marriage | Indian woman | 

Like and Follow us on :

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *