स्वतंत्रता दिवस पर परेश रावल ने कहा: कुछ लोगों को घर बैठे आजादी मिल गई तो वैल्यू नहीं, लेकिन हम सब एक हैं इसलिए मजबूत हैं

अभिनेता परेश रावल

बॉलीवुड अभिनेता परेश रावल ने एक इंटरव्यू में कहा कि उनके पास सरदार वल्लभभाई पटेल की भूमिका निभाने के बारे में याद रखने के लिए कुछ भी नहीं है। ऐसा इसलिए क्योंकि वे हमेशा मेरे विचारों में साथ रहता है, 

और मेरा हर दिन तरोताजा हो जाता है। उन्होंने यह भी कहा कि मैं हमारे देश के हालात को देखकर हर दिन और हर बार सरदार वल्लभभाई पटेल को याद करता हूं। 

मैं सरदार वल्लभभाई पटेल को हर दिन और हर समय याद करता हूं.. 

मैं सरदार वल्लभभाई पटेल को हर दिन और हर समय याद करता हूं..

फिल्म ‘सरदार’ में उप प्रधानमंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल की भूमिका में नजर आए परेश रावल ने कहा, “मैं उन्हें हर दिन और हर समय हमारे देश की स्थिति को देखते हुए याद करता हूं। 

मुझे लगता है कि अगर वह भारत के पहले पीएम होते जो किसी को निचला महसूस नहीं होने देते, तब का नजारा बहुत अलग होता। भारत का पूरा चरित्र और स्पाइन कुछ अलग ही होती।”

लोग बलिदानों को नहीं समझते या महत्व नहीं देते: परेश रावल

परेश को लगता है कि लोग इस स्वतंत्रता को प्राप्त करने के लिए किए गए बलिदानों को नहीं समझते हैं या महत्व नहीं देते हैं। परेश इसका दावा करते हुए कहते हैं, ‘कुछ लोगों को घर बैठे आजादी मिली है, 

कोई कीमत नहीं है। उदाहरण के लिए, एक नाटक में डायलॉग है, हर घर से खून बहता और हर घर से कोई मरता तो भावी पीढ़ियां देश की प्रगति के लिए काम करतीं।

एक भारतीय के तौर पर दुनिया के लिए योगदान..

परेश कहते हैं, “मुझे पता चला कि मैं कौन हूं और एक भारतीय के रूप में दुनिया में मेरा योगदान है। लंबे समय से हमारा इतिहास शिक्षा व्यवस्था से मिटता जा रहा है, या सही मायनों में जाहिर नहीं किया जा रहा था। 

लेकिन अब सोशल मीडिया के जमाने में उस नेरेटिव में सुधार किया जा रहा है। ये भी बड़ी जिम्मेदारी के साथ आता है।”

परेश कहते हैं हम साथ हैं तो मजबूत हैं

परेश बताते हैं, ”हम साथ हैं तो स्ट्रॉन्ग है। हमारी स्पाइन बहुत मजबूत होती है, शैलो नहीं है।  अतीत में कई हमले हुए हैं, लेकिन हमें तोड़ नहीं पाए। आज भी हिन्दुस्तान वही है, वास्तव में तो और गहरा हुआ है। 

Paresh Rawal Said Some People Still Do Not Understand The Value Of Freedom | Actor Paresh Rawal | Paresh Rawal Interview | Paresh Rawal on India Freedom |

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *