फिजिकल रिलेशन के बीच पुरुष धोखेबाजी कर रहे‚ इस पर हो सकती है सजा‚ समझिए आखिर कैसे Stealthing पर दुनियाभर में क्या कानून बन रहे‚ क्या भारत में भी ऐसा होगा‚ जानिए सबकुछ

फिजिकल रिलेशन के बीच पुरुष धोखेबाजी कर रहे‚ इस पर हो सकती है सजा

सेक्स ट्रेंड को लेकर इन दिनों एक चौंकाने वाली खबर सामने आ रही है, जिसे सेक्स स्टेल्थिंग का नाम दिया जा रहा है। इसे लेकर दुनियाभर के मीडिया में खबरें लगातार प्रकाशित हो रही हैं।

अमेरिका के कैलिफोर्निया विधानसभा में एक विधेयक पारित किया गया जिसने सेक्स स्टेल्थिंग को अपराध माना और इस पर एक कानून बना दिया गया है और अब ऐसा करने वालों को दंडित किया जाएगा। इसलिए यह जानना जरूरी है कि आखिर ये सेक्स स्टेल्थिंग क्या बला है। 

ये भी पढ़ें –  LGBTQIA+ का मतलब क्या है : पहनावे नहीं, सेक्सुशल प्रेफरेंस से पहचाने जाते हैं, जानिए इस समुदाय के बारे में वो सबकुछ जो आपको पता होना चाहिए 

स्टेल्थिंग का मतलब है क्या है इसे यूं समझिए

स्टेल्थिंग का मतलब है पार्टनर को बिना बताए सेक्स के दौरान कंडोम हटाना। ऐसा करने से लड़की के गर्भवती होने और यौन संक्रमण होने का खतरा बढ़ जाता है।

अमेरिका में कानून बनने के बाद दुनियाभर की लड़कियां फिर से इस बहस में हिस्सा ले रही हैं, लेकिन कई लोगों को स्टेल्थिंग की सजा पहले ही मिल चुकी है।

जर्मनी में Stealthing के लिए 8 महीने की जेल का प्रावधान है, कई देशों में कानून बनाया जा रहा है

जर्मनी: सेक्स के दौरान कंडोम निकालने पर एक पुलिस अधिकारी को 8 महीने की जेल की सजा भुगतनी पड़ी है। और 3 हजार 96 यूरो यानी करीब 2 लाख 70 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया। ये मामला 2018 का है।

न्यूजीलैंड: इसी साल जनवरी में एक शख्स को सेक्स वर्कर के साथ स्टेल्थिंग करने के आरोप में रेप का दोषी ठहराया गया था। उन्हें 3 साल 9 महीने की जेल हुई थी।

यूके: स्टेल्थिंग करना रेप माना जाता है। 2019 में एक शख्स को रेप का दोषी पाया गया था।

2014 में कनाडा में और 2017 में स्विट्जरलैंड में सेक्स स्लीथिंग करने वालों के खिलाफ दुष्कर्म के मामले सामने आए।

भारत में लड़के इसे अपराध नहीं मानते
Photo Shutterstock

भारत में लड़के इसे अपराध नहीं मानते

दिल्ली के निलेश गुप्ता कहते हैं, ऐसा करना कोई बड़ा अपराध थोड़े ही है, क्योंकि इससे बचने के कई उपाय हैं। आज कई लड़कियां तरह-तरह की गोलियां ले सकती हैं।

भोपाल के निर्मल शर्मा कहते हैं, एक लड़की ने खुद उनसे कंडोम निकालने को कहा था। ऐसे में यदि लड़के ने कभी ऐसा करना चाहा तो फिर अपराध कैसे किया?

ये भी पढ़ें  – पीरियड्स का टैबू : कई देशों में इससे जुड़ी हैरान करने वाली प्रथाएं, कहीं पिया जाता है खून तो कहीं पहले पीरियड में होती लड़की की पूजा

बैंगलोर में रहने वाली निहारिका (बदला हुआ नाम) का कहना है कि उसके साथ ऐसा हुआ था। उन्होंने इसका विरोध भी किया, लेकिन लड़के ने कहा कि ऐसा करने से उन दोनों को खुशी और चरम सुख का अहसास होगा। 

20% पुरुष सेक्स स्टेल्थिंग की बात स्वीकार करते हैं

ऑस्ट्रेलिया की मोनाश यूनिवर्सिटी ने स्टेल्थिंग पर एक शोध किया है. इसमें 33 फीसदी महिलाओं ने कहा कि पुरुषों ने अपनी मर्जी के खिलाफ सेक्स करते हुए कंडोम उतार दिया था। 20% पुरुषों ने यह भी माना कि उन्होंने अपने साथी की सहमति के बिना कंडोम हटा दिया था।

2017 में एक ब्लॉग पकड़ा गया। इस पर कई लेख थे

इंटरनेट ने लड़कों में स्टेल्थिंग के सेंस को जगा दिया। 2017 में एक ब्लॉग पकड़ा गया। इस पर कई लेख थे जिनमें पुरुषों को पार्टनर को बिना मालूम चले चुपचाप कंडोम निकालने के टिप्स दिए गए थे। हमने उन्हें देखा है, लेकिन हम जानबूझकर नाम यहा उजागर नहीं कर रहे हैं।

22 साल की लड़की ने बताई कहानी

22 साल की एक लड़की ने बीबीसी न्यूज़बीट को बताया, ‘मैंने स्टेल्थिंग पर एक लेख पढ़ा. फिर मैंने सोचा- हे भगवान। ऐसा मेरे साथ भी हुआ है। मुझे यह भी नहीं पता था कि यह जानबूझकर किया गया था।

‘ मैंने उससे पूछा- तुमने कब निकाला, देखा नहीं। क्या यह अपने आप निकला? उसका जवाब था नहीं,  मेरा मन किया और मैंने निकाल दिया। 

‘मैंने उससे कहा कि तुमने  न तो बताया और न ही सचेत किया, लेकिन उसने लापरवाही भरे अंदाज में कहा- यह हम दोनों के लिए ठीक है। इसके बाद मैं वहां से निकली, दोस्त को बुलाया और आईपिल लेने के लिए मेडिकल स्टोर गई। बाद में पता चला कि उसने इंटरनेट पर कुछ पढ़ा था, जिसे वह कर के देखना चाहता था।

जूलियन असांज की स्टेल्थिंग का सबसे हाई प्रोफाइल मामला


जूलियन असांज की स्टेल्थिंग का सबसे हाई प्रोफाइल मामला
जूलियन असांजे


विकीलीक्स के जरिए दुनियाभर में मशहूर हुए जूलियन असांजे पर 2010 में स्वीडन की यात्रा के दौरान दो अलग-अलग महिलाओं ने यौन संबंध बनाने के दौरान कंडोम निकालने का आरोप लगाया था, लेकिन आरोप साबित नहीं हुए।

स्टील्थिंग पर आगे क्या होने वाला है? क्या हमारे देश में भी ऐसा कानून आएगा?

नीदरलैंड, फ़िनलैंड, स्विटज़रलैंड और स्लोवेनिया सभी अपने कानूनों को बदलना चाह रहे हैं। स्पेन ने पिछले साल एक बिल पेश करने की घोषणा की थी।

कैलिफ़ोर्निया की तरह, ऑस्ट्रेलिया के राजधानी क्षेत्र (ST) ने भी स्टेल्थिंग को गैरकानूनी घोषित किया। फिलहाल भारत में कुछ लड़के-लड़कियों ने इसको लेकर बहस शुरू कर दी है। इस पर सबसे ज्यादा डिस्कशन सोशल मीडिया पर हो रहा है। ऐसे में अब महिला और किशोरी भी सजग हो गई हैं।

stealthing | stealthing law | stealthing law India | stealthing a criminal offense | can you go to jail for stealthing | 

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *