IAS की पत्नी रोते हुए बोलीं-विजिलेंस अधिकारियों ने मेरे बच्चे को मार डाला… देखें VIDEO

Sanjay Popli

पंजाब के एक वरिष्ठ आईएएस अधिकारी ( IAS Sanjay Popli) के बेटे की गोली लगने से मौत हो गई है। घटना के वक्त विजिलेंस की टीम चंडीगढ़ में सीनियर आईएएस के आवास पर छापेमारी करने पहुंची थी। परिवार का आरोप है कि विजिलेंस टीम ने उनके बेटे को गोली मार दी। जबकि चंडीगढ़ के एसएसपी कुलदीप चहल का कहना है कि आईएएस बेटे ने अपनी लाइसेंसी पिस्टल से खुद को गोली मार ली। इकलौते बेटे की मौत के बाद मां ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए शपथ ली है कि वह अपने बेटे के खून से सने हाथ तब तक नहीं धोएगी जब तक आरोपी पुलिसकर्मियों को उनकी वर्दी से नहीं हटाया जाता।

मामला क्या है?

पंजाब में वरिष्ठ आईएएस संजय पोपली पर र्पूव में भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे। उन्हें चार दिन पहले विजिलेंस ने गिरफ्तार किया था। आईएएस संजय पोपली पंजाब सरकार में पेंशन निदेशक के पद पर तैनात थे। आरोप था कि सीवरेज बोर्ड के सीईओ रहते हुए उन्होंने 7.3 करोड़ रुपये के सीवरेज प्रोजेक्ट में 1 फीसदी कमीशन मांगा था। 

जिसमें से 3.50 लाख की पहली किश्त दी जा चुकी है। दूसरी किस्त के लिए दबाव बनाने पर हरियाणा के करनाल के ठेकेदार ने पंजाब के सीएम की भ्रष्टाचार निरोधक हेल्पलाइन पर शिकायत की थी। जिसके बाद पोपली को गिरफ्तार कर लिया गया। इस गिरफ्तारी के बाद विजिलेंस संजय पोपली के ठिकानों पर पहुंच गई थी।

#WATCH | Chandigarh: “They tortured my child & killed him. They tortured my domestic help for evidence. Entire vigilance bureau & the DSP are under the pressure from CM. This is the way they are killing people,” said mother of Kartik Popli who died of a gunshot wound in the head pic.twitter.com/EHlApYFUxM

— ANI (@ANI) June 25, 2022

पोपली के बेटे व विजिलेंस में विवाद हुआ था!

बताया जा रहा है कि संजय पोपली को शनिवार को मोहाली कोर्ट में पेश किया जाना था। परिवार का आरोप है कि संजय पोपली पर झूठे बयान देने का दबाव बनाया जा रहा था। विजिलेंस कुछ रिकवरी करने के लिए आरोपी अधिकारी के घर गई थी। इस दौरान विजिलेंस अधिकारियों और संजय पोपली के बेटे कार्तिक के बीच कहासुनी हो गई। 

कार्तिक की मां ने बताया कि जब वह ऊपर गई तो देखा कि विजिलेंस के जवान उनके बेटे के​ सिर पर पिस्टल ताने हुए थे। उन्होंने मुझे नीचे भेज दिया.. मैं जैसे ही नीचे पहुंची, तो गोली की आवाज सुनी। संजय पोपली की पत्नी ने बताया कि कार्तिक को विजिलेंस ने गोली मारी थी।

IAS Sanjay Popli’s son killed, shot in the head, Mother has accused Punjab vigilance team of firing.
Turbulent times continue in Punjab under reckless @AAPPunjab regime pic.twitter.com/M2Kei5EiEg

— Manjinder Singh Sirsa (@mssirsa) June 25, 2022

कार्तिक की मां ने लगाया विजिलेंस पर बेट की हत्या का आरोप

संजय पोपली की पत्नी ने मीडिया को बताया कि विजिलेंस अधिकारी हम पर दबाव बना रहे थे और मेरे घरेलू नौकर को भी प्रताड़ित कर रहे थे कि उन्होंने जो मामला दर्ज किया है उसके समर्थन में झूठा बयान दिया जाए। मेरा 27 साल का बेटा चला गया है। वे एक बेहतरीन वकील था। उन्होंने मेरे बेटे को छीन लिया। उन्होनें अपने बेटे का खून दिखाते हुए कहा कि उन्होंने झूठा मामला बनाने के लिए मेरे बेटे को छीन लिया।

#WATCH | I am an eye-witness, they (police officials) are taking me….my son was shot by them…: IAS officer Sanjay Popli https://t.co/5GgDWrlxED pic.twitter.com/SsIj4ov9q4

— ANI (@ANI) June 25, 2022

मुझे इंसाफ चाहिए…

कार्तिक की मां ने कहा कि मुझे इंसाफ चाहिए… मैं कोर्ट का रुख करूंगी। मेरा बेटा मारा गया है। पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान को जवाब देना होगा…। उन्होंने आरोप लगाया कि छापेमारी करने आए विजिलेंस के लोग कार्तिक को ऊपर ले गए और जब मैं ऊपर गई तो मेरे बेटे को मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रहे थे। यहां तक ​​कि हमारे मोबाइल फोन भी छीन लिए गए।

पोपली परिवार की पड़ोसी और पारिवारिक मित्र 51 वर्षीय महिला ने आरोप लगाया कि संजय पोपली पर विजिलेंस द्वारा लगाए गए आरोपों को मानने के लिए दबाव बनाया जा रहा था। महिला ने बताया कि कार्तिक पोपली को भी घंटों हिरासत में रखा गया।

 ये भी पढे़ं  – तीस्ता सीतलवाड़ पर ATS का शिकंजा: गुजरात दंगें केस में साजिश रचने का आरोप, सुप्रीम कोर्ट ने भी कही थी जांच की बात 

ये भी पढे़ं – Amit Shah Interview: गुजरात दंगों पर गृहमंत्री अमित शाह बोले-सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने सिद्ध कर दिया कि आरोप पॉलिटिकली मोटिवेटिड थे, पढ़िए पूरे इंटरव्यू में और क्या कहा?

ये भी पढ़ें –   सिर्फ नाक-मुंह नहीं पीछे गूदा द्वार से भी इंसान सांस ले सकेंगे, जानिए पूरा मामला

IAS Sanjay Popli | Chandigarh | Punjab police | Bhagwant Mann

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *