100 महिलाओं की लाशों से दुष्कर्म करने वाले हैवान को 34 साल बाद मिलेगी जुर्म की सजा

100 महिलाओं की लाशों से दुष्कर्म करने वाले हैवान को 34 साल बाद मिलेगी जुर्म की सजा

इंग्लैंड के ईस्ट ससेक्स राज्य में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। शहर हीथफील्ड में 34 साल बाद जघन्य कृत्यों के दोषी को सजा मिलने जा रही है। अदालत ने उसे महिलाओं के शवों से बलात्कार करने का दोषी पाया है।

जुर्म करने वाला डेविड फुलर, अब 67 वर्ष का का हो चुका है। उसने 12 साल तक मुर्दाघर में महिलाओं के शवों के साथ दुष्कर्म किया। उसने करीब 100 महिलाओं के शवों के साथ दुष्कर्म किया, लेकिन किसी को इस कृत्य की भनक तक नहीं लगने दी। 

फुलर की उम्र अब 67 साल है। कोर्ट ने उसे 51 अपराधों का दोषी माना है। हालांकि, उसे सजा सुनाई जाना अभी बाकी है।
फुलर की उम्र अब 67 साल हो चुकी है। कोर्ट ने उसे 51 अपराधों का दोषी माना है। उसे सजा सुनाई जाना अभी बाकी है।

1989 से 12 साल तक, फुलर ने हीथफील्ड अस्पताल के दो मुर्दाघरों के शवों के साथ बलात्कार किया। यहां वो इलेक्ट्रीशियन के पद पर था। जांच में पता चला कि फुलर अन्य कर्मचारियों के जाने के बाद तक देर रात तक मुर्दाघर में रहता था। उस दौरान ही फुलर महिलाओं और बच्चों की लाशों के साथ दुष्कर्म करता था। इस मामले की जांच में इंग्लैंड पुलिस के 25 लाख यूरो (करीब 21.42 करोड़ रुपये) खर्च हुए।

1989 से 12 साल तक, फुलर ने हीथफील्ड अस्पताल के दो मुर्दाघरों के शवों के साथ बलात्कार किया
फुलर 1980 में एक साइकिल क्लब से भी जुड़ा हुआ था। इस फोटो वाली जगह पर ही उसने कैरोलीन पियर्स की लाश को ठिकाने लगाया था।

घटना का पता ऐस चल पाया 

1987 में, फुलर ने दो महिलाओं, वेंडी नेल और कैरोलिन पियर्स की हत्या कर दी थी। नेल की 23 जून 1987 को गिल्डफोर्ड रोड पर उनके घर पर हत्या कर दी गई थी। जब वह काम पर नहीं आई, तो उनका बॉयफ्रेंड उनके घर पहुंचा और बिस्तर पर नेल का शव पाया। फुलर का डीएनए नेल के तौलिये और लार में पाया गया।

1987 में, फुलर ने दो महिलाओं, वेंडी नेल और कैरोलिन पियर्स की हत्या कर दी थी
वेंडी नेल (बाएं) व कैरोलीन पियर्स (दाएं)। अपराधी डेविड फुलर ने 1987 में इन्हीं दोनों महिलाओं की बेरहमी से हत्या करने के बाद इनकी लाश के साथ दुष्कर्म किया था।

24 नवंबर 1987 को कैरोलिन पियर्स का ग्रोसवेनर पार्क में उनके घर के बाहर से अपहरण कर लिया गया था। उनकी चीखें पड़ोसियों ने सुनीं। एक हफ्ते बाद उसका शव उसके घर से 40 मील दूर रोमनी मार्श में एक बांध पर तैरता हुआ मिला। एक खेतिहर मजदूर ने शव देखकर पुलिस को फोन कर जानकारी दी थी। 

पुलिस का फुलर दोनों महिलाओं को पहले से जानता था। फुलर फोटो डेवलपमेंट चेन का क्लाइंट था जहां नेल काम किया करती थी। इसके अलावा फुलर बस्टर ब्राउन रेस्टोरेंट में भी जाया करता था जहां पियर्स मैनेजर थी। इन घटनाओं के 24 साल बाद सितंबर 2011 में फुलर को गिरफ्तार किया गया था।

24 साल बाद सितंबर 2011 में फुलर को गिरफ्तार किया गया
डेविड फुलर हीथफील्ड के अस्पताल के मुर्दाघर में इलेक्ट्रीशियन के पद पर था। साथी कर्मचारियों के अस्पताल से जाने के बाद भी वह मुर्दाघर में रुकता और शवों के साथ दुष्कर्म करता था।
फुलर के घर में इसी अलमारी से पुलिस ने कई फोटोग्राफ्स जब्त किए
फुलर के घर में इसी अलमारी से पुलिस ने कई फोटोग्राफ्स जब्त किए। फोटोज को महिलाओं के शवों के साथ अश्लील हरकत करते समय फुलर ने क्लिक किया था।


78 शवों की पहचान

मामला मेडस्टोन क्राउन कोर्ट में गया। फुलर को 51 अलग-अलग मामलों में दोषी पाया गया था। दोनों मुर्दाघरों में 78 शवों की पहचान की गई, जिनका फुलर ने रेप किया था। न्यायमूर्ति चीमा-ग्रब ने जूरी को हत्या के दोनों मामलों में उसे दोषी ठहराने का निर्देश दिया। हालांकि अभी यह तय नहीं है कि फुलर को कितनी सजा मिलेगी।

इंग्लैंड की लोकल पुलिस ने जब डेविड फुलर के हाउस की तलाशी ली तो महिलाओं और बच्चों के शव के साथ अश्लील वीडियो कंटेंट हार्ड ड्राइव में सेव मिला।

घर की तलाशी में मिले अश्लील फोटो और वीडियोज

तलाशी के दौरान फुलर के घर से अश्लील तस्वीरें, बच्चों के शव के साथ अश्लील वीडियो, हार्ड ड्राइव, फ्लॉपी डिस्क, डीवीडी और मेमोरी कार्ड बरामद किए गए। सभी को अलग-अलग फोल्डर में रखा गया था और नामों के साथ लेबल किया गया था।

डेविड फुलर जैसे खूंखार दरिंदे के बारे में विस्तृत जानकारी यहां क्लिक कर देखें

Murdering Two Women । Abusing 100 Female Corpses । David Fuller । Heathfield East Sussex । Maidstone Crown Court । Mrs. Justice Cheema, Grubb

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *