ग्रेजुएट 5 लड़कियों को चचेरे भाइयों ने लाठियों से पीटा डाला, बोले हम 5वीं पास तो तुम ग्रेजुएट कैसे हो गईं? राखी बंधवाने वाले ही बन गए बहनों के भक्षक

ग्रेजुएट 5 लड़कियों को चचेरे भाइयों ने लाठियों से पीटा डाला

 जोधपुर की एक ढाणी में बेटियों को पढ़ा-लिखा दिया तो उनके परिवार वाले ही जान के दुश्मन बन गए।  लड़कियों के ग्रेजुएशन करने से चिढ़कर उनके कम पढ़े-लिखे चचेरे भाइयों ने बहनों साथ मारपीट कर डाली। राखी बांधने के 4 दिन बाद भाइयों की मारपीट से परेशान 5 बहनें थाने पहुंचीं।

जानकारी के अनुसार मामला जोधपुर के बिश्नोई दुधी की ढाणी का है। यहां रहने वाली 5 बहनों ने ग्रेजुएशन पूरा किया है। जबकि उनका कोई भी भाई 5वीं क्लास से ज्यादा पढ़ा-लिखा नहीं है। 

यही बात भाइयों को नागवार गुजर रही थी। इधर, बहनों ने भी विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी शुरू कर दी। इससे नाराज भाइयों ने गुरुवार को बहनों पर लाठियों से हमला कर दिया।

लड़कियों ने बनाया मारपीट का वीडियो

जमकर मारपीट करने के बाद पांचों बहनों को घर के एक कमरे में बंद कर दिया गया। उनके बाहर निकलने पर भी रोक लगा दी गई थी। मारपीट के दौरान युवतियों ने मोबाइल से वीडियो बना लिया था। कमरे में बंद होने के बाद उसने पुलिस को फोन किया। पुलिस ने उसे कमरे से बाहर निकाला। इसके बाद बच्चियां अपनी शिकायत लेकर कुड़ी थाने गईं, लेकिन उनकी रिपोर्ट नहीं लिखी गई. फिर वह पुलिस उपायुक्त, पश्चिम जोधपुर के कार्यालय पहुंची।

पांचों बहनें 18 से 25 साल की हैं

इन बहनों में सबसे बड़ी 25 वर्षीय सीमा बुरडक ने बताया कि चाचा-ताऊ और उनके बेटों के परिवार हम बहनों की पढ़ाई से नाराज हैं। ऐसे में बहन 23 वर्षीय मूमल, 21 वर्षीय नैनी, 19 वर्षीय सुमित्रा और 18 वर्षीय अनीता को भाइयों ने लाठियों से मारा। 

सभी को चोटें आई हैं। बहनों ने बताया कि उनके ग्रेजुएशन से परिजन नाराज हैं। भाई ने पांचवीं से ज्यादा पढ़ाई नहीं की है। उन्होंने धमकी दी कि अगर हम प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करते हैं, तो हमारे लिए ठीक नहीं होगी।

शिक्षक, IAS और SI बनना चाहता है

सीमा और उसकी दो बहनें शिक्षिका बनना चाहती हैं। एक बहन आईएएस पुलिस में भर्ती होना चाहती है। लड़कियों के पिता खेती करते हैं और भाई ट्रक चलाता है। जब भाई-पिता घर में नहीं थे तो इन लोगों ने हमला कर दिया।

  • Five Sisters Who Graduated After Studying | 
  • Imprisoned In The House | Sisters Reached The Police Station | Jodhpur Rajasthna |

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *