दुनियां में कहीं भी बिना पासपोर्ट के सैर कर सकेंगे किंग चार्ल्स III- जानिए रॉयल फैमिली हेड को ये छूट क्योंॽ

Unitd Kingdom King Size Life
Photo | Getty Images

Unitd Kingdom King Size Life : ब्रिटेन की  क्वीन एलिजाबेथ द्वितीय का गुरुवार को 96 साल की उम्र में निधन हो गया। क्वीन के निधन के बाद उनके बेटे प्रिंस चार्ल्स को राजा (King Charles III new Emperor) बनाया गया है। जैसे ही ब्रिटेन के नए राजा, किंग चार्ल्स तृतीय ने गद्दी संभाली, उन्हें वे सभी विशेष सुविधाएं स्वतः ही मिल गई हैं‚ जो दुनिया में किसी भी व्यक्ति को नहीं मिली हैं। 

बता दें कि किंग चार्ल्स III अब बिना पासपोर्ट के विदेश यात्रा कर सकेंगे और उन्हें कोई वाहन चलाने के लिए ड्राइविंग लाइसेंस की जरूरत भी नहीं पड़ेगी। आपको बताते हैं कि किंग चार्ल्स III के राज्याभिषेक के बाद कौन सी सुपर अल्ट्रा स्पेशल सुविधाएं मिल सकेंगी।

ब्रिटेन हेड को न पासपोर्ट की जरूरत न ड्राइविंग लाइसेंस की 

अब किंग चार्ल्स III को पासपोर्ट की जरूरत नहीं होगी। वहीं यदि किंग को विदेश यात्रा करनी है तो वे बिना पासपोर्ट के भी यात्रा कर सकेगा। ये छूट रॉयल किंग पर लागू होगी। ऐसा इसलिए क्योंकि देश में सभी पासपोर्ट राजा के नाम से ही जारी किए होते हैं। 

इसलिए उन्हें पासपोर्ट की भी जरूरत नहीं है। इसी तरह, इंग्लैंड में किंग चार्ल्स अकेले ऐसी शख्सियत हैं जिन्हें वाहन चलाने के लिए लाइसेंस की भी आवश्यकता नहीं पड़ेगी। ऐसे में वे बिना ड्राइविंग लाइसेंस के ही वाहन चला सकते हैं। 

दरअसल ब्रिटेन में पासपोर्ट, लाइसेंस या कोई अन्य दस्तावेज जारी करते समय राजा से इसके लिए रिक्वेस्ट करनी होती है।  प्रत्येक डॉक्यूमेंट की प्रीफेस यानी प्रस्तावना में यह स्पष्ट रूप से मेंशन किया गया है कि यह महाराजा की सहमति से जारी किया जा रहा है। इस कारण राजा को बिना किसी दस्तावेज के गाड़ी चलाने का अधिकार है। 

प्रत्येक डॉक्यूमेंट के प्रीफेस में क्या लिखा होता है… आप भी जानें

His Britannic Majesty’s Secretary of State requests and requires in the name of His Majesty all those whom it may concern to allow the bearer to pass freely without let or hindrance and to afford the bearer such assistance and protection as may be necessary. 

ब्रिटेन के सम्राट साल में दो बार मना सकते हैं जन्मदिन

ब्रिटेन के शाही परिवार में क्राउन प्रिंस साल में दो बार अपना जन्मदिवस मनाते हैं। किंग पहले अपना असली जन्मदिन मनाता है जो निजी तौर पर मनाया जाता है। दूसरा, आधिकारिक जन्मदिन आम आदमी के लिए मनाया जाता है। इसमें आम लोग इकट्ठा होते हैं और कई कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। 

चार्ल्स की मां महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के दो जन्मदिन थे। रानी का वास्तविक जन्मदिन 21 अप्रैल था। लेकिन यह कार्यक्रम जून के दूसरे मंगलवार को रानी के जन्मदिन के आधिकारिक सार्वजनिक उत्सव को चिह्नित करने के लिए आयोजित किया गया है। 

किंग चार्ल्स का जन्मदिन भी 14 नवंबर को शुरुआती सर्दी है, इसलिए संभावना है कि वह अपना आधिकारिक जन्मदिन गर्म दिवस पर सेलिब्रेट करें। 

शाही परिवार के इस सार्वजनिक उत्सव को द ट्रूपिंग द कलर (The Trooping the colour) के नाम से जाना जाता है। यह परंपरा 250 साल पुरानी परंपरा है। जयंती के दौरान सैन्य प्रदर्शन होते हैं। इसमें 1,400 से अधिक सैनिक, 200 घोड़े और 400 संगीतकार शामिल हैं। 

रॉयल एयर फोर्स आखिरकार फ्लाई पास्ट करती है और इसी के साथ प्रोग्राम खत्म होता है। शाही परिवार के सदस्य लंदन के बकिंघम पैलेस की बालकनी से इसका आनंद लेते हैं।

Photo | Getty Images

महाराजा वोट नहीं करते

ब्रिटेन का सम्राट मतदान नहीं करता है और न ही वह कभी चुनाव लड़ता है। ब्रिटेन के शाही परिवार के मुखिया के रूप में वह पूरी तरह से तटस्थ रहते हैं। यानी किंग चार्ल्स ब्रिटेन के राजनीतिक मामलों में तटस्थ रहेंगे। 

हालांकि, वे औपचारिक रूप से संसदीय सत्र के उद्घाटन में भाग लेते हैं। राजा संसद में कानून को मंजूरी देने के लिए यूके के प्रधानमंत्री के साथ साप्ताहिक बैठकें भी करता है। एक तरह से औपचारिक रूप से ब्रिटेन पर राजा का शासन है।

ब्रिटिश सम्राट न केवल लोगों पर शासन करता है, बल्कि वह अपने क्षेत्र में आने वाले हर जानवर का राजा भी होता है। 12वीं शताब्दी से इंग्लैंड और वेल्स में खुले पानी में रहने वाले हंसों को भी शाही राजा की संपत्ति माना जाता है। 

हर साल इन हंसों की गिनती टेम्स नदी में की जाती है। हालांकि अब वे सुरक्षित हैं। इसी तरह पानी में रहने वाली डॉल्फिन, व्हेल, स्टर्जन आदि को शाही संपत्ति माना जाता है।

10 साल में एक बार शाही कवि नियुक्त किया जाता है

राजा अपने लिए एक कवि की नियुक्ति करता है। यह नियुक्ति हर 10 साल में एक बार की जाती है। इन दस वर्षों में वह सम्राट के लिए विभिन्न अवसरों के लिए कविताएँ, छंद लिखता है। यह परंपरा 17वीं सदी से चली आ रही है। 2009 में, महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने कैरल एन डफी को राज्य कवि के रूप में नियुक्त किया। 

वह शाही परिवार की पहली महिला कवयित्री थीं। डफी ने 2011 में प्रिंस विलियम की शादी में कविता लिखी थी। इसके अलावा, 2013 में महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के राज्याभिषेक की 60वीं वर्षगांठ और 2018 में प्रिंस हैरी की शादी के लिए भी कविताएं लिखी गई थीं।

शाही वारंट सम्मान पाने वाली कंपनियों के मिलता हे फायदा

शाही वारंट पारंपरिक रूप से राजा द्वारा जारी किए जाते हैं। शाही वारंट को अत्यंत सम्मान के साथ देखा जाता है। कोई भी व्यापारिक घराने, मॉल या व्यवसायी जो सम्राट या रानी को अपनी सेवाएं देता है या जिससे शाही परिवार सामान खरीदता है, उन्हें शाही वारंट जारी करता है। 

शाही वारंट से तात्पर्य ये है कि राजशाही को स्प्लाई व सर्विस। शाही वारंट जारी होने के बाद उस प्रतिष्ठान की बिक्री भी बढ़ जाती है और इसे सम्मान की दृष्टि से देखा जाता है। 

जिन लोगों को शाही वारंट जारी किया जाता है, वे भी शाही हथियारों का इस्तेमाल कर सकते हैं। यूके में रॉयल वारंट वाली कंपनियों में जगुआर कार्स, लैंड रोवर, बरबेरी, कैडबरी, सैमसंग, वेट्रोज़ सुपरमार्केट शामिल हैं।

Unitd Kingdom King Size Life | King Charles III new Emperor | Queen Elizabeth II | Britain’s longest-serving monarch | The royal family of UK | King Charles | grandsons William and Harry | London | Prince Philip | 

ये भी पढे़ं   

 Queen Elizabeth II Died: ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ का स्कॉटलैंड के बाल्मोरल कैसल में निधनः 96 वर्ष की उम्र में ली अंतिम सांस

 NASA Moon Mission Artemis- I: नासा मून मिशन की आर्टेमिस-1 लॉन्च का दूसरा प्रयास भी विफल‚ 50 साल बाद चांद पर उतरने की पूरी तैयारी समझिए

Salman Rushdie Attacked: सैटेनिक वर्सेज के लेखक सलमान रुश्दी पर जानलेवा हमलाः जानें क्यों हमेशा विवादों में रहे

Ayman al Zawahiri Killed:  काबुल में  Ninja मिसाइलों ने उड़ाए 20 करोड़ इनामी जवाहिरी के परखच्‍चे

घर में नौकर के काम से मालकिन इतना इंप्रेस हुई कि इश्क हो गया और रचा ली शादीǃ  

जिगरी दोस्त और गूगल के को-फाउंडर Sergey Brin की वाइफ से इश्क कीमत यूं चुकाएंगे Elon Musk

 लंका बदहाल, नेता मालामाल: श्रीलंका के राष्ट्रपति आवास में मिले नोटों के बंडल, Video Viral- प्रदर्शनकारियों ने पूरे पैसे सेना को सौंपे

इंडिया-पाक की ये दो लेस्बियन लड़कियां बन रहीं औरों के लिए प्रेरणाः ऐसे की थी दोनों ने शादी, लवस्टोरी वायरल

डोनाल्ड ट्रंप की पहली पत्नी IvanaTrump की मौत:20 साल छोटे मॉडल से चौथी शादी की, हमेशा अपने बयानों से सुर्खियों में रहीं

युवती को बॉयफ्रेंड के सामने फार्ट रोकना पड़ा महंगा, जानिए क्यों होती हैं ये समस्या और क्या है सॉल्यूशन

 Baba Vanga Predictions :  कौन थी बाबा वेंगा जिनकी दो भविष्यवाणी 2022 में सत्य हो रही

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *