राजस्थान में मंत्रिमंडल विस्तार: गहलोत सरकार में 11 कैबिनेट और 4 नए राज्यमंत्री लेंगे शपथ, पायलट खेमे से 4 मंत्री बनेंगे, 2 राज्यमंत्री का कद बढ़ेगा

राजस्थान में मंत्रिमंडल विस्तार

गहलोत कैबिनेट में रविवार को बड़ा फेरबदल होने जा रहा है। नए मंत्रिमंडल में 11 कैबिनेट और 4 नए राज्य मंत्री शपथ ले सकते हैं। यह शपथ ग्रहण समारोह शाम चार बजे राजभवन में होगा। इससे पहले गहलोत कैबिनेट के सभी मंत्रियों के इस्तीफे लिए गए। 

इनमें से रघु शर्मा, हरीश चौधरी, गोविंद सिंह डोटासरा के इस्तीफों को स्वीकृत कर लिया गया है। नए मंत्रियों के नाम तय हो गए हैं। पायलट कैंप से 4 मंत्री बनने वाले हैं। 2 राज्य मंत्रियों को पदोन्नत कर कैबिनेट मंत्री का दर्जा मिलेगा।

कुल 15 मंत्री बनेंगे

11 कैबिनेट मंत्री: हेमाराम चौधरी, महेंद्रजीत सिंह मालवीय, रामलाल जाट, महेश जोशी, विश्वेंद्र सिंह, रमेश मीणा, ममता भूपेश, भजनलाल जाटव, टीकाराम जूली, गोविंद मेघवाल, शकुंतला रावत।

4 राज्य मंत्री: जाहिदा, बृजेंद्र ओला, राजेंद्र गुढ़ा और मुरारीलाल मीना

पहले चरण में इन तीन मंत्रियों को ड्रॉप किया जाना है। सभी मंत्रियों को रविवार दोपहर 2 बजे प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय बुलाया गया है, वहां से सभी राजभवन जाएंगे। मंत्री बनने वाले नए विधायकों को आज रात फोन से सूचित कर दिया गया है। शनिवार शाम सीएम आवास पर हुई मंत्रिपरिषद की बैठक में सभी मंत्रियों से इस्तीफा ले लिया गया। जिन 3 मंत्रियों को हटाया गया है, उनके इस्तीफे ही मंजूर हुए हैं।

मंत्रियों के विभागों में बड़ा फेरबदल तय

माना जा रहा है कि मंत्रियों के विभागों में बड़ा फेरबदल होना तय माना जा रहा है। कुछ मंत्रियों को छोड़कर अधिकांश के विभाग बदले जाएंगे। मंत्रियों के विभाग भी कांग्रेस आलाकमान के स्तर पर तय किए गए हैं, इनका निर्णय शपथ ग्रहण समारोह के बाद लिया जाएगा।

जानिए कैसी हो सकती है गहलोत सरकार की नई कैबिनेट…


1. गोविंद सिंह डोटासरा की जगह जाट और रघु की जगह ब्राह्मण चेहरा लाने की कवायद

कैबिनेट में गोविंद सिंह डोटासरा, हरीश चौधरी और रघु शर्मा की जगह नए चेहरों को जगह दी गई है. दो जाट और एक ब्राह्मण चेहरे को मौका दिया गया है. दोतासरा और हरीश चौधरी की जगह रामलाल जाट, बृजेंद्र सिंह ओला, हेमाराम चौधरी को जाट चेहरे के तौर पर मौका दिया गया है।

रघु शर्मा की जगह महेश जोशी को बनाया गया है. हेमाराम, रामलाल जाट और ओला पूर्व में गहलोत के साथ मंत्री भी रह चुके हैं। महेश जोशी शुरू से ही गहलोत के बेहद करीबी माने जाते हैं और फिलहाल सरकार के मुख्य सचेतक हैं।

राजेंद्र सिंह गुढ़ा को राज्य मंत्री बनाया गया है
राजेंद्र सिंह गुढ़ा को राज्य मंत्री बनाया गया है।

2. बसपा से कांग्रेस में शामिल होने वाले गुढ़ा बनेंगे राज्यमंत्री 

बसपा से कांग्रेस में शामिल होने वालों में राजेंद्र सिंह गुढ़ा को राज्य मंत्री बनाया गया है। बसपा से कांग्रेस में शामिल हुए छह विधायक अपनी दावेदारी ठोक रहे थे, ऐसे में शेष पांच को संसदीय सचिव या राजनीतिक नियुक्तियां देकर संतुष्ट किया जा सकता है।

मास्टर भंवरलाल के स्थान पर ममता भूपेश, टीकाराम जूली की पदोन्नत

                             मास्टर भंवरलाल के स्थान पर ममता भूपेश

3. मास्टर भंवरलाल के स्थान पर ममता भूपेश, टीकाराम जूली की पदोन्नत

मास्टर भंवरलाल मेघवाल के निधन के बाद गहलोत सरकार में कोई दलित काबीना मंत्री नहीं है। मास्टर भंवरलाल मेघवाल के स्थान पर राज्य के दो दलित मंत्रियों को पदोन्नत किया गया है। गोविंद मेघवाल को काबीना मंत्री बनाया गया है। बता दें कि गोविंद मेघवाल वसुंधरा राजे के पहले कार्यकाल में संसदीय सचिव रहे थे, बाद में वे भाजपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो गए।

4. मालवीय होंगे मंत्रिमंडल में आदीवासी चेहरा

महेंद्रजीत मालवीय को आदिवासी चेहरे के रूप में मंत्री बनाया गया है। मालवीय इससे पहले भी मंत्री रह चुके हैं। मालवीय की पत्नी जिलाध्यक्ष हैं।

5. शकुंतला गुर्जर समुदाय से तो अल्पसंख्यक से होंगी जाहिदा

जाहिदा को अल्पसंख्यक समुदाय से राज्य मंत्री बनाया गया है. शकुंतला रावत को गुर्जर चेहरे के रूप में मंत्री बनाया गया है। कांग्रेस की अंदरूनी राजनीति के लिहाज से गुर्जर चेहरों को मौका मिलने की पूरी संभावना थी। जाहिदा खान इससे पहले संसदीय सचिव रह चुकी हैं। डॉ. जितेंद्र गहलोत के पिछले कार्यकाल में वे ऊर्जा मंत्री रहे हैं।

सचिन पायलट खेमे से 4 से 5 मंत्री बनने की अटकलें

6. सचिन पायलट खेमे से 4 से 5 मंत्री बनने की अटकलें

सचिन पायलट खेमे से 4 से 5 मंत्री बनने की अटकलें सामने आ रही हैं। पायलट खेमे से मुरारीलाल मीणा, दीपेंद्र सिंह शेखावत, बृजेंद्र सिंह ओला, हेमाराम चौधरी, रमेश मीणा के मंत्री बनने की संभावना है।

7. 13 जिलों से कोई मंत्री नहीं, इन जिलों से भी बनेंगे मंत्री

गहलोत सरकार में फिलहाल 13 जिलों से कोई भी मंत्री नहीं है। उदयपुर, प्रतापगढ़, डूंगरपुर, भीलवाड़ा, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़, चुरू, झुंझुनू, सिरोही, धौलपुर, टोंक, सवाई माधोपुर और करौली जिलों में अभी तक एक भी मंत्री नहीं बनाया गया है, ऐसे में इन जिलों को भी कैबिनेट में जगह देने की संभावना है।

cabinet minister of Rajasthan 2021  | who is the health minister of Rajasthan | who is the education minister of Rajasthan 2021 | Rajasthan cabinet reshuffle | Rajasthan cabinet reshuffle 2021

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *