Lata Mangeshkar के भाई Hridaynath Mangeshkar अस्पताल में भर्ती, लता दीनानाथ मंगेशकर पुरस्कार में नहीं हो पाए शामिल Read it later

Lata Mangeshkar के भाई Hridaynath Mangeshkar अस्पताल में भर्ती
Photo | ANI

लता मंगेशकर के भाई हृदयनाथ मंगेशकर को मुंबई के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उनके बेटे आदित्यनाथ ने बताया कि वे अब ठीक हैं। बता दें कि 84 वर्ष के हृदयनाथ को 10 दिन बाद अस्पताल से छुट्टी मिलेगी। हालांकि, उनके बेटे ने इस बात का खुलासा नहीं किया कि उन्हें किस तकलीफ के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

हृदयनाथ अस्पताल में भर्ती बेटे आदित्यनाथ ने किया  पुरस्कार का उद्घाटन

लता दीनानाथ मंगेशकर पुरस्कार का उद्घाटन आदित्यनाथ मंगेशकर ने किया। इस समारोह में अतिथियों को संबोधित करते हुए उन्होंने बताया कि पिता पिता हृदयनाथ आप सभी का स्वागत करने वाले थे,लेकिन अस्पताल में भर्ती होने की वजह से वे इस साल ऐसा नहीं कर सके।

Hridaynath Mangeshkar अस्पताल में भर्ती

आदित्यनाथ ने कहा, ‘मेरे पिता पंडित हृदयनाथ मंगेशकर जी इतने सालों से इस ट्रस्ट की जानकारी देते रहे हैं और सभी मेहमानों का स्वागत करते रहे हैं। लेकिन इस साल वह ऐसा नहीं कर सके क्योंकि वह अस्पताल में भर्ती हैं। वह अब ठीक है। भगवान की कृपा से वह अगले 8 से 10 दिनों में ठीक होकर वापस घर आ जाएंगे।

PM मोदी ने की बेहतर स्वास्थ्य की कामना

Humbled to join the 1st Lata Deenanath Mangeshkar Award ceremony. https://t.co/p7Za5tmNLd

— Narendra Modi (@narendramodi) April 24, 2022

इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शामिल हुए। मोदी लता दीनानाथ पुरस्कार पाने वाले पहले व्यक्ति बने हैं। पीएम मोदी ने अपने धन्यवाद भाषण में पंडित हृदयनाथ के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना भी की। 

लता दीनानाथ मंगेशकर पुरस्कार मास्टर दीनानाथ मंगेशकर पुरस्कार समारोह के तहत आयोजित किए गए। बता दें कि रविवार 24 अप्रैल को मास्टर दीनानाथ की 80वीं पुण्यतिथि थी।

लता मंगेशकर बॉलीवुड की महान गायिका मानी जाती हैं। इसी साल 6 फरवरी 2022 को 92 साल की उम्र में उनका निधन हो गया। लताजी की मौत का कारण मल्टीपल ऑर्गन फेल्योर था। उनके जाने से भारतीय संगीत जगत से लेकर बॉलीवुड तक शोक की लहर दौड़ गई। 

लता पांच बहनों और भाइयों में सबसे बड़ी थीं। उनकी बहनों के नाम आशा भोंसले, मीना खेड़कर, उषा मंगेशकर हैं। वहीं, हृदयनाथ मंगेशकर उनके इकलौते भाई हैं। ये सभी बहनें और भाई संगीतकार हैं।

 लता जी से पहली मुलाकात को मोदी ने याद किया 

पीएम मोदी ने कहा, ‘मैं सोच रहा था कि दीदी से मेरा नाता कब से और कितना पुराना है। मुझे याद है कि शायद चार या साढ़े चार दशक हुए होंगे सुधीर फड़के जी ने हमारा परिचय करवाया था और तब से लेकर आज तक इस परिवार के साथ अनगिनत घटनाएं मेरे जीवन का हिस्सा बन गईं। 

मेरे लिए लता दीदी सुर साम्राज्ञी के साथ साथ मेरी बड़ी बहन थीं। प्रेम और भावना देने वाली लता दीदी की तरफ से एक बड़ी बहन जैसा अपार प्रेम मिला है और इससे बड़ा जीवन का सौभाग्य क्या हो सकता है।

हर साल दिया जाएगा सम्मान 

हर वर्ष दीना नाथ मंगेशकर की पुण्यतिथि पर लता दीनानाथ मंगेशकर अवार्ड का आयोजन होगा और यह सम्मान  उन व्यक्तियों को दिया जाएगा जिसका राष्ट्र के निर्माण में अनुकरणीय योगदान होगा। इस पुरस्कार के बारे में एलान करते हुए मंगेशकर परिवार और मास्टर दीनानाथ मंगेशकर स्मृति प्रतिष्ठान चैरिटेबल ट्रस्ट ने यह घोषणा की थी कि उन्होंने लता मंगेशकर के सम्मान और स्मृति में इस वर्ष से पुरस्कार की शुरुआत कर रहे हैं।

सालों बाद दीदी के बिना मेरी पहली राखी होगी: पीएम मोदी

मोदी ने  कहा कि शायद बहुत दशकों बाद ये मेरी पहला राखी का त्योहार होगा जब दीदी नहीं होंगी। सम्मान ग्रहण करने जैसे विषय से मैं दूर रहता हूं लेकिन जब पुरस्कार लता दीदी जैसी बड़ी बहन के नाम से हो तो यह मेरे लिए यहां आना एक दायित्व बन जाता है। यह उस प्यार का प्रतीक है। मैं इस पुरस्कार को सभी देशवासियों को समर्पित करता हूं। जिस तरह लता दीदी जन जन की थीं उसी तरह उनके नाम से मुझे दिया गया ये पुरस्कार भी जन जन का है।

Lata Dinanath Mangeshkar Award | Hridaynath Mangeshkar Admitted to Hospital | PM Narendra Modi | 

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *