देखें VIDEO-बाप ने बेटे को दी खौफनाक मौत: व्यापारी ने 25 साल के पुत्र पर थिनर फेंक आग लगाई‚ डेढ़ करोड़ का हिसाब मांग रहा था पिता

बाप ने बेटे को दी खौफनाक मौत:

कहावत है… विनाश काले विपरीत बुद्धी…दरअसल बेंगलुरु (Bengaluru) के चामराजपेट (chamrajpet) से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है, (Father setting his son of fire) यहां एक पिता ने अपने ही बेटे को आग लगाकर मौत के घाट उतार दिया। जानकारी के अनुसार, पिता सुरेंद्र (Surendra) और उनके बेटे अर्पित (Arpit) के बीच कुछ दिनों से कारोबार को लेकर विवाद चल रहा था। अक्सर आपने सुना होगा कि कलयुगी पुत्र ने पिता को मारा पीटा या घर से निकाल दिया‚ लेकिनय यहां एक जवान बेटे को पिता ने महज इसलिए जिंदा जला दिया क्योंकि वो हिसाब नहीं दे पाया।

मतलब बेटा अपने पिता को सही ढंग से हिसाब नहीं दे पाया तो पिता ही बेटा का काल बन गया… और फिर विवाद इतना बढ़ गया कि राजस्थान के रहने वाले 55 वर्षीय सुरेंद्र ने पहले अपने 25 वर्षीय बेटे अर्पित पर सड़क किनारे पेंट थिनर फेंका और फिर उसे (Father setting his son of fire) माचिस से आग के हवाले कर दिया। यहां पिता पैसे के हिसाब में इतना चूर हो गया  कि उसकी बुद्धी ही फिर गई। बहरहाल पुलिस ने आरोपी पिता को गिरफ्तार कर लिया है। 

रामधारी सिंह दिनकर की कविता है कि… जब नाश मनुज पर छाता है..पहले विवेक मर जाता है.. यहां पिता का विवेक मर गया और वो अपने पुत्र का ही काल बन गया। सीसीटीवी में दिख रहा है कि जब पिता अपने बेटे को माचिस की तिली से आग लगाने की कोशिश कर रहा था तो बेटा पिता को रोक नहीं रहा है बस बचने की कोशिश कर रहा है‚ क्योंकि बेटे को कहीं न कहीं लगा था कि पिता उसे सिर्फ डरा रहे हैं‚ लेकिन  बेटे अर्पित को क्या पता था कि जिस पिता को वो पिता मान रहा है असल में पिता के रूप में वो रावण है।

बाप ने बेटे को दी खौफनाक मौत

पिता सुरेंद्र फेब्रिकेशन का बिजनेस करता हैं। उसका बेटा अर्पित दुकान संभालता था। (Father setting his son of fire) पिता ने बेटे से हिसाब मांगा तो अर्पित 1.5 करोड़ रुपए का हिसाब नहीं दे पाया, इसके बाद पिता-पुत्र में विवाद इतना बढ़ गया कि पिता गुस्से में अपना आपा खो बैठा… वो भूल गया कि जिस इंसान को वो आग के हवाले करने जा रहा है… वो उसका अपना खून.. अपना बेटा है।

CCTV में कैद हुआ घटनाक्रम

Father Surendra himself set fire to his son Arpit who died due to burn injuries.#bengaluru #karnataka #Father #Surendra #Arpit pic.twitter.com/9mtnNG6OjF

— Thumbs Up Bharat (@thumbsupbharat) April 7, 2022

यह पूरी घटना शुक्रवार (1 अप्रैल) को चामराजपेट के पास आजाद नगर की है। पूरी घटना वहां लगे सीसीटीवी में कैद हो गई। अर्पित आग की लपटों से घिरी सड़क पर दौड़ा। पड़ोसियों और गोदाम कर्मियों ने उसे बचाया और विक्टोरिया सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया। एक हफ्ते तक अस्पताल में भर्ती रहने के बाद गुरुवार (7 अप्रैल) को उनकी मौत हो गई।

आरोपी पिता के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज
बाएं पिता सुरेंद्र और दाएं बेटा अर्पित

पुलिस ने बताया कि उसका शरीर स्प्रिट या थिनर से भीगा हुआ था…. उसके पीछे उसका पिता दौड़ रहा था…. अर्पित अपने पिता से बार बार गुहार लगा रहा था… लेकिन गुस्से में तमतमाए पिता ने पुत्र की एक न सुनी…. अचानक बाप ने माचिस की तीली जलाकर अर्पित के शरीर पर फेंक दी पहला प्रयास विफल रहा तो दूसरे प्रयास में माचिस की तीली उसके बदन पर फेंकी और आग चिंगारी की तरह भड़क गई….. अर्पित उसी बाप के सामने धूं धूं कर जलता रहा। उसे अस्पताल ले जाया गया लेकिन दो दिन बाद उसकी मौत हो गई।

आरोपी पिता के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज

पुलिस उपायुक्त संजीव पाटिल ने बताया कि सुरेंद्र को गिरफ्तार कर लिया गया है और उसके खिलाफ आईपीसी की धारा 302 के तहत हत्या का मामला दर्ज किया गया है. पाटिल ने कहा कि हत्या का कारण आर्थिक लेन-देन था। इसी बात को लेकर 15-20 मिनट तक पिता-पुत्र में मारपीट होती रही।

व्यापार में घाटा होने से उनके पिता बहुत नाराज थे। इसके बाद पिता ने अपने बेटे पर पतली फेंकी, फिर उसने माचिस की डिब्बी से आग बुझाने की कोशिश की, लेकिन पहला प्रयास विफल रहा। दूसरी बार उसने आग पकड़ ली और अपने बेटे पर (Father Fired His Son) माचिस की तीली फेंक दी। पुलिस के मुताबिक सुरेंद्र राजस्थान का रहने वाला है, लेकिन कई सालों से बेंगलुरु में रह रहा है।

Father setting his son of fire | Bengaluru | Karnataka | Bengaluru | CCTV Video | CCTV Footage Of Video | Father Fired His Son | Father Vs Son In Karnataka Bengaluru

मुंबई लोकल में रेप : दुष्कर्म के बाद चलती ट्रेन से 24 वर्षीय महिला को फेंका, दो दिन बाद होश आया‚ हालत गंभीर 

Like and Follow us on :

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *