1 मिनट में 60 सीढ़ियां चढ़ सकते हैं तो फिट है आपका दिल, जानिए हैल्दी हार्ट के लिए किस उम्र में कौनसी एक्सरसाइज करें

HEALTHY LIFE

सीढ़ियां चढ़ने से दिल की सेहत का पता लगाया जा सकता है। स्पेन के यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल के कॉर्डियोलॉजिस्ट डॉ। जीसस पेटारियो ने दिल के स्वास्थ्य को जानने का सबसे आसान तरीका बताया है। डॉ. जीसस के अनुसार, यदि कोई व्यक्ति एक मिनट में 15 सीढ़ी (कुल 60 सीढ़ी) के चार सेट पूरा करता है, तो इसका मतलब है कि उसका दिल सही काम कर रहा है।

165 युवाओं पर किया गया अध्ययन

165 युवाओं के मेटाबोलिक समकक्ष (एमईटी) को एक ट्रेडमिल पर दौड़ने और सीढ़ियों पर चढ़कर मापा गया। 40 से 45 सेकंड में सीढ़ियों पर चढ़ने वाले युवाओं में 9 से 10 या उससे अधिक का मेट था। कई शोधों में यह साबित हो चुका है कि व्यायाम परीक्षण के दौरान मेट 10 वाले लोगों में मृत्यु दर अन्य की तुलना में प्रति वर्ष 1 प्रतिशत कम है।

स्वस्थ दिल के लिए किस उम्र में क्या एक्सरसाइज करें –

20 साल की उम्र तक: रन, प्ले, एरोबिक्स यह आपके दिल के पंप को अधिक कर देगा

इस उम्र में दौड़ना, साइकिल चलाना, खेलना एक मजबूत दिल की नींव बनाता है। ये अभ्यास दिल को पंप करते हैं। बच्चों को हर दिन दौड़ने, कूदने और खेलने के भरपूर अवसर मिलने चाहिए। 6 से 17 वर्ष के बच्चों को हर दिन कम से कम 1 घंटा (60 मिनट) शारीरिक गतिविधि करनी चाहिए। चाहे वह स्कूल में हो या घर के पास जमीन पर। इस उम्र में बच्चे हृदय के लिए एरोबिक गतिविधि भी कर सकते हैं।

21 से 40 वर्ष: सप्ताह में 5 दिन, ये अभ्यास दिल की धड़कन को सामान्य रखेंगे

20 की उम्र में, शरीर मजबूत और लचीला होता है। फिटनेस की नींव रखने का यह सही समय है। दोस्तों के साथ खेल खेलें, जैसे कि टेनिस या रैकेटबॉल। खेल में लंबी पैदल यात्रा या बाइकिंग शामिल करें। सप्ताह में कम से कम 5 दिन 60 मिनट व्यायाम करें। 30 की उम्र के बाद वजन को नियंत्रित करना सबसे महत्वपूर्ण है। इस उम्र के बाद हड्डियां कमजोर होने लगती हैं। हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए यह एक अच्छा समय है। रोजाना वेटलिफ्टिंग करें। ये कार्डियोवस्कुलर वर्कआउट हृदय गति को बढ़ाते रहते हैं। रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल का स्तर बेहतर है।

41 से 60 वर्ष: शरीर को धीमा होने से रोकें, अगर आपको जोड़ों का दर्द है, तो तैराकी-साइकिलिंग करें

HEALTHY LIFE

40 वर्ष की आयु के बाद, शरीर स्वाभाविक रूप से घटने लगता है। हमारी मांसपेशियों में लचीलापन आने लगता है। पुरुषों और महिलाओं दोनों के हार्मोन के स्तर में गिरावट देखी गई है। दिल की बीमारी का खतरा भी बढ़ जाता है। इससे निपटने के लिए व्यायाम सबसे अच्छा तरीका है। हफ्ते में कम से कम 3 से 5 बार कार्डियो वर्कआउट करें। अगर आपके जोड़ों में दर्द होने लगे, तो साइकिल चलाएं और तैराकी करें। जब आप 50 वर्ष से अधिक आयु के होते हैं, तो हाथ और पैर में दर्द की शिकायतें हर रोज हो सकती हैं। इस उम्र के बाद पाचन धीमा हो जाता है। वजन आसानी से बढ़ सकता है। यह व्यायाम इसे रोकता है।

60 साल के बाद: यदि आप उम्र के इस पड़ाव में स्वस्थ हैं तो भी व्यायाम करना बंद न करें

HEALTHY LIFE

शोधकर्ताओं ने पाया है कि जो लोग उम्र बढ़ने पर शारीरिक गतिविधि कम करते हैं उनमें दिल से संबंधित बीमारियों का जोखिम 27% बढ़ जाता है। जबकि जो लोग शारीरिक गतिविधि जारी रखते हैं, जोखिम 11% तक कम हो जाता है। इस उम्र में ब्रिस्क वॉकिंग, वेट लिफ्टिंग, डांसिंग, गार्डनिंग, योगा करें। तनाव से बचें। तनाव एड्रेनालिन जैसे हार्मोन जारी करता है। ये धमनियों को पतला बनाते हैं। रक्तचाप बढ़ाएं। तनाव तनाव को कम करता है।

सप्ताह में 5 दिन, व्यायाम शरीर को जीवित रखता है। मांसपेशियां और हड्डियां मजबूत बनती हैं।

Like and Follow us on :

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *