PAKISTAN की कराची यूनिवर्सिटी में आत्मघाती हमला: 3 चीनी महिलाओं सहित 5 की मौत; बलोच संगठन ने ली जिम्मेदारी‚ कहा – चीनियों को नहीं छोड़ेंगे

PAKISTAN की कराची यूनिवर्सिटी में आत्मघाती हमला

पाकिस्तान के कराची शहर में मंगलवार दोपहर एक यूनिवर्सिटी पर फिदायीन हमला हुआ। 5 लोगों की मौत हो गई। हमला कन्फ्यूशियस इंस्टीट्यूट के पास एक कार के पास हुआ। पुलिस के मुताबिक मारे गए 5 लोगों में से तीन चीन की महिला प्रोफेसर थीं। चौथा उनका पाकिस्तानी ड्राइवर और पांचवां गार्ड था। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ ने चीनी दूतावास का दौरा किया और घटना पर शोक व्यक्त किया।

कराची के पुलिस प्रमुख गुलाम नबी मेमन ने द न्यूज वेबसाइट को बताया कि यह एक फिदायीन हमला था और इसे बुर्का पहने एक महिला ने अंजाम दिया। मारे गए लोगों में तीन चीनी महिला प्रोफेसर, उनका ड्राइवर और गार्ड शामिल हैं।

एक और वायरल वीडियो

बलूच लिबरेशन आर्मी ने कराची हमले के बाद एक वीडियो जारी किया था। इसमें चीन और पाकिस्तान को सीधी धमकी दी गई है। वीडियो में एक नकाबपोश कह रहा है कि हम पाकिस्तानी सेना और चीनी सरकार से बलूचिस्तान छोड़ने को कहते हैं। उन्होंने हमारे गांवों को तबाह कर दिया है। हमने चीन पर हमला करने के लिए एक नई इकाई का गठन किया है। यह चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (CPEC) के लिए काम कर रहे चीनियों को निशाना बनाएगा।

Balochistan Liberation Army

CPEC पर हमले की वजह

बलूचिस्तान के नागरिक शुरू से ही CPEC का विरोध करते रहे हैं। चीनी ट्रॉलियां यहां समुद्र में मछलियां पकड़ती हैं और उनका निर्यात करती हैं। इससे फिशिंग के जरिए रोजी-रोटी कमाने वाले लोगों को भुखमरी का सामना करना पड़ा है। हर साल सैकड़ों बलूच को पाकिस्तानी सैनिक किडनैप कर  उन्हें मौत के घाट उतार देते हैं। बलूच विद्रोहियों ने हाल के दिनों में 60 पाकिस्तानी सैनिकों को भी ​बदला लेने के लिए मार गिराया है।

#BREAKING: Bomb blast inside Karachi University in Pakistan kills five including three Chinese nationals. Baloch Liberation Army claims responsibility. Baloch rebel group claims that the Director of the Confucius Institute Huang Guiping is among the dead.pic.twitter.com/raI5bopcZX

— Aditya Raj Kaul (@AdityaRajKaul) April 26, 2022

घटना के बाद फायरिंग

नबी ने एक और हैरान कर देने वाला खुलासा  किया। इससे लग रहा है कि घटना के बाद फायरिंग भी हुई थी।  नबी ने कहा- विस्फोट के बाद रेंजर्स की टीम मौके पर पहुंची। इसके चार लोग घायल हुए हैं और उन्हें गोलियां लगी हैं। इसका मतलब यह हुआ कि महिला के साथ कुछ और लोग भी थे जो कैंपस में ही मौजूद थे। हम इन लोगों की तलाश कर रहे हैं।

जानकारी के मुताबिक, बलूच लिबरेशन फ्रंट ने हमले की जिम्मेदारी ली है। इसी संगठन ने पिछले महीने गिलगिट में एक सैन्य अड्डे पर हमला किया था। इसमें 22 सैनिक और 4 नागरिक मारे गए थे।

Pakistan: Big suicide bomb blast outside Karachi University,

3 more Chinese nationals killed.

CCP has already stopped its investments in Pakistan after several similar attacks on its nationals.

pic.twitter.com/O9W2QaGjmU

— Arun Pudur 🇮🇳 (@arunpudur) April 26, 2022

कार में भी लोग थे

जियो न्यूज के मुताबिक, यूनिवर्सिटी कैंपस के बिल्कुल सामने के हिस्से में एक कार खड़ी थी। इसके पास कई छात्र-छात्राएं मौजूद थे, वहीं कुछ छात्रों के अभिभावक भी प्रवेश प्रक्रिया के चलते वहां मौजूद थे। इसके सामने एक सभागार है, इसे कन्फ्यूशियस हॉल कहा जाता है। कुछ सूत्रों के मुताबिक जिस कार में बम रखा था उसमें कुछ लोग भी बैठे थे।

सिंध के मुख्यमंत्री करेंगे घटनास्थल का दौरा

कराची सिंध प्रांत का हिस्सा है। यहां पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी की सरकार है। सूत्रों के मुताबिक सिंध के मुख्यमंत्री मुराद अली शाह के घटनास्थल का दौरा करने की संभावना है।

बम निरोधक दस्ता मौके पर मौजूद

पुलिस ने जहां घटना हुई उस इलाके को चारों ओर से सील कर दिया है और जांच शुरू कर दी है। कुछ सूत्रों का दावा है कि कार गैस सिलेंडर से चलाई जा रही थी और उसी में धमाका हुआ। हालांकि, बाद में पुलिस प्रमुख ने स्पष्ट किया कि यह गैस सिलेंडर विस्फोट नहीं, बल्कि फिदायीन हमला था और इसे बुर्कानशीं महिला ने अंजाम दिया था। बम निरोधक दस्ते को मौके पर बुलाया गया है।

suicide attack in Pakistan | Pakistan blast kills many Chinese | blasts in Karachi | attack on Chinese citizens in Pakistan | Latest Pakistan News

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *