कृषि कानूनों पर घेराव: राहुल को पुराने वीडियो में कृषि सुधारों के पक्ष में बोलते देखा गया, नड्डा ने पूछा – यह जादू क्या है

rahul gandhi march against farmers bill 2020
Rahul Gandhi (C) along with party workers and members of parliament take part in a march towards Rashtrapati Bhavan on 24 dec.20 | Credit: AFP Photo


भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने रविवार को सोशल मीडिया पर राहुल गांधी के भाषण का एक पुराना वीडियो पोस्ट किया। इसमें राहुल किसानों को बिचौलियों से छुटकारा दिलाने और अपनी उपज सीधे उद्योगों को बेचने की वकालत कर रहे हैं। इस पर, नड्डा ने राहुल पर किसान आंदोलन की आड़ में राजनीति करने का आरोप लगाया।

ये क्या जादू हो रहा है राहुल जी?

पहले आप जिस चीज़ की वकालत कर रहे थे, अब उसका ही विरोध कर रहे है।

देश हित, किसान हित से आपका कुछ
लेना-देना नही है।आपको सिर्फ़ राजनीति करनी है।लेकिन आपका दुर्भाग्य है कि अब आपका पाखंड नही चलेगा। देश की जनता और किसान आपका दोहरा चरित्र जान चुके है। pic.twitter.com/Uu2mDfBuIT

— Jagat Prakash Nadda (@JPNadda) December 27, 2020

राहुल गांधी किसान आंदोलन के पक्ष में लगातार मोदी सरकार की घेराबंदी करते रहे हैं। हर मंच पर वह तीन नए कृषि कानूनों को किसान विरोधी बता रहे हैं। दरअसल, नए कानूनों के मुताबिक, किसान अपनी फसल सीधे बाजार में कहीं से भी बेच सकते हैं। इसके जवाब में, जेपी नड्डा ने वीडियो पोस्ट किया और लिखा, “यह जादू क्या हो रहा है राहुल जी?” पहले जो आप वकालत कर रहे थे, अब आप उसका विरोध कर रहे हैं।

क्या है राहुल के वीडियो में?

राहुल गांधी का यह वीडियो काफी पुराना है। लोकसभा में उन्होंने कहा- कुछ साल पहले यूपी में मेरा दौरा था। एक किसान ने मुझसे एक सवाल पूछा। उन्होंने कहा कि राहुल जी, कृपया हमें एक बात समझाएं। हम आलू दो रुपये किलो में बेचते हैं, लेकिन जब हमारे बच्चे चिप्स खरीदते हैं, तो 10 रुपये का पैकेट आता है। इसमें एक आलू होता है। किसान ने मुझसे पूछा कि हमें बताओ कि क्या जादू हो रहा है। मैंने किसानों से पूछा कि इसका कारण क्या है।

उन्होंने कहा कि राहुल जी की वजह यह है कि कारखाने हमसे दूर हैं। अगर हम अपना माल सीधे कारखाने में बेच पाते, तो बिचौलियों को फायदा नहीं होता और हमें सारा पैसा मिल जाता। फूड पार्क के पीछे यही सोच थी। राहुल ने तब मोदी सरकार पर अमेठी की फूड पार्क परियोजना को रोक देने का आरोप लगाया था।

Like and Follow us on :

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *