मशहूर गायक भूपिन्दर सिंह का निधन: 10 दिन पहले अस्पताल में हुए थे भर्ती, कोरोना के बाद कार्डियक अरेस्ट हुआ Read it later

Singer Bhupinder Singh Passes Away

Singer Bhupinder Singh Passes Away: मशहूर गायक भूपिंदर सिंह का लंबी बीमारी के बाद सोमवार को निधन हो गया। वह 82 वर्ष के थे। भूपिंदर की पत्नी मिताली सिंह के मुताबिक मंगलवार को भूपिंदर का अंतिम संस्कार किया जाएगा। उन्हें पेट की बीमारी से जूझ रहे थे। 

क्रिटिकेयर एशिया अस्पताल के निदेशक डॉ. दीपक नामजोशी ने कहा कि भूपिंदर को 10 दिन पहले अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्हें पेट में इंफेक्शन हो गया था। इस दौरान उन्हें कोरोना भी हो गया। सोमवार सुबह उनकी तबीयत ज्यादा बिगड़ गई। जिसके उन्हें वेंटिलेटर पर रखना पड़ा। इसके बाद उन्हें कार्डियक अरेस्ट हुआ और शाम 7:45 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली।

Veteran singer Bhupinder Singh dies at Mumbai hospital, says wife Mithali Singh

— Press Trust of India (@PTI_News) July 18, 2022

Singer Bhupinder Singh Passes Away
एक समय ऐसा अया था जब भूपिंदर को संगीत बिल्कुल ही नफरत हो गई थी। फोटोः Getty Images
भूपिंदर और मिताली की गजल, ‘राहों पर नजर रखना-होंठो पर दुआ रखना…., आ जाए कोई शायद दरवाजा खुला रखना…’ एवरग्रीन फेवरेट गजल्स में से एक मानी जाती है। (mitali singh best ghazals) भूपिंदर और मिताली के कई एलबम्स भी रिलीज हुए थे। इनमें से शाम-ए-गजल सबसे फेमस रहा।
करोगे याद तो हर बात याद आएगी… और कभी किसी को मुकम्मल जहां नहीं मिलता… (songs of bhupinder singh) उनके सुपरहिट गाने रहे। गुलजार ने एक बार कहा था- भूपिंदर की आवाज किसी पहाड़ से टकराने वाली बारिश की बूंदें जैसी है। वो तन और मन को तरोताजा कर देती हैं…। उनकी मखमली आवाज सीधे दिल और आत्मा को छूती है।

ये भी पढ़ें – ऐसा रहा भूपिंदर सिंह का संगीत सफर

पंजाब के पटियाला रियासत से था तुल्लक, पिता थे सख्त संगीतकार

भूपिंदर (Bhupinder Singh) का जन्म 6 फरवरी 1940 को पंजाब के पटियाला रियासत में हुआ था। उनके पिता प्रोफेसर नाथ सिंह एक सिख पंथ को मानने वाले थे। वे स्वयं भी एक बहुत अच्छे संगीतकार थे, लेकिन संगीत सिखाने में वे बेहद ही सख्त थे। अपने पिता के सख्त मिजाज को देखकर भूपिंदर  शुरुआती दौर में संगीत से खफा हो गए थे। एक समय ऐसा अया था जब भूपिंदर को संगीत बिल्कुल ही नफरत हो गई थी। 

हालांकि इस संगीत परिवार का सदस्य होने के कारण उसमें रम चुके भूपिंदर इस कला से ज्यादा दिन दूर नही रह पाए और भूपिंदर (Bhupinder Singh Musician) को संगीत की दुनिया में लौटना पड़ा, वे अब इस क्षेत्र में अपना कॅरियर बनाने के लिए लौट आए थे। फिर अपनी कला को ऐसा निखारा कि संगीत के क्रददानों के लिए नजीर बन गए।

Singer Bhupinder Singh Passes Away
मिताली-भूपिंदर ने सैकड़ों म्यूजिकल लाइव शो किए। फोटोः Getty Images

बांग्लादेश की हिंदू गायिका मिताली से मिले और सात सुरों के हमराह हमसफर बन गए

1980 के दशक में गायक भूपिंदर ने (bhupinder singh family) बांग्लादेश की रहने वाली हिंदू गायिका मिताली मुखर्जी (mitali mukherjee) से विवाह किया था। भूपिंदर ने एक संगीत कार्यक्रम में मिताली (bhupinder singh wife) की आवाज सुन उनके फेन हो गए थे। इसके बाद दोनों की मुलाकातें हुई, जो बाद में इश्क में बदल गई। कुछ समय बीत जाने के बाद सात सुरों के हमराह जिंदगी के हमसफर बन गए। मिताली-भूपिंदर ने सैकड़ों म्यूजिकल लाइव शो किए। उनका एक बेटा निहाल सिंह है और वो खुद भी संगीत से जुड़ा है।

ये भी पढ़ें –  National Film Award Winner List:  अजय देवगन को तान्हाजी और सोरारई पोटरु के लिए सूर्या बेस्ट एक्टर चुने गए

ऑल इंडिया रेडियो से किया था सिंगर का सफर

भूपेंद्र ने अपने कॅरियर की शुरुआत ऑल इंडिया रेडियो में गायन से की थी। भूपिंदर गजल गाने के अलावा वायलिन और गिटार बजाने में भी माहिर थे। संगीतकार मदन मोहन ने भूपेंद्र सिंह को फिल्म ‘हकीकत’ में मौका दिया, जिसमें उन्होंने मोहम्मद रफी के साथ जुगलबंदी में ‘होके मजबूर मुझे उसने भुलाया होगा…’ गाने में अपना गायन कौशल दिखाया। यह गाना उस दौर का सुपरहिट गाना साबित हुआ था, लेकिन भूपेंद्र को गायकी में असली पहचान गुलजार के लिखे गाने ‘वो जो शहर था’ से मिली।

Singer Bhupinder Singh Passes Away
फोटोः Getty Images

गुलजार के फेवरेट गायकों में से एक थे भुपिंदर

दिग्गज गीतकार और फिल्म निर्माता गुलजार के फेवरेट सिंगर्स में शुमार भूपिंदर ने अपनी हर फिल्म को अपनी मखमली आवाज से सजाया। सुरेश वाडेकर के साथ जुगलबंदी में गाया उनका मशहूर गीत ‘हुजूर इस्कदर भी ना इतरा के चले’ आज भी संगीत के कद्रदानों की जुबां पर रहता है।

गायक के साथ एक बहतरीन गिटारवादक भी थे

भूपिंदर सिंह को अपना पहला एकल ट्रैक दो साल बाद फीचर फिल्म “आखिरी खत” में मिला, जिसे खय्याम ने “रुत जवान जवान रात मेहरबान” के साथ संगीतबद्ध किया था। पार्श्व गायन के अलावा, भूपिंदर सिंह “दम मारो दम”, “चुरा लिया है”, “चिंगारी कोई भादके” और “महबूबा ओ महबूबा” सहित कई लोकप्रिय ट्रैक पर गिटारवादक भी थे।

गायन के साथ दो फिल्मों अभिनय भी किया

भूपिन्दर सिंह ने एक साक्षात्कार में जिक्र किया था कि कैसे निर्देशक ने उनसे दो फिल्मों में गाने के साथ अभिनय भी करवा लिया था। भूपिन्दर ने बताया ​था कि मैंने कभी फिल्मों में ‘एक्टिंग’ करूंगा ये सोचा भी नहीं था…., यह बात मेरे ज़ेहन में कभी आई ही नहीं थी…, मैं तो बस यहां संगीत के लिए आया था, पता नहीं चेतनजी ने मुझमें क्या देखा…। मेरा गाना जिसकी प्लेबैक सिंगिंग मैं ने खुद की थी, ये फिल्म हकीकत थी…, वहीं एक और फिल्म भूपिन्दर ने अभिनय किया वो फिल्म थी आखिरी खत।

दिल ढूंढता है… जैसे गीत से मिली शौहरत

सिंह को मौसम, सत्ते पे सत्ता, आहिस्ता-आहिस्ता, दूरियां, हकीकत और कई दूसरी फिल्मों में उनके यादगार गीतों के लिए याद किया जाता है। उनके कुछ प्रसिद्ध गीत- होके मजबूर मुझे, उसे बुलाया होगा… दिल ढूंढता है…  (Dil Dhoondata Hai)दुकी पे दुकी हो या सत्ते पे सत्ता… से बॉलीवुड और संगीत की दुनिया में पहचान मिली।

भूपिंदर सिंह के गाए हुए बेहतरीन गाने

दिल ढूंढता है…दो दिवाने इस शहर में…नाम गुम जायेगा…करोगे याद तो…मीठे बोल बोले…कभी किसी को मुकम्मल जहां नहीं मिलता…किसी नजर को तेरा इन्तजार आज भी है… दरो-दीवार पे हसरत से नजर करते हैं…खुश रहो अहले-वतन हम तो सफर करते हैं।

भूपिंदर सिंह के बेहतरीन गीत

भूपेन्द्र सिंह के गाए कई यादगार गीत व गज़ल 

दिल ढूँढता है…

दो दिवाने इस शहर में…

नाम गुम जायेगा…

करोगे याद तो…

मीठे बोल बोले…

कभी किसी को मुकम्मल जहाँ नहीं मिलता…

किसी नज़र को तेरा इन्तज़ार आज भी है…

दरो-दीवार पे हसरत से नज़र करते हैं…

खुश रहो अहले-वतन हम तो सफर करते हैं…

Bhupinder Singh | Singer Bhupinder Singh Passes Away | Dil Dhoondata Hai | Bhupinder Singh Musician | Karoge Yaad To | bhupinder singh songs | singer bhupinder singh | bhupinder singh news | bhupinder singh singer | singer bhupinder singh death | bhupinder singh death | bhupinder singh family | bhupinder singh death news | best of bhupinder singh | ghazal singer bhupinder singh | bhupinder singh passed away | bhupinder singh wife | songs of bhupinder singh | bhupinder singh ghazal | bhupinder singh interview | bhupinder singh dies | bhupinder singh no more | mitali mukherjee | mitali singh best ghazals | 

ये भी पढ़ें 

डोनाल्ड ट्रंप की पहली पत्नी IvanaTrump की मौत:20 साल छोटे मॉडल से चौथी शादी की, हमेशा अपने बयानों से सुर्खियों में रहीं

दिल्ली में पिता को ​पीटने वाले शख्स पर नाबालिग ने चलाई गोली, घटना CCTV में कैद 

Rajasthan Monsoon : गंगानगर में भारी बारिश का 44 साल का रिकॉर्ड ध्वस्त, सेना ने मोर्चा संभाला 

पेंटर मजदूर को IT ने भेजा 66 करोड़ का नोटिस, जानें पूरा माजरा

कोर्ट में रूबैया सईद की 33 साल बाद गवाही, कहा- यासीन मलिक ने किया था मुझे किडनैप 

आजादी से भी पुरानी विदेश जाकर कमाने और बसने की चाह पूरी करने वाली कबूतरबाजी अब भी कायम क्यों- इसे यूं समझिए

हजयात्रा में मुस्लिम क्या करते हैं, क्या है हज?

श्रीलंका में जनता बेकाबू, प्रेसीडेंट हाउस को घेरा, राष्ट्रपति देश से फरार‚ प्रधानमंत्री का भी इस्तीफा‚  ताजा अपडेट में देखें पूरा हाल

छत्तीसगढ़ में निर्भया जैसी हैवानियत:दुष्कर्म कर गुप्तांग में तवे का मूठ डाला, महिला ने बचाव की कोशिश की तो कर दी हत्या 

 ये क्यूट Rain Bugs क्यों हो रहे विलुप्त!

हॉलीवुड स्टार टॉम क्रूज की लाइफ स्टोरी के बारे में और ज्यादा व पूरी जानकारी यहां देखें

 मूसेवाला का SYL गाना बैन: बंदी सिखों की रिहाई और पंजाब-हरियाणा के विवादित नहर के मुद्दे की बात, YouTube से भी हटाया

Elon Musk ने फिर क्यों कहा ज्यादा बच्चे पैदा करो, भविष्यवाणी की – जापान दुनिया से गायब हो जाएगा

अर्नब की चैट में नए खुलासे: अर्नब को पहले से ही सरकार के कई फैसले पता थे; चाहे वो बालाकोट स्ट्राइक हो या कश्मीर में 370 को हटाने का फैसला

BIHAR ELECTION 2020 : चुनाव से पहले NDA में दरार दिखी, LJP ने नितीश के नेतृत्व को नकारा, लेकिन BJP से एलाइंस को तैयार 

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *