Maharashtra Political Crisis: शिंदे का कुर्सी ही नहीं शिवसेना पर ही दावा, उद्धव ने सीएम हाउस छोड़ा

Maharashtra Political Crisis
मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सरकारी आवास वर्षा को खाली कर दिया है। फोटोः एएनआई

                         

Maharashtra Political Crisis Live Updates: दो दिन से सरकार बचाने की जुगत में लगे उद्धव अब अपनी पार्टी के अस्तित्व को बचाने में जुटे हैं। शिंदे ने सरकार ही नहीं, सीधे पार्टी पर ही दावा ठोक दिया है। शिंदे कुछ देर में  प्रेस कॉन्फ्रेंस भी कर सकते हैं। इधर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सरकारी आवास वर्षा को खाली कर दिया है। वह अपने पैतृक आवास मातोश्री चले गए हैं। उनका सामान भी सीएम आवास से निकाला गया है। 

इससे पहले शिवसेना ने व्हिप जारी कर बुधवार शाम 5 बजे पार्टी विधायकों की बैठक बुलाई थी। उससे करीब 1 घंटा पहले पहले एकनाथ शिंदे ने पार्टी व्हिप को अवैध बता चीफ व्हिप सुनील प्रभु को हटाने की घोषणा कर दी। साथ ही भरत गोगावले को इस पद पर नियुक्त भी कर दिया। साथ ही शिंदे ने विधायक दल के नेता होने का दावा ठोकते हुए 34 विधायकों के समर्थन वाली चिट्ठी राज्यपाल को भेज दी।

#WATCH | Luggage being moved out from Versha Bungalow of Maharashtra CM Uddhav Thackeray in Mumbai pic.twitter.com/CrEFz729s9

— ANI (@ANI) June 22, 2022

#WATCH Shiv Sena workers gather outside Maharashtra CM Uddhav Thackeray’s residence ‘Matoshree’ to express their support, in Mumbai pic.twitter.com/WtpciHr5ZX

— ANI (@ANI) June 22, 2022

#WATCH Uddhav Thackeray will remain the Chief Minister of Maharashtra, says Shiv Sena leader Sanjay Raut in Mumbai.#Maharashtra pic.twitter.com/WgcIIacVgx

— ANI (@ANI) June 22, 2022

इसके बाद चौकानें वाली महाराष्ट्र की राजनीतिक तस्वीर आई।  उद्धव का दफ्तर सीएम हाउस खाली किया जाने लगा। उद्धव भी वहां से निकले।  इसके बाद कर्मचारी उनका सामान निकालने लगे और इस बीच मातोश्री के बाहर सैकड़ों शिवसैनिक जमा हो गए।

शरद पवार भी मौजूदा स्थिति को भांपते हुए उद्धव को सलाह दे चुके थे कि सीएम पद पर शिंदे को ही बैठा दो। उधर, शिंदे आक्रामक ही रहे। बोले- गठबंधन बेमेल है और इसमें शिवसेना कमजोर हो रही है। गठबंधन से बाहर आना जरूरी है।

Maharashtra Political Crisis
शिंदे ने कहा कि बीते ढाई साल में एमवीए सरकार केवल घटक दलों को ही फायदा पहुंचाती रही। फाइल फोटो।

शिवसेना का घटक दलों द्वारा व्यवस्थित तरीके से गबन किया जा रहा है इसलिए महराष्ट्र के हित में निर्णय लेने की घड़ी 

१. गेल्या अडीच वर्षात म.वि.आ. सरकारचा फायदा फक्त घटक पक्षांना झाला,आणि शिवसैनिक भरडला गेला.

२. घटक पक्ष मजबूत होत असताना शिवसैनिकांचे – शिवसेनेचे मात्र पद्धतशीर खच्चीकरण होत आहे. #HindutvaForever

— Eknath Shinde – एकनाथ शिंदे (@mieknathshinde) June 22, 2022

शिंदे ने कहा कि बीते ढाई साल में एमवीए सरकार केवल घटक दलों को ही फायदा पहुंचाती रही। शिवसैनिकों को भारी नुकसान हुआ। घटक दल मजबूत हो रहे हैं। शिवसेना का संगठनात्मक तरीके से गबन किया जा रहा है। पार्टी और शिवसैनिकों के अस्तित्व के लिए अस्वाभाविक मोर्चे से बाहर निकलना जरूरी है। महाराष्ट्र के हित में अब निर्णय लेने की घड़ी है।

शिंदे का खेमा शाम तक और हुआ मजबूत

शिंदे खेमा उस दौरान और मजबूत दिखाई दिया, जब शाम करीब साढ़े आठ बजे और 4  विधायक गुवाहाटी पहुंच गए। इनमें 2 शिवसेना और 2 निर्दलीय शामिल हैं। ये विधायक गुलाब राव पाटिल, योगेश कदम, मंजुला गाबित और चंद्रकांत पाटिल हैं। 4 नए विधायक पहुंचने के बाद कुल विधायकों की संख्या अब 39 पहुंच गई है।  

#WATCH Maharashtra CM Uddhav Thackeray reaches ‘Matoshree’ after leaving CM residence#Mumbai pic.twitter.com/bSZrifjAj1

— ANI (@ANI) June 22, 2022

#WATCH Maharashtra CM Uddhav Thackeray arrives at his family home ‘Matoshree’ after leaving CM residence, in Mumbai

Hundreds of Shiv Sena workers gather outside ‘Matoshree’ to express their support pic.twitter.com/XGrVhsbNFb

— ANI (@ANI) June 22, 2022

इससे पहले एकनाथ शिंदे अपने साथ कुल 46 विधायक होने का दावा कर रहे हैं। संजय राउत ने विधानसभा भंग करने की बात कह दी। शिंदे को शिवसेना के 34 विधायकों के समर्थन वाली चिट्ठी सामने आई है।

साफ है सरकार के साथ पार्टी पर भी कब्जा करने की कोशिश। शिंदे दावा कर रहे हैं कि उनके पास 46 विधायक हैं। हालांकि, गुवाहाटी में अभी शिवसेना के 35 और 2 निर्दलीय विधायक हैं। 3 और विधायक महाराष्ट्र भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल के साथ गुवाहाटी के लिए निकल चुके हैं। यानी कुल 40 विधायक।

उद्धव ने शाम को फेसबुक लाइव किया। कहा कि शिंदे सामने तो आएं, सामने आकर कहें कि सीएम पद पर मैं न बैठूं तो मैं सबकुछ छोड़न को तैयार हूं। इस स्पीच के बाद ही शरद पवार उद्धव से मिलने पहुंचे थे। करीब एक घंटे चली बैठक में  पवार ने उद्धव को सलाह दी है कि शिंदे को ही मुख्यमंत्री बना दो।

महाराष्ट्र राजनीति में नेताओं के बयानों क बयार

 एकनाथ शिंदे- हमारे पास 46 विधायक हैं और ये बढ़ेंगे। आगे की रणनीति हम सभी विधायकों के साथ मिलकर तय करेंगे। शिवसेना तोड़ने का कोई इरादा नहीं। हम किसी दूसरी पार्टी के संपर्क में नहीं हैं।

 संजय राउत- महाराष्ट्र में 2 या 3 दिनों में क्या होगा यह कोई नहीं जानता। भाजपा के समर्थन के बिना शिवसेना के विधायकों का अपहरण नहीं किया जा सकता था।

 कमलनाथ- कांग्रेस और राकांपा महाराष्ट्र विकास अघाड़ी सरकार को अपना समर्थन जारी रखेगी। मैंने शरद पवार जी से भी बातचीत की है। उन्होंने आश्वासन दिया है कि वे गठबंधन सरकार को अपना समर्थन जारी रखेंगे। इसके अलावा कोई इरादा नहीं है। मुझे भरोसा है कि शिवसेना के बागी शिवाजी महाराज के राज्य को चोट नहीं पहुंचाएंगे।

 नितिन राउत- कैबिनेट मीटिंग में उद्धव ठाकरे खुश थे। उनके चेहरे पर कोई टेंशन नहीं दिख रही थी। यह संकेत है कि महाराष्ट्र में सरकार खतरे में नहीं है।

भाजपा ने कहा ये शिवसेना का अंदरूनी मामला

इधर मुंबई में भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस ने पार्टी के नेताओं के साथ बैठक की है। इसके बाद भाजपा नेता रावसाहेब पाटिल दानवे ने कहा कि शिवसेना के किसी विधायक कि हमसे बातचीत नहीं हुई है। हमने एकनाथ शिंदे से बात नहीं की है। यह शिवसेना का अंदरूनी मासला है। बीजेपी का इससे कोई लेना-देना नहीं है। हम सरकार बनाने का कोई दावा नहीं कर रहे हैं। 

महाराष्ट्र में विधायकों को एक साथ रखने के लिए कांग्रेस ने कमलनाथ और NCP ने सुप्रीया सुले को जिम्मेदारी सौंपी है। फोटोः एएनआई

भाजपा ‘तेल देखो तेल की धार देखो’ की स्थिति में

भाजपा अभी भाजपा वेट एंड वाच की स्थिति में है। मुंबई के अलग-अलग इलाकों में बीजेपी नेता मीटिंग कर रहे हैं। एनसीपी की मीटिंग वाईबी चव्हाण हॉल में हुई है। इसमें पार्टी के सभी विधायकों को शरद पवार से संबोधित किया है।

कांग्रेस की अपने विधायकों को खरी खरी

बालासाहब थोराट के निवास पर कांग्रेस के विधायकों की बैठक हुई है। इसमें कमलनाथ ने सभी विधायकों को संबोधित किया। शिवसेना ने सभी विधायकों के नाम एक पत्र जारी कर शाम पांच बजे तक सभी को मुंबई आने के लिए भी कहा। यदि वे शाम की मीटिंग में शामिल नहीं होते हैं तो उनकी पार्टी की सदस्यता रद्द कर दी जाएगी।

 

आज महाराष्ट्र की राजनीति में क्या क्या हुआ?

1. शरद पवार सुप्रिया सुले के साथ उद्धव ठाकरे से मिलने सीएम हाउस वर्षा पहुंचे थे। यहां एक घंटे तक दोनों की बैठक चली।

2. वहीं उधर शिवसेना विधायक महाराष्ट्र भाजपा के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल के साथ गुवाहाटी के लिए निकले।

3. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने फेसबुक के माध्यम से महाराष्ट्र की जनता को संबोधित किया। और शिंदे व अन्य बागी विधायकों से बातचीत की बात कही। इस दौरान उद्धव राजनीतिक स्तर पर कमजोर नजर आए।

4. नितिन देशमुख सूरत से नागपुर आए और पुलिस पर जोर-जबरदस्ती का आरोप लगाया। 

5. NCP ने कल विधायक दल की बैठक बुलाई है। शरद पवार और सुप्रिया सुले इस बैठक में शामिल हो सकते हैं।

Maharashtra Political Crisis Live Updates | Uddhav Thackeray Vs Eknath Shinde | Shivsena Crisis Latest News | 

ये भी पढ़ें – Eknath Shinde: महाराष्ट्र सरकार हिलाने वाले उद्धव ठाकरे के खासमखास एकनाथ शिंदे कौन हैं और क्यों नाराज हैं?

ये भी पढ़ें –  Maharashtra Political Crisis: क्या महाराष्ट्र में उद्धव सरकार जाएगी? शिंदे भाजपा से गठबंधन पर अड़े‚ शिंदे के साथ सभी MLA  को एयरलिफ्ट कर गुवहाटी ले जाने की तैयारी


Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *