sholay.com के डोमेन ओनर पर 25 लाख का फाइन:दिल्ली HC ने कहा- ‘शोले’ आईकॉनिक फिल्म, इसका टाइटल कमर्शियल इस्तेमाल के लिए नहीं

 

sholay.com

अगर ‘शोले’ (sholay film) को भारतीय सिनेमा (indian cinema) के इतिहास में एक प्रतिष्ठित फिल्म कहा जाए तो गलत नहीं होगा। यह फिल्म अपने आप में मील का पत्थर है। इसी को ध्यान में रखते हुए दिल्ली हाईकोर्ट ने शोले नाम से अपना कारोबार चलाने वाले शख्स पर 25 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। फिल्म शोले के मेकर्स ने इस शख्स के खिलाफ केस दर्ज कराया था।

एचसी में जस्टिस प्रतिभा एम सिंह ट्रेडमार्क मामले की सुनवाई कर रही थीं, जिसमें तर्क दिया गया था कि फिल्मों और उनके टाइटल को ट्रेडमार्क कानून के तहत मान्यता दी जा सकती है। जस्टिस सिंह ने इस तर्क को सही भी ठहराया है।

फिल्म प्रोड्यूसर्स ने एक कारोबारी पर शोले नाम की साइट चलाने पर दर्ज किया मुकदमा

शोले फिल्म के प्रोड्यूसर्स ने आरोप लगाया था कि एक बिजनेसमैन ने कई उल्लंघन करते हुए शोले नाम से डोमेन नेम रजिस्टर कराया, फिर शोले नाम से मैगजीन पब्लिश कराई और फिल्म की तस्वीरों वाली चीजों की बिक्री भी की। व्यापारी ने sholay.com नाम से एक वेबसाइट बनाई थी, जिसे उसने अमेरिका में रजिस्टर कराया था।

sholay.com

कोर्टन ने कहा ‘शोले’ आम शब्द नहीं खास है

कोर्ट का कहना है कि शोले आइकॉनिक फिल्म का नाम है, इसलिए इसे सुरक्षित रखना और इस नाम के गलत इस्तेमाल को रोकना जरूरी है। हाईकोर्ट ने कहा है कि शोले जैसे टाइटल आम शब्द कहलाए जाने की सीमा को पार गए हैं। इसलिए बिजनेसमैन को शोले फिल्म के प्रोड्यूसर्स शोले मीडिया एंड एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड और सिप्पी फिल्म्स प्राइवेट लिमिटेड- को 25 लाख रुपए देने होंगे। इसके लिए कोर्ट ने प्रतिवादी पक्ष को 3 माह का वक्त दिया है।

शोले इंडियन सिनेमा के इतिहास की सबसे बड़ी फिल्मों शुमार

कोर्ट ने कहा कि ‘शोले’ नाम से वेबसाइट बनाना और उस पर शोले की ही DVD समेत कई प्रोडक्ट्स बेचना साफ तौर पर बदइरादा है। यदि कोई फिल्म देश की कई पीढ़ियों के बीच लोकप्रिय रही है, तो वह शोले है। इस फिल्म के किरदार, डायलॉग, सेटिंग और बॉक्स ऑफिस पर इसका कलेक्शन अभूतपूर्व है। 

इसमें कोई संदेह नहीं है कि शोले भारतीय सिनेमा के इतिहास की सबसे बड़ी, रिकॉर्ड-ब्रेकिंग फिल्मों में से एक है। इसलिए शोले नाम को खास प्रोटेक्शन दिया गया है। कोर्ट ने यह फैसला 23 मई को सुनाया।

 

इधर बिजनेसमैन ने पैसा एंठने के लिए केस का आरोप लगाया 

प्रतिवादी पक्ष ने तर्क दिया कि फिल्म का टाइटल प्रोटेक्शन के लिए मान्य नहीं है और इंटरनेट के दौर में तो कंफ्यूजन की कोई जगह ही नहीं होनी चाहिए। ‘शोले’ शब्द तो डिक्शनरी में भी शामिल है। उन्होंने फिल्म निर्माताओं पर यह भी आरोप लगाया कि उन्होंने पैसे वसूलने के लिए यह केस दर्ज किया है।

sholay cast | sholay movie title | examine sholay as a landmark film in indian cinema | issue copyright registration | Sholay title of iconic film | Delhi HC | Sholay Media and Entertainment Pvt Ltd | Sippy Films Pvt Ltd | persons using the popular film title | 

आपको ये खबरें पसंद आ सकती हैं –

ये भी पढ़ें – सर गंगाराम ने बसाया था लाहौर‚ तो दिल्ली में वो एम्पीथियेटर बनाया जहां से क्वीन विक्टोरिया को भारत की महारानी घोषित किया गया

ये भी पढ़ें – ब्रिस्बेन की यूनिवर्सिटी का ये रिसर्च आपको सटीक बता देगा कि महिलाएं आखिर किस तरह के पुरुष ज्यादा पसंद करती हैं

ये भी पढ़ें –  यदि कहें कि जानवर भी समलैंगिक होते हैं तो क्या आप यकीन करेंगे, पढ़िए तथ्य और शोध पर आधारित पूरी खबर 

ये भी पढ़ें – क्या वाकई इलेक्ट्रिक कारें पर्यावरण के लिए बेहतर हैं? क्योंकि जर्मनी में इलेक्ट्रिक कार का जलवायु-सम्मत प्रभाव केवल कागज़ी रह गया है 

 ये भी पढ़ें -इन 5 सरकारी योजनाओं की मदद से महिलाएं अपना खुद का व्यवसाय शुरू कर सकती हैं

ये भी पढ़ें –  स्टालिन : ऐसा अत्याचारी जिसके मन में न्याय, दया या संवेदना रत्तीभर भी नहीं थी, किसी के लिए भी नहीं, उसके बीवी बच्चे भी उसके सामने थर थर कांपते थे  

ये भी पढ़ें –  कैंसर को हराने के बाद संजय दत्त की पहली तस्वीर: कोकिलाबेन अस्पताल से घर लौटे 61 वर्षीय संजू, वीडियो कॉल के जरिए बच्चों के जन्मदिन में शामिल हुए

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *