‘Gangubai Kathiawadi’ विवादों में : फिल्म रिलीज से पहले गंगूबाई के ​परिवार ने किया कोर्ट का रुख, कहा- फिल्म में मां को सामाजिक कार्यकर्ता से वैश्या बना दिया

'गंगूबाई काठियावाड़ी' विवादों में
फोटोः सोशल मीडिया।

अभिनेत्री आलिया भट्‌ट अभिनीत फिल्म ‘Gangubai Kathiawadi‘ 25 फरवरी को रिलीज के लिए तैयार है। संजय लीला भंसाली के निर्देशन में बनी इस फिल्म में आलिया ‘गंगूबाई‘ के किरदार में नजर आएंगी, मगर अब रिलीज से पहले यह फिल्म विवादों में घिरती दिखाई दे रही है।

फिल्म पर हाल ही में गंगूबाई की फैमिली ने आपत्ति जता दी है। परिवार ने फिल्म के खिलाफ कोर्ट का दरवाजा भी खटखटा दिया है। परिवार का आरोप है कि इस फिल्म में हमारी मां को सोशल वर्कर से प्रॉस्टिट्यूट की तरह प्रदर्शित कर दिया गया है।

फिल्म में मेरी मां को सोशल वर्कर से प्रॉस्टिट्यूट बना डाला
फोटोः सोशल मीडिया।

फिल्म में मेरी मां को सोशल वर्कर से प्रॉस्टिट्यूट बना डाला

गंगूबाई के बेटे बाबूरावजी शाह ने कहा है कि ‘फिल्म में मेरी मां को प्रॉस्टिट्यूट बनाकर रख दिया है। लोग मेरी मां के बारे में तरह-तरह की बातें कर रहे हैं। ये बातें हमारी फैमिली को बेहद परेशान कर रही हैं। 

वहीं गंगूबाई की नातिन भारती ने कहा कि फिल्म के मेकर्स ने पैसों के लालच में आकर मेरे परिवार को डी-फेम कर डाला है। यह बिल्कुल भी एक्सेप्टेबल नहीं है। मेकर्स ने फिल्म बनाने के लिए परिवार की सहमति भी नहीं ली। वहीं न ही बुक के लिए कोई हमारे पास पहुंचा था।

'गंगूबाई काठियावाड़ी' विवादों में
गंगूबाई ने साल 1949 में एडॉप्ट किए थे चार बच्चे। फोटोः सोशल मीडिया।

 कमाठीपुरा में रहती थीं, इसका मतलब ये नहीं कि वहां रहने वाली हर महिला वैश्या हो…

मेरी नानी कमाठीपुरा में रहती थी, तो इसका मतलब ये कतई नहीं है कि वहां रहने वाली हर महिला वैश्या हो। भारती ने फिल्म मेकर्स पर भड़कते हुए कहा, ‘मेरी नानी कमाठीपुरा में रहती थीं, तो क्या वहां रहने वाली हर औरत वैश्या हो गई क्या?  मेरी नानी ने वहां 4 बच्चों को गोद लिया था। 

ये प्रॉस्टिट्यूट के ही बच्चे थे। मेरी मां का नाम शकुंतला रंजीत कावी, दूसरे बेटे का नाम रजनीकांत रावजी शाह, तीसरे बेटे का नाम बाबू रावजी शाह और चौथी बेटी है, जिसका नाम सुशीला रेड्डी हैं। हम उन्हीं के परिवार से हैं। मेकर्स ने हमें ही गैर कानूनी करार दे दिया है। हमारी नानी ने जब एडॉप्शन किया था, उस समय गोद लेने के कानून नहीं बने थे। 

लोग अब वैश्या की औलाद कह कर संबोधित कर रहे

भारती ने कहा कि ‘हम एक ओर जहां गर्व से अपनी नानी के किस्से लोगों को सुनाया करते थे। फिल्म के ट्रेलर के सामने आने के बाद तो हमारे परिवार की इज्जत की धज्जियां उड़ा दी गई हैं। लोग कहने लगे हैं कि आपकी नानी तो प्रॉस्टिट्यूट थीं। 

मेरी नानी ने जिंदगी भर कमाठीपुरा के प्रॉस्टिट्यूट महिलाओं के उत्थान के लिए काम किया है। इन लोगों ने तो मेरी नानी को क्या से क्या बना दिया है। हमें तो लोग अब प्रॉस्टिट्यूट की औलाद कह कर बुला रहे हैं। यहां तक की मैं और मेरा परिवार तो अब घर से बाहर निकलने में भी कतरा रहा है।

परिवार की आबरू बचाने के लिए कोर्ट का रुख किया किया

‘आज तक’ की रिपोर्ट्स के मुताबिक, ‘Gangubai Kathiawadi‘ फिल्म का ट्रेलर रिलीज होने के बाद से गंगूबाई के परिवार वालों की दिक्कतें बढ़ गई हैं। उनके फैमिली मेंबर्स को मुंबई में बार-बार अपना घर बदलना पड़ रहा है, ताकि वे लोगों के चुभते सवालों से बच सकें।

परिवार को पता ही नहीं कि उनकी मां पर किसी ने बुक भी लिख दी है
फोटोः सोशल मीडिया।

परिवार को पता ही नहीं कि उनकी मां पर किसी ने बुक भी लिख दी है

गंगूबाई ने चार बच्चों को 1949 में गोद लिया था, आज उनके परिवार में 20 मैंबर्स हो चुके हैं। इतने सालों से अपनी जिंदगी जी रहे गंगूबाई के फैमिली मेंबर्स फिल्म का ट्रेलर रिलीज होने के साथ ही सवालों से घिर चुके हैं। 

यही नहीं, गंगूबाई के परिवार वालों को तो यह भी नहीं पता था कि उनकी मां पर कोई बुक भी लिखी गई है। लगातार लोगों के बीच हंसी का पात्र बन रहे गंगूबाई के बेटे ने अपनी मां और परिवार की आबरू बचाने के लिए कोर्ट जाने का फैसला किया है।

फिल्म का ट्रेलर रिलीज होने के बाद से गंगूबाई का पूरा परिवार सदमें में है: परिवार के वकील

गंगूबाई के परिवार के लॉयर नरेंद्र ने ‘आज तक’ से बातचीत में कहा है कि ‘फिल्म का ट्रेलर रिलीज होने के बाद से ही गंगूबाई का पूरा परिवार शर्म और सदमे के साए में है। उनका कहना है कि फिल्म में उनकी मां गंगूबाई की इमेज को पूरी तरह से गलत पेश किया जा रहा है। उन्होंने इसे बेसलेस भी बताया है। परिवार का मानना है कि फिल्म पूरी तरह से वल्गर और न्यूड है।

सोशल एक्टिविस्ट को प्रॉस्टिट्यूट की तरह पेश किया
फोटोः सोशल मीडिया।

सोशल एक्टिविस्ट को प्रॉस्टिट्यूट की तरह पेश किया

परिवार ने कहा कि आप एक सोशल एक्टिविस्ट को प्रॉस्टिट्यूट की तरह रिप्रेजेंट कर रहे हो, ऐसा किसके परिवार को पसंद आ सकता है भला….। उन्हें तो फिल्ममेकर्स ने वैंप और लेडी माफिया डॉन बना दिया है। दूसरी बात ये है कि हमारे यहां के सिस्टम की समस्या ये है कि अगर आपके घर की इज्जत सरेआम नीलाम हो रही है, तो लोग यहां उनकी इज्जत को बचाने की जगह बेटे से ही सबूत मांग रहे हैं कि वो उनके बेटे हैं इसको प्रूव करो। हालांकि हम इसे निचले कोर्ट में साबित कर चुके हैं, लेकिन अब हमारे मामले में आगे कोई सुनवाई नहीं हो रही है।’

4 फरवरी को रिलीज हुआ था फिल्म का ट्रेलर

‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ को संजय लीला भंसाली के बैनर ने ही प्रोड्यूस किया है। फिल्म में अभिनेत्री आलिया के अलावा अजय देवगन, विजय राज और सीमा पाहवा भी अहम किरदार में नजर आने वाले हैं। फिल्म की स्टोरी हुसैन जैदी की किताब ‘माफिया क्वींस ऑफ मुंबई‘ से अडॉप्टेड है। फिल्म का ट्रेलर 4 फरवरी को रिलीज कर दिया गया था। इसके अलावा अब तक फिल्म के कई गाने भी सामने आ चुके हैं।

ये भी पढ़ें – 100 महिलाओं की लाशों से दुष्कर्म करने वाला हैवान!

Gangubai Kathiawadi Controversy | Before The Release Gangubai’s Family Reached The Court | They Made My Mother A Prostitute From A Social Worker

Like and Follow us on :

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *