जानिए कैसे बोरिस के करीबी पिंचर के सेक्स स्कैंडल से ब्रिटेन की सरकार गिरने की कगार पर आई

17 Ministers Against PM Britain Boris Johnson

ब्रिटेन में सियासी बवाल के बीच प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (uk prime minister) इस्तीफा देने वाले हैं। (17 Ministers Against PM Britain Boris Johnson) बीते 48 घंटे में बोरिस सरकार के 50 से ज्यादा मंत्री और सांसद इस्तीफा सौंप चुके हैं। सरकार के खिलाफ सांसदों का अविश्वास इस कदर बढ़ चुका है कि महज 36 घंटे पहले ही मंत्री बनाए गए मिशेल डोनेलन ने भी सरकार को इस्तीफा थमा दिया। 

बुधवार शाम तक कैबिनेट के 17 मंत्रियों, 12 पार्लियामेंट सेक्रेटरी और विदेशों में नियुक्त सरकार के 4 रिप्रजेंटेटिव ने रिजाइन कर दिया था। इस्तीफा देने वाले सभी ने मंत्रियों और सचिवों ने जॉनसन के काम करने के तरीकों गलत ठहराया है। (boris johnson resigned as prime minister) वहीं लॉकडाउन पार्टी और कुछ पॉलिटीशियन के सैक्स स्कैंडल को मुद्दा बनाया है।

जॉनसन (uk prime minister) के मंत्री और सांसद लगातार उनके काम करने के तरीकों पर  प्रश्नचिह्न लगा रहे थे। इसके साथ ही लॉकडाउन के दौरान उनकी शराब पार्टी और यौन शोषण के आरोपी सांसद क्रिस पिंचर को डिप्टी चीफ व्हिप नियुक्त करने को लेकर भी काफी बवाल खड़ा हो गया था। इस वजह से जॉनसन के खिलाफ और ज्यादा अविश्वास बढ़ गया था।

पार्टी के लोगों को लगता है कि जॉनसन न तो काबिल हैं और न ही इस पद के लायक और अतीत में उन्होंने झूठ बोलकर गलत लोगों को बचाया है। सांसद क्रिस पिंचर के यौन दुराचार का मामला अब काफी गंभीर हो गया है, जिसका अतीत कलंकित हो चुका है।

 Rishi Sunak Resignation: ब्रिटेन के फाइनेंस मिनिस्टर ऋषि सुनक ने क्यों दिया इस्तीफा, बोरिस पर लगाए ये आरोप

इधर विवाद बढ़ता देख जॉनसन ने मंगलवार को कबूल किया कि पिंचर को सरकार में शामिल करने का उनका फैसला गलत साबिह हुआ। इसके लिए उन्होंने माफी भी मांगी। PM के माफी मांगने के कुछ मिनट के बाद ही दोनों ही मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया।

rishi-sunak-with-wife--1
सुनक के घर पर आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में बुधवार को ऋषि सुनक की पत्नी और इंफोसिस कंपनी के फाउंडर नारायण मूर्ति की बेटी अक्षता पत्रकारों के लिए खुद ट्रे में चाय लेकर आईं।

पीएम पद के दावेदार ऋषि सुनक की पत्नी अक्षता भी सक्रिय

ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री की रेस में पूर्व वित्त मंत्री ऋषि सुनक और फॉरेन कॉमन वेल्थ एंड डेवलपमेंट अफेयर्स सेक्रेटरी लिज ट्रस सबसे आगे चल रहे हैं। कोरोना राहत पैकेज के कारण सुनक खासे लोकप्रिय हो गए थे। 

PM पद की दावेदारी में आगे चल रहे ऋषि सुनाक के घर पर खासी चर्चा भी परवान पर है। ऋषि की पत्नी अक्षता मूर्ति भी इस मामले में सक्रिय नजर आ रही हैं। गौरतलब है कि अक्षता इंफोसिस के को-फाउंडर नारायण मूर्ति की बेटी हैं।

17 Ministers Against PM Britain Boris Johnson
48 घंटे में बोरिस सरकार के 50 से ज्यादा मंत्री और सांसदों ने इस्तीफा दे दिया है। फाइल फोटोः Getty Images

अक्षता का पत्रकारों के लिए ट्रे में चाय लेकर आना ब्रिटिश मीडिया में सनसनी बन गया है। पीएम पद के दावेदारों में वर्तमान फाइनेंस मिनिस्टर नदीम जहावी और पूर्व विदेश मंत्री जेरेमी हंट भी इस रेस में हैं। माना जा रहा है कि पूर्व डिफेंस मिनिस्टर पैनी मॉरडॉट भी अपनी दावेदारी रख सकती हैं। बोरिस जॉनसन के विरुद्ध पिछले काफी समय से पैनी खिलाफ रही हैं।

 एक झटके में ब्रिटेन के वित्तमंत्री का पद छोड़ने वाले भारतीय मूल के ऋषि सुनक आखिर कौन हैं?

बोरिस के दोस्त पिंचर के सैक्स स्कैंडल से सरकार में बवाल

जॉनसन के विश्वासपात्र डिप्टी चीफ व्हिप क्रिस पिंचर 30 जून को एक सैक्स स्कैंडल में फंसे गए थे। जिसके बाद उन्होंने इस्तीफा भी सौंप दिया था। लेकिन पार्टी के लोगों का आरोप है कि पिंचर के खिलाफ सेक्‍सुअल मिसकंडक्ट (यौन उत्पीड़न) के 6 केस चल रहे हैं। इस्तीफा देने वाले मंत्रियों ने आरोप लगाया है कि कि एम जॉनसन ये सब जानते थे।

कंजरवेटिव समर्थकों ने कहा- बोरिस पद से रिजाइन करें

बुधवार को YouGov के सर्वे में पहली बार सत्ताधारी कंजरवेटिव पार्टी के 54 फीसदी समर्थकों ने कहा कि बोरिस को पद छोड़ देना चाहिए। जून में हुए सर्वे में 34 फीसदी ने ही बोरिस को पद छोड़ने को कह दिया था। सर्वे में शामिल रहे 70 फीसदी ब्रिटिश लोग बोरिस के इस्तीफे के पक्ष में नजर आ रहे हैं।

70 फीसदी लोगों ने सर्वे में कहा कि वो चाहते हैं कि जॉनसन सरकार चली जाए। इसमें कंजर्वेटिव पार्टी के आधे से ज्यादा वोटर भी थे।

boris johnson news

इस्तीफे के बाद, जॉनसन (boris johnson news) ने अपने आधिकारिक आवास 10, डाउनिंग स्ट्रीट पर फोन करके अपने प्रत्येक मंत्री पर दबाव बनाने की कोशिश की, और यह भी कहा कि वह किसी भी परिस्थिति में इस्तीफा नहीं देंगे। उनकी सरकार बनी रहेगी। जॉनसन का यह भी कहना है कि पिछले चुनाव में उनके नेतृत्व की वजह से ही कंजरवेटिव पार्टी जीतकर सत्ता में आई थी, इसलिए वह किसी भी हालत में सरकार को अस्थिर नहीं होने देंगे। अगर वह इस्तीफा देते हैं, तो पार्टी कमजोर होगी, इसलिए वह ऐसा नहीं करना चाहते हैं।

21 जुलाई से संसद का ब्रेक, इससे पूर्व वोटिंग की तैयारी

21 जुलाई से ब्रिटिश संसद ब्रेक पर जाएगा। संसद की वैकेशंस से पहले बागी सांसद और नेता अपने पक्ष में माहौल करना चाहते हैं। जिससे प्रधानमंत्री जॉनसन के खिलाफ वोटिंग हो सके। साथ ही सत्तारूढ़ कंजरवेटिव कार्यकारी बैठक बुला कर नए नेता का चुनाव हो सके।

यदि बोरिस जॉनसन इस्तीफा देते हैं तब क्या होगा?

कंजरवेटिव पार्टी हाउस ऑफ कॉमन्स में पूर्ण बहुमत में है तो उसके सत्ता से बाहर होने का कोई खतरा नहीं है। जॉनसन के इस्तीफे की स्थिति में पार्टी के सभी नेता जो प्रधानमंत्री पद के दावेदार हैं, दो सांसदों के समर्थन से नामांकन दाखिल करेंगे। जब तक उन दावेदारों को बचाया नहीं जाता तब तक हर बार पार्टी स्तर उस पर वोट करेगा। फिर दो में यह तय हो जाता था कि पार्टी के अधिक सांसद किसके साथ हैं। यह प्रक्रिया कभी-कभी लंबी खिंच जाती है।

boris johnson news | uk prime minister | boris johnson approval rating | boris johnson latest news | has boris johnson resigned as prime minister | boris johnson announcement today | 

ये भी पढ़ें 

छत्तीसगढ़ में निर्भया जैसी हैवानियत:दुष्कर्म कर गुप्तांग में तवे का मूठ डाला, महिला ने बचाव की कोशिश की तो कर दी हत्या 

 ये क्यूट Rain Bugs क्यों हो रहे विलुप्त!

हॉलीवुड स्टार टॉम क्रूज की लाइफ स्टोरी के बारे में और ज्यादा व पूरी जानकारी यहां देखें

 मूसेवाला का SYL गाना बैन: बंदी सिखों की रिहाई और पंजाब-हरियाणा के विवादित नहर के मुद्दे की बात, YouTube से भी हटाया

Elon Musk ने फिर क्यों कहा ज्यादा बच्चे पैदा करो, भविष्यवाणी की – जापान दुनिया से गायब हो जाएगा

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *