Alt News के ‘फैक्ट चेकर’ मोहम्मद जुबैर कौन हैं? इन्हीं ने नुपुर शर्मा के बयानों को ट्वीट किया था

Alt News co-founder Mohammed Zubair
फोटोः सोशल मीडिया।

Mohammed Zubair Arrested: दिल्ली पुलिस ने ऑल्ट न्यूज़ (Alt News) के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर को सोमवार रात गिरफ्तार कर लिया। जुबैर पर धार्मिक भावनाओं को भड़काने के आरोप लगे हैं। दरअसल दिल्ली पुलिस को टैग करते हुए माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर एक शख्स की ओर से दर्ज कराई गई शिकायत के बाद जुबैर पर एफआईआर दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार किया गया। 

FIR दर्ज कराने वाले शख्स ने आरोप लगाया कि जुबैर ने उसकी धार्मिक भावनाओं को आहत किया है और इसलिए कानूनी कार्रवाई की जानी चाहिए। पुलिस ने इस माह की शुरुआत में इस शिकायत पर IPC की धारा 153A और 295A के तहत मामला दर्ज किया था। ऐसे में आप भी जानना चाहेंगे कि आखिर मोहम्मद जुबैर हैं कौन? और ये पहला मौका नहीं है जब मोहम्मद जुबैर चर्चा में हैं। 

If you endorse a view on social media, it becomes your view. Retweeting & saying I don’t know, doesn’t stand here. Responsibility is yours. Time does not matter, you only have to re-tweet & it becomes new. Police action was on basis of when matter came to our cognizance: DCP IFSO pic.twitter.com/1zQcRPKR80

— ANI (@ANI) June 28, 2022

देश में फेक न्यूज की बाढ़ के बाद 2017 में बनाई थी फैक्ट चेक की Alt News वेबसाइट

मोहम्मद जुबैर (Mohammed Zubair) फैक्ट चेकिंग पोर्टल ऑल्ट न्यूज (Alt News) के को-फाउंडर हैं। उन्होंने सॉफ्टवेयर इंजीनियर रहे प्रतीक सिन्हा के साथ मिलकर साल 2017 में ऑल्ट न्यूज के नाम से न्यूज पोर्टल शुरू किया था। (who is mohammed zubair) जुबैर ने ही बीजेपी की पूर्व नेशनल स्पोक्सपर्सन रहीं नुपुर शर्मा के विवादित बयानों को एक के बाद ट्वीट किया था। (alt news zubair nupur) इसके बाद खाड़ी मुस्लिम देशों से भारत सरकार को कड़ी प्रतिक्रिया झेलनी पड़ी थी। बढ़ते दबाव को देख बीजेपी को नुपुर शर्मा को निष्कासित करना पड़ा और सरकार ने भी उनके बयानों से दूरी बना ली थी। 

हिन्दू शेर सेना के सीतापुर प्रमुख ने की शिकायत

जुबैर (mohammed zubair kaun hai) को जिस केसे में अरेस्ट किया गया है दरअसल उसमें हिन्दू शेर सेना की सीतापुर शाखा के प्रमुख भगवान शरण ने शिकायत दर्ज कराई थी।  दिल्ली पुलिस की प्राथमिकी में भगवान शरण ने शिकायत में कहा था कि 27 मई को, उन्होंने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर देखा कि मोहम्मद जुबैर ने हिंदू शेर सेना के नेशनल कस्टोडियन बजरंग मुनि के खिलाफ ‘हेटमॉन्गर’ जैसे गलत शब्दों का इस्तेमाल किया गया था। भगवान शरण ने अपनी शिकायत में ये भी कहा कि जुबैर ने हिंदू यति नरसिंहानंद और स्वामी आनंद स्वरूप का भी अपमान किया था।’

शिकायत में बताया गया है कि जुबैर Mohammed Zubair ने बदइरादे से जानबूझकर समाज में घृणा फैलाने और मुसलमानों को भड़काने के साथ ही साजिशन हिंदू भावनाओं को आहत करने का प्रयास किया। जुबैर के बयानों से हिंदू आक्रोशित हैं।  उनके इस तरह के बयानों से हिन्दुओं में नाराजगी है.” भगवान शरण की शिकायत में ये भी आरोप लगाए गए है कि जुबैर ने मुसलमानों को हिंदू नेताओं की हत्या के लिए उकसाने का काम किया।

Alt News co-founder Mohammed Zubair sent to 1-day police remand pic.twitter.com/JRHddlLjlX

— ANI (@ANI) June 27, 2022

2020 में NCPCR ने भी दर्ज कराई थी शिकायत

इससे पहले साल 2020 में राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) के अध्यक्ष प्रियांक कानूनगो की कंम्पलेन पर दिल्ली पुलिस ने जुबैर के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी। जुबैर ने अपने 6 अगस्त 2020 को किए गए ट्वीट में एक नाबालिग की पहचान उजागर कर दी थी। वहीं ट्विटर की ओर से जुबैर का ट्वीट हटाने से इनकार करने पर NCPCR, हाईकोर्ट पहुंचा था एचसी में  NCPCR ने आरोप लगाया था कि संबंधित ट्वीट के माध्यम से कानून की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। 

फिर साल 2022 में यानी इसी साल फरवरी में इस केस में दिल्ली हाईकोर्ट ने पुलिस से स्टेटस रिपोर्ट देने का निर्देश दिया था। इसके बाद मई माह में कोर्ट हीयरिंग में दिल्ली पुलिस ने कहा था कि जुबैर की ओर से किए गए ट्वीट से ‘कोई संज्ञेय अपराध’ का केस नहीं बनता है।

2018 में भी जुबैर ने हिंदू देवी देवताओं को लेकर किया था विवादित ट्वीट : दिल्ली पुलिस

वहीं दिल्ली पुलिस ने बयान जारी कर कहा है कि ट्विटर हैंडल पर मिली शिकायत के बाद मोहम्मद जुबैर के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। जुबैर इस मामले में जांच में शामिल हुए थे और स्पेशल सेल दिल्ली स्टेशन पर केस दर्ज किया गया था। फिर जब मोहम्मद जुबैर के खिलाफ पर्याप्त सबूत मिले तो उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। दिल्ली पुलिस ने यह भी कहा कि मोहम्मद जुबैर द्वारा आपत्तिजनक तस्वीर ट्वीट करने से एक धर्म के देवताओं का जानबूझकर अपमान किया गया। मोहम्मद जुबैर ने कथित तौर पर यह ट्वीट साल 2018 में हिंदू धार्मिक देवताओं को लेकर किया था।

Mohammed Zubair  की गिरफ्तारी पर उठ रहे सवाल?

इधर जुबैर की गिरफ्तारी पर सवाल भी उठने लगे हैं। दरअसल कानूनी सवाल ये उठाया जा रहा है कि क्या पुलिस ने जुबैर की गिरफ्तारी के लिए कानूनी की सही प्रक्रिया का पालन किया था या नहीं? वहीं उन्हें गिरफ्तार से पहले क्या कोई प्राथमिकी और जांच का नोटिस दिया गया था?

अरुणेश कुमार बनाम बिहार राज्य मामले में गिरफ्तारी के दिशा-निर्देशों में साफ कहा जा चुका है कि 7 साल से कम के कारावास की सजा से जुड़े अपराधों के लिए गिरफ्तारी जरूरी नहीं है, जब तक कि जांच की कोई जांच जरूरी न हो। अरुणेश कुमार बनाम बिहार राज्य मामले के फैसले में यह भी कहा गया कि किसी भी गिरफ्तारी प्रक्रिया से पहले सीआरपीसी की धारा 41 के अनुसार आरोपी को जांच का नोटिस जारी किया जाना चाहिए। नोटिस में आरेपी को जांच में शाामिल होने के लिए कहा जा सकता है। 

Please note. pic.twitter.com/gMmassggbx

— Pratik Sinha (@free_thinker) June 27, 2022

जुबैर को एक दिन की पुलिस हिरासत भेजा, वकील को मिलने की परमिशन

दिल्ली पुलिस ने अदालत से जुबैर (Mohammed Zubair) के लिए एक दिन की पुलिस रिमांड मांगी थी। जिसके तहत अदालत ने सभी तथ्यों पर विचार करते हुए जुबैर को एक दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया है। जुबैर के वकील ने भी इस दौरान जमानत के लिए अर्जी दी, लेकिन कोर्ट ने इसे खारिज कर दिया। हालांकि, अदालत ने कानूनी सहायता के लिए मोहम्मद जुबैर के वकील को दिन में एक बार पुलिस हिरासत में 30 मिनट के लिए मिलने की परमिशन दी है।

दूसरे सह संस्थापक प्रतीकी सिन्हा की भी हो सकती है गिरफ्तारी  वहीं दूसरी ओर ये बात भी सामने आ रही है कि जिस ट्विटर यूजर के ट्वीट पर ऑल्ट न्यूज़ के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर को गिरफ्तार किया गया है। उसने 28 जून 2022 (मंगलवार) को संस्थान के दूसरे सह-संस्थापक प्रतीक सिन्हा (Prateek Sinha) के खिलाफ भी कार्रवाई की मांग उठा दी है। ऐसा इसलिए क्योंकि प्रतीक सिन्हा ने भी हिंदू देवी देवताओं पर आपत्तिजनक ट्वीट किया था, जिसमें सिन्हा भगवान गणेश को ही भगवान को पूजने से अप्रत्यक्ष तौर पर मना कर रहे हैं।    अपने ट्वीट में ट्विटर यूजर @balajikijaiin ने सिन्हा के ट्वीट का हवाला देते हुए कहा, “इसे आप क्या कहेंगे? यह व्यक्ति खुले तौर पर हिंदुओं की धार्मिक स्वतंत्रता को चोट पहुँचा रहा है। दिल्ली पुलिस, डीसीपी साइबर क्राइम सेल, कृपया कार्रवाई करें।”
ऑल्ट न्यूज के दूसरे सह-संस्थापक प्रतीक सिन्हा।  फोटोः सोशल मीडिया।

दूसरे सह संस्थापक प्रतीकी सिन्हा की भी हो सकती है गिरफ्तारी

वहीं दूसरी ओर ये बात भी सामने आ रही है कि जिस ट्विटर यूजर के ट्वीट पर ऑल्ट न्यूज़ के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर को गिरफ्तार किया गया है। उसने 28 जून 2022 (मंगलवार) को संस्थान के दूसरे सह-संस्थापक प्रतीक सिन्हा (Prateek Sinha) के खिलाफ भी कार्रवाई की मांग उठा दी है। ऐसा इसलिए क्योंकि प्रतीक सिन्हा ने भी हिंदू देवी देवताओं पर आपत्तिजनक ट्वीट किया था, जिसमें सिन्हा भगवान गणेश को ही भगवान को पूजने से अप्रत्यक्ष तौर पर मना कर रहे हैं। 

Prateek Sinha tweet

अपने ट्वीट में ट्विटर यूजर @balajikijaiin ने सिन्हा के ट्वीट का हवाला देते हुए कहा, “इसे आप क्या कहेंगे? यह व्यक्ति खुले तौर पर हिंदुओं की धार्मिक स्वतंत्रता को चोट पहुँचा रहा है। दिल्ली पुलिस, डीसीपी साइबर क्राइम सेल, कृपया कार्रवाई करें।” 

The said post of Mohd. Zubair containing picture & words against a particular religious community are highly provocative & done deliberately which are more than sufficient to incite hatred among people which can be detrimental for maintenance of public tranquillity: Delhi Police

— ANI (@ANI) June 27, 2022

Mohammed Zubair
फोटोः ट्वीटर।

जुबैर के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए अपने ट्वीट में @balajikijaiin ने ये भी कहा था, कि दिल्ली पुलिस, हमारे भगवान हनुमानजी को हनीमून से जोड़ना हिंदुओं का सीधा अपमान है, क्योंकि वह ब्रह्मचारी थे। डीसीपी साइबर क्राइम सेल, कृपया इस शख्स के खिलाफ कार्रवाई करें।

मोहम्मद जुबैर कौन हैं विस्तृत जानकारी के लिए यहां  क्लिक करें 

Mohammed Zubair | Mohammed Zubair Arrested | Alt News | Nupur Sharma | Hindu Sher Sena | Fact-Checking Site Alt News | Alt News co-founder Mohammed Zubair | Mohammad Zubair News | zubair alt news tweet | mohammed zubair alt news wikipedia | who is mohammed zubair | alt news zubair nupur | mohammed zubair kaun hai | 

ये भी पढे़ं – हॉलीवुड स्टार टॉम क्रूज की लाइफ स्टोरी के बारे में और ज्यादा व पूरी जानकारी यहां देखें

ये भी पढ़ें – 100 महिलाओं की लाशों से दुष्कर्म करने वाला हैवान!

ये भी पढ़ें –  100 महिलाओं की लाशों से दुष्कर्म करने वाले हैवान को 34 साल बाद मिलेगी जुर्म की सजा

ये भी पढे़ं –  मृत्यु के बाद भी: ये कम्यूनिस्ट नेता आज भी सजे हैं मकबरों में, 100 साल पुराने इस राजा का लिंग भी संरक्षित‚  जानिए कैसे सहेजे जाते हैं अंग और शव

ये भी पढ़ें –  Elon Musk ने फिर क्यों कहा ज्यादा बच्चे पैदा करो, भविष्यवाणी की – जापान दुनिया से गायब हो जाएगा

ये भी पढ़ें –   IAS की पत्नी रोते हुए बोलीं-विजिलेंस अधिकारियों ने मेरे बच्चे को मार डाला… देखें VIDEO 

Was This Article Helpful?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *