यौन संबंध के लिए नकली लिंग का इस्तेमाल करने पर ट्रांसजेंडर पुरुष को 10 साल की जेल Read it later

Tarjit Singh was found guilty of assault by penetration
Representative Image | Getty Images

लंदन (London) में यौन संबंध के लिए नकली लिंग (prosthetic penis) के इस्तेमाल पर एक ट्रांसजेंडर पुरुष को 10 साल की सजा होने का मामला सामने आया है। दरअसल यहां की एक अदालत में ट्रांसजेंडर व्यक्‍ति को दो महिलाओं और एक टीनएज गर्ल के साथ नकली लिंग के जरिए यौन संबंध बनाने का दोषी पाया गया।  

इसके चलते अदालत ने उसे 10 साल की सजा सुनाई है। जानकारी के अनुसार 32 वर्षीय तरजीत सिंह (Tarjit Singh) जन्म एक लड़की के रूप में हुआ था। उसका बचपन में नाम हन्ना वाल्टर्स (Hannah Walters) था।  वहीं अब बड़े होने पर उसकी पहचान एक पुरुष के तौर पर है। रिपोर्ट्स के अनुसार जांच करने पर तरजीत पर यौन संबंध बनाते समय प्रोस्थेटिक पेनिस का यूज करने का आरोप साबित हुआ।  

ये भी पढ़ें –  LGBTQIA+ का मतलब क्या है : पहनावे नहीं, सेक्सुशल प्रेफरेंस से पहचाने जाते हैं, जानिए इस समुदाय के बारे में वो सबकुछ जो आपको पता होना चाहिए 

यौन संबंध के दौरान 10 मामलों में दोषी

रिपोर्ट के अनुसार, स्नेरेसब्रुक क्राउन की अदालत में इस केस की सुनवाई चली। तरजीत सिंह को संबंध के दौरान हमले से जुड़े 3 केस, फिजिकली रूप से नुकसान पहुंचाने वाले हमले के 6 केस और जान से मारने के लिए धमकाने के एक मामले में दोषी घोषित किया गया।  

केस की सुनवाई के वक्त कोर्ट को पता चला कि तरजीत सिंह ने एक महिला को आग के हवाले कर मारने की  धमकी भी दी थी। उसने मोबाइल से पीड़िता की नाक पर हमला भी किया था। जिससे महिला की नाक पर गंभीर चोट आई थी।  तरजीत को महिला पर थप्पड़ और पंच मारने का भी दोषी पाया गया है। 

Tarjit Singh was found guilty of assault by penetration
Representative Image | Getty Images

जज ऑस्कर फैब्रो ने कहा- अपराधी तरजीत सिंह समाज के लिए खतरनाक

मामले में जज ऑस्कर डेल फैब्रो ने अपने वर्डिक्ट में कहा कि तरजीत सिंह एक खतरनाक अपराधी है और उसे समाज में आजाद नहीं छोड़ा जा सकता है। वो फ्यूचर में लोगों को गंभीर तौर पर नुकसान पहुंचा सकता है। इसने तीन पीड़ितों के विरुद्ध कई बार हिंसक हमलों को अंजाम दिया है।  जज ने ये भी कहा कि तरजीत झूठ को सच साबित करने  में भी अव्वल है। उसने कई लोगों से लगातार झूठ के दम पर अपने रिश्ते कायम किए।

ये भी पढ़ें  – पीरियड्स का टैबू : कई देशों में इससे जुड़ी हैरान करने वाली प्रथाएं, कहीं पिया जाता है खून तो कहीं पहले पीरियड में होती लड़की की पूजा

जज ने कहा- दोषी ने कभी अपने लिंग के बारे में खुलकर नहीं बताया बल्कि धोखे का रास्ता अपनाया

जज ने अपने निर्णय में ये भी बताया कि तरजीत सिंह ने कभी खुलकर लिंग के बारे में ईमानदारी से अपनी बात नहीं रखी। इसकी बजाय उसने झूठ और छल का रास्ता इख्तियार किया। जज ने कहा कि तरजीत खुद को समाज के सामने पुरुष की तरह प्रस्तुत करता रहा।  

केस की सुनवाई के समय एक पीड़िता ने अपने स्टेटमेंट में कहा कि  इस घटना से मैं मेंटली डिस्टर्ब हो गई। महिला ने कहा कि मुझे  गंभीर तौर पर हाई डिप्रेशन का सामना करना पड़ा था‚ जिसके लिए मुझे कई दफा डिप्रेशन की दवा लेनी पड़ी थी। 

Manchester Crown Court in the UK creative writing graduate Gayle Newland
ये गेल न्यूलैंड हैं। जिन्हें साल 2017 में कोर्ट ने साढ़े छह साल की सज़ा सुनाई थी। फोटो साभारः बीबीसी।

साल 2017 में एक महिला को प्रोस्थेटिक लिंग के इस्तेमाल में दोषी पाए जाने के बाद हुई थी सजा

आपको बता दें कि ये पहला मामला नहीं है जब प्रोस्थेटिक पेनिस की धोखेबाजी को लेकर किसी को सजा हुई हो। दरअसल  साल 2017 में भी एक  महिला को इस तरह के मामले में सजा सुनाई गई थी। बात दें कि कृत्रिम लिंग (प्रोस्थेटिक पेनिस) पहन कर मेल यानी मर्द बनने का धोखा देने वाली एक महिला को कोर्ट ने सज़ा सुनाई थी। 

जानकारी के अनुसार ब्रिटेन की 27 साल की गेल न्यूलैंड (Gayle Newland) ने साल 2015 में ऑनलाइन एक फर्ज़ी प्रोफ़ाइल बनाकर खुद को को मर्द बताया था।ये बात साल 2013 की है। दोषी महिला गेल को नवंबर साल 2015 में किए गए इस अपराध के लिए आठ साल की सजा सुनाई गई थी।

लेकिन बाद में ये सजा इसलिए रद्द कर दी गई क्योंकि सुनवाई करने वाले जज का निर्णय ट्रांसपरेंट और बैलेंस्ड नहीं था। लेकिन मामले की दुबारा जांच हुई और सुनवाई शुरू हुई तो ज्यूरी ने पाया गया कि न्यूलैंड ने तीन बार बिना महिला को बताए उसके संग प्रोस्थेटिक पेनिस के साथ संबंध बनाया था। इसमें वो दोषी साबति हुई।

पीड़िता का आरोपः संबंध बनाते समय अभियुक्त महिला न्यूजलैंड ने आंखों पर पट्टी बांधे रखने के लिए राजी किया

न्यूलैंड अपने पर लगे इन आरोपों से इनकार करती रही।  इसके बाद मानचेस्टर क्राउन कोर्ट में न्यूजलैंड को साल 2017 में साढ़े छह साल की सज़ा सुनाई थी। इस सुनवाई के वक्त पीड़िता ने कोर्ट में कहा था कि संबंध बनाते समय महिला अभियुक्त ने उसे आंख पर पट्टी बांधे रहने के लिए राजी कर लिया था।

पीड़िता का कहना था कि जब उसे महसूस हुआ कि वो पुरुष की की जगह किसी महिला के साथ है तो उसने फौरन पट्टी हटा दी थी। महिला को लगा था कि वो किसी किसी ‘के फ़ार्च्यून’ के साथ यौन संबंध बना रही है, जैसा गेल न्यूलैंड ने अपनी फ़ेसबुक प्रोफ़ाइल में दिखा रखा था।

 पढ़ें- इश्कबाज ऑथर सलमान रुश्दी की कहानी

 बता दें कि अपनी इस प्रोफ़ाइल को न्यूलैंड ने महज 15 साल की उम्र में बनाया था और इसके लिए उसने एक अमेरिकी पुरुष की फ़ोटो और वीडियो को यूज किया था।

कोर्ट में न्यूलैंड ने अपना जेंडर छुपाने की बात से इनका किया था। उसने दावा किया कि दोनों ही महिलाएं समलैंगिक हैं और वो अपनी सेक्सुअलिटी को लेकर परेशान रहा करतीं थीं। ऐसे में जब मैं उनसे मिली तो मैंने उनके साथ संबंध बनाया था। न्यूलैंड ने बताया कि उस दौरान मैंने  ‘के’ के रूप में अपनी मर्द की भूमिका निभाई थी।

sexual relationships by using a prosthetic penis | Tarjit Singh | Hannah Walters | UK Crime | London 

ये भी पढे़ं   

घर में नौकर के काम से मालकिन इतना इंप्रेस हुई कि इश्क हो गया और रचा ली शादीǃ  

जिगरी दोस्त और गूगल के को-फाउंडर Sergey Brin की वाइफ से इश्क कीमत यूं चुकाएंगे Elon Musk

 लंका बदहाल, नेता मालामाल: श्रीलंका के राष्ट्रपति आवास में मिले नोटों के बंडल, Video Viral- प्रदर्शनकारियों ने पूरे पैसे सेना को सौंपे

इंडिया-पाक की ये दो लेस्बियन लड़कियां बन रहीं औरों के लिए प्रेरणाः ऐसे की थी दोनों ने शादी, लवस्टोरी वायरल

डोनाल्ड ट्रंप की पहली पत्नी IvanaTrump की मौत:20 साल छोटे मॉडल से चौथी शादी की, हमेशा अपने बयानों से सुर्खियों में रहीं

युवती को बॉयफ्रेंड के सामने फार्ट रोकना पड़ा महंगा, जानिए क्यों होती हैं ये समस्या और क्या है सॉल्यूशन

 Baba Vanga Predictions :  कौन थी बाबा वेंगा जिनकी दो भविष्यवाणी 2022 में सत्य हो रही

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *